ब्रेकिंग
तखतपुर क्षेत्र की तीन नाबालिग छात्राओं को दो युवकों ने झांसे में लिया और अरब सागर ले गए, जानिए उसके ... CG: स्वामी आत्मानंद शासकीय इंग्लिश स्कूल की छात्रा रितिका ध्रुव का इसरो में चयन बिलासपुर: नगर निगम कमिश्नर अजय कुमार त्रिपाठी को मिली भिलाई-चरौदा की कमान, SDM तुलाराम भारद्वाज को भ... बिलासपुर: जिला पंचायत सभापति अंकित गौरहा को प्रदेश युवा संगठन चुनाव में मिली नई जिम्मेदारी बिलासपुर: मुख्यमंत्री जी! क्लेक्टर सौरभ कुमार को इस सड़क में हुआ भ्रष्टाचार नहीं आ रहा नजर. प्रियंका ... बिलासपुर: टिकरापारा मन्नू चौक निवासी रिशु घोरे को पुलिस ने चाकू के साथ किया गिरफ्तार बिलासपुर: पावर लिफ्टर निसार अहमद एवं अख्तर खान रविंद्र सिंह के हाथों हुए सम्मानित बिलासपुर: भाजपा पार्षद दल ने पुलिस ग्राउण्ड में जिला प्रशासन से रावण दहन की मांगी अनुमति बिलासपुर तहसीलदार अतुल वैष्णव का सक्ति और ऋचा सिंह का रायगढ़ हुआ ट्रांसफर बिलासपुर: आरोपी अमित भारते, जितेंद्र मिश्रा और संदीप मिश्रा को नहीं पकड़ पा रही है SSP पारूल माथुर की...

कोल माइंस ऑफिसर्स एसोसिएशन का 26 को महामुख्यालय घेराव

बिलासपुर। कोल माइंस ऑफिसर्स एसोसिएशन ने पुनरीक्षण पर नाराजगी जताते हुए अपनी विभिन्न मांगों को प्रबंधन के समक्ष रखा था। इस पर कोई कार्यवाही ना होने पर उन्होंने 9 सितंबर से काली पट्टी बांधकर काम करने का निर्णय लिया है, यह विरोध लगातार जारी है। विरोध के इसी क्रम में उन्होंने मुख्यालय के सामने 19 तारीख को धरना प्रदर्शन भी किया था इसके साथ ही प्रबंधक के समक्ष मांगे पूर्ण करने के संबंध में ज्ञापन भी दिया था। पर कोई परिणाम नहीं निकला।एसोसिएशन के अधिकारी-कर्मचारियों ने आज बिलासपुर प्रेस क्लब में प्रेसवार्ता आयोजित कर अपनी बात रखी। इसमें उन्होंने बताया कि 26 सितंबर तक प्रबंधन व सरकार द्वारा सकारात्मक प्रतिक्रिया ना आने पर वह 26 सितंबर को कोलकाता स्थित कोल इंडिया के महामुख्यालय में अपनी सभी मांगों के समर्थन में प्रदर्शन करेंगे।
कोल माइन्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष वीपी सिंह ने प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए बताया कि महारत्न कंपनी का मिनिमम बेसिक हमारी मिनिरत्न कंपनी के मिनिमम बेसिक से  कहीं ज्यादा है। इसके साथ ही उनके कर्मचारी अधिकारी हो व हमारे कर्मचारी अधिकारियों की सुविधाएं, वेतनमान में भी अंतर है। जबकि हमारा संगठन देश का सबसे बड़ा संगठन है। जनसंख्या के दृष्टिकोण से इसमें कोल इंडिया के 20,000 और 5000 अन्य संगठन के सदस्य हैं। सबसे ज्यादा ग्रोथ प्रॉफिट हमारा संगठन ही दिलाता है। क्योंकि सबसे ज्यादा उत्पादकता वाली इकाई भी हमारी इकाई है। हमारी मांगें हैं कि इस तथ्य को संतुलित कर हमें बराबर का हक़ मिले।
अध्यक्ष वीपी सिंह ने आगे बताया कि प्रबंधन द्वारा जो पुनरीक्षण कराया गया है। वह सही तरीके से नहीं किया गया है। इससे हमारे अधिकारी-कर्मचारी प्रभावित हुए हैं। हमारी मांग है कि पुनरीक्षण को उच्चाधिकारियों की देखरेख में कराया जाए ताकि वह सही तरीके से हो और उसका निर्णय भी तार्किक हो। उन्होंने बताया कि हमारा संगठन इस बात को लेकर नाराज हैं कि वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा पुनरीक्षण ना करवा कर हमसे निचले दर्जे के अधिकारियों से यह कार्य कराए जा रहा है। जिन्हें पूरी तरह से इसका ज्ञान नहीं है।
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772