ब्रेकिंग
बिलासपुर: पावर लिफ्टर निसार अहमद एवं अख्तर खान रविंद्र सिंह के हाथों हुए सम्मानित बिलासपुर: भाजपा पार्षद दल ने पुलिस ग्राउण्ड में जिला प्रशासन से रावण दहन की मांगी अनुमति बिलासपुर तहसीलदार अतुल वैष्णव का सक्ति और ऋचा सिंह का रायगढ़ हुआ ट्रांसफर बिलासपुर: आरोपी अमित भारते, जितेंद्र मिश्रा और संदीप मिश्रा को नहीं पकड़ पा रही है SSP पारूल माथुर की... बिलासपुर: कलेक्टर सौरभ कुमार ने सरकार हित में सरकारी जमीन बचाने वाले अधिवक्ता प्रकाश सिंह के साथ किय... बिलासपुर: उस्लापुर के रॉयल पार्क में नजर आएगी गरबा की धूम, थिरकने के लिए तैयार हैं शहरवासी बिलासपुर: कार्य की धीमी गति पर कंपनी के साथ जिम्मेदार अधिकारियों पर भी की जानी चाहिए थी कार्यवाही, स... बिलासपुर: महादेव और रेड्डी अन्ना बुक के सटोरियों पर पुलिस की बड़ी कार्यवाही बिलासपुर: जूनी लाइन स्थित सुरुचि रेस्टोरेंट के पास रहने वाले कृष्ण कुमार वर्मा के बड़े बेटे श्रीकांत ... बिलासपुर में UP65/ EC- 4488 नँबर की कार से जब्त हुए 5 लाख नकद

प्रतिबंधित कफ सिरप और टैबलेट खपाने में लगे दो तस्कर क्राइम ब्रांच ने पकड़े

बिलासपुर। क्राइम ब्रांच  ने आज   दो युवकों को प्रतिबंधित कफ सिरप और टैबलेट अवैध तरीके से ले जाते हुए पकड़ा है। 

पकड़े गए आरोपियों से   360 बॉटल कफ सिरप  एवं अल्प्राजोलम टैबलेट 3600 तथा स्पास्मो टैबलेट 72,000 नग एवं बिक्री रकम 30900      बरामद हुआ है। आरोपियों के खिलाफ पुलिस जुर्म दर्ज कर मामले की जांच कर रही है। जाँच अधिकारी  ने बताया कि आज  सरकंडा  के अशोकनगर के पास से स्कूटी ( CG 280 656)  में दो युवक जा रहे थे। संदेह लगने पर क्राइम टीम टीम ने उन्हें रोक कर तलाशी ली तो उनके पास से  कफ सिरप और टेबलेट  बरामद हुआ। इतनी मात्रा में कफ सिरप देख पुलिस भी हैरान हो गई। दरअसल, यह दवा प्रतिबंधित है, बिना डॉक्टरी पर्ची के मेडिकल स्टोर संचालक नहीं बेच सकते। ऐसे में पुलिस ने युवकों से डॉक्टरी पर्ची की मांग की तो वे उपलब्ध नहीं करा पाए। लिहाजा  अशोकनगर   निवासी   आरोपी  भृगुनंदन कश्यप पिता स्वर्गीय श्यामजी राम कश्यप 50 साल   और  रवि नंदन  पिता स्वर्गीय श्यामजी राम कश्यप  53   साल को हिरासत में ले लिया गया है। 

नियम है पर नहीं होता पालन- नशे के लिए इस्तेमाल होने वाली दवाओं पर सरकार ने सख्ती दिखाते हुए जरूरी दवाओं को पर्ची पर बेचने के सख्त निर्देश दिए थे लेकिन इसका पालन शुरुआत के कुछ दिनों तक हुआ। एंटीबायोटिक्स के बढ़ते दुरुपयोग के बाद ऐसी दवाओं को भी बगैर डाक्टरी पर्चे के नहीं बेचने के फरमान और इसकी खरीद बिक्री के रिकार्ड मेंटेंन करने की नसीहत का भी अमल नहीं हो सका है। 

कोडीन फॉस्फेट की रहती है मात्रा 

विशेषज्ञों की माने तो आरसी कफ नाम की इस सर्दी की दवा में नशा करने वाली कोडीन फॉस्फेट की अधिक मात्रा रहती है। जिसके कारण बिना डॉक्टर की पर्ची के इस दवा के विक्रय पर प्रतिबंध है इसके बावजूद पकड़े गए आरोपियों के पास से  कफ सिरप और टेबलेट     बरामद की गई है। 

बहरहाल क्राइम ब्रांच ने  इस मामले को सरकंडा थाने के सुपुर्द कर दिया है। 

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772