ब्रेकिंग
बिलासपुर: कार्य की धीमी गति पर कंपनी के साथ जिम्मेदार अधिकारियों पर भी की जानी चाहिए थी कार्यवाही, स... बिलासपुर: महादेव और रेड्डी अन्ना बुक के सटोरियों पर पुलिस की बड़ी कार्यवाही बिलासपुर: जूनी लाइन स्थित सुरुचि रेस्टोरेंट के पास रहने वाले कृष्ण कुमार वर्मा के बड़े बेटे श्रीकांत ... बिलासपुर में UP65/ EC- 4488 नँबर की कार से जब्त हुए 5 लाख नकद बिलासपुर: सदभाव पत्रकार संघ छत्तीसगढ़ की बैठक में संगठन की मजबूती पर चर्चा बिलासपुर: शैलेश, अर्जुन, रामशरण और विजय ने कहा- पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल के कार्यकाल में भाजपा के पू... बिलासपुर: मुफ्त वैक्सीन के लिए अब केवल 7 दिन शेष, कलेक्टर ने की अपील, सभी लगवा लें टीका बिलासपुर: मोपका और चिल्हाटी के 845/1/न, 845/1/झ, 1859/1, 224/380, 1053/1 खसरा नँबरों की शासकीय भूमि ... बिलासपुर: क्या अमर अग्रवाल की बातों को गंभीरता से लेंगे कलेक्टर सौरभ कुमार? नेहरू चौक में लगी थी राज... बिलासपुर: इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के द्वारा नर्सिंग और गैर नर्सिंग स्टाफ़ के व्यक्तित्व विकास एवं कम्...

लिविबिलिटी इंडेक्स में शहर का 13वां स्थान फर्जी पुरस्कारों की कड़ी में एक और नाम है : शैलेंद्र

बिलासपुर। कांग्रेस पार्षद दल प्रवक्ता शैलेंद्र जायसवाल ने स्थानीय विधायक व मंत्री पर तंज कसते हुए कहा है कि लिविबिलिटी इंडेक्स में बिलासपुर को 13 वां स्थान आने पर वे बधाई दे रहे हैं जबकि यह फर्जी पुरस्कारों की कड़ी में एक और नाम है। शैलेंद्र ने बताया कि बिलासपुर के लोग 10 सालों से सीवरेज के धूल और गड्ढों की वजह से ढेरों बीमारियों से ग्रसित हो गए हैं। यहां के बच्चो को ब्रोंकाइटिस, अस्थमा हो चुका है। ऐसे में कोई यहां रहना नहीं चाहता है। इसका सीधा प्रमाण है कि बिलासपुर में 38,000 मतदाता कम हो गए हैं जो शहर छोड़ कर जा चुके हैं यहां नहीं रहना चाहते।
शैलेंद्र ने आगे कहा कि बिलासपुर में जमीन और मकान नहीं बिक रहे हैं। यहां कोई रहना नहीं चाहता यह सब मंत्री अमर अग्रवाल के काम का नतीजा है। यहां डॉक्टरों और नर्सिंग होम की भीड़ बढ़ती जा रही है। सिम्स में मरीज बढ़ते जा रहे हैं। सीनियर सिटीजन को कौन सी सुविधा मिल रही है ना पार्क  हैं ना तो चलने लायक सड़क है। कंपनी गार्डन निगम का दशकों पुराना पार्क है। मंत्री यहां अपने कार्यक्रम आयोजित कराने और भोज करवाने में लग गए हैं। लोगों को सुबह घूमने की जगह भी नहीं बचेगी कंपनी गार्डन की जगह लेकर ही लखीराम आडिटोरियम बना जिसकी क्षमता इतनी भी नहीं है कि एक कार्यक्रम किया जा सके। 
शैलेंद्र ने कहा कि पिछले 2 वर्षों में बिलासपुर शहर का तापमान 50 डिग्री तक पहुंच गया है। पेय जल स्तर लगातार नीचे गिरता चला जा रहा है। गंदे पेयजल की सप्लाई के कारण हाईकोर्ट को यहां तक कहना पड़ गया कि बिलासपुर नगर निगम को भंग ही क्यों न कर दिया जाए। यह सब बातें बिलासपुर के लिविबिलिटी इंडेक्स में 13 वें स्थान पर आने पर गंभीर प्रश्न चिन्ह खड़े करती है।
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772