ब्रेकिंग
बिलासपुर: जिला पंचायत सभापति अंकित गौरहा को प्रदेश युवा संगठन चुनाव में मिली नई जिम्मेदारी बिलासपुर: मुख्यमंत्री जी! क्लेक्टर सौरभ कुमार को इस सड़क में हुआ भ्रष्टाचार नहीं आ रहा नजर. प्रियंका ... बिलासपुर: टिकरापारा मन्नू चौक निवासी रिशु घोरे को पुलिस ने चाकू के साथ किया गिरफ्तार बिलासपुर: पावर लिफ्टर निसार अहमद एवं अख्तर खान रविंद्र सिंह के हाथों हुए सम्मानित बिलासपुर: भाजपा पार्षद दल ने पुलिस ग्राउण्ड में जिला प्रशासन से रावण दहन की मांगी अनुमति बिलासपुर तहसीलदार अतुल वैष्णव का सक्ति और ऋचा सिंह का रायगढ़ हुआ ट्रांसफर बिलासपुर: आरोपी अमित भारते, जितेंद्र मिश्रा और संदीप मिश्रा को नहीं पकड़ पा रही है SSP पारूल माथुर की... बिलासपुर: कलेक्टर सौरभ कुमार ने सरकार हित में सरकारी जमीन बचाने वाले अधिवक्ता प्रकाश सिंह के साथ किय... बिलासपुर: उस्लापुर के रॉयल पार्क में नजर आएगी गरबा की धूम, थिरकने के लिए तैयार हैं शहरवासी बिलासपुर: कार्य की धीमी गति पर कंपनी के साथ जिम्मेदार अधिकारियों पर भी की जानी चाहिए थी कार्यवाही, स...

शैलेन्द्र के बयान पर मनीष का कटाक्ष, कहा-बड़े नेताओं का अपमान करना कांग्रेस की संस्कृति

बिलासपुर। निगम द्वारा पूर्व प्रधानमंत्री स्व.अटल बिहारी बाजपेयी की श्रद्धांजलि सभा मंगलवार को रखी गयी। इसके बाद सामान्य सभा की कार्रवाई शुरू की गई जिसमें शहर के विकास को लेकर 210 करोड़ का प्रस्ताव पारित किया गया। इसी श्रद्धांजलि सभा को लेकर, कांग्रेस दल प्रवक्ता शैलेंद्र जायसवाल के बयान पर पलटवार करते हुए निगम के एल्डरमैन मनीष जायसवाल ने नाराजगी जाहिर की है। उन्होंने कहा है कि कांग्रेसियों को सम्मान अच्छा नहीं लगता, वह देश के बड़े नेताओं का सम्मान नहीं करना चाहते, जो छोटी मानसिकता का परिचायक है। मनीष ने कहा कि कांग्रेसियों द्वारा इस तरह का कृत्य लगातार किया जाता है, जो उनके व्यक्तित्व और उनके स्वभाव को प्रदर्शित करता है।
उन्होंने आगे कहा की यदि कांग्रेसियों को सामान्य सभा श्रद्धांजलि के बाद करने पर आपत्ति थी तो इस बात का फैसला वह सभा से पहले भी ले सकते थे। सभा होने के बाद इसमें राजनीति की करने का कोई मतलब नहीं।कोई व्यक्ति या संस्था या जो पार्टी केवल छपने के लिए अवसर तलाश करती है और श्रद्धांजलि जैसे विषयों को भी अवसर के रूप में देखती है। कभी स्व.अटल बिहारी वाजपेयी जी की अस्थि कलश यात्रा के विषय में इन कांग्रेसियों के द्वारा राजनीतिक भाषा के तहत भाजपा पर धर्म विरोधी आरोप लगाना। इतना ही नहीं स्वर्गीय अटल जी के समतुल्य भारतीय जनता पार्टी के कद्दावर नेता का मजाकिया अपमानजनक फोटो व्हाट्सएप पर चलाना यह कांग्रेस की संस्कृति है।
उन्होंने कहा कि इन कांग्रेसी हर मुद्दे पर भाजपा का विरोध कैसे करें, इसी जुगत में लगे रहते हैं। कांग्रेस का इतिहास अपने नेताओं का अपमान करना रहा है, जिस तरह से वह अपने नेताओं का अपमान कर राजनीति की रोटी सेकते रहे। उसी तरह वह भारत रत्न का भी अपमान कर रहे हैं पूर्व प्रधानमंत्री पी वी नरसिंह राव के शव को कांग्रेस ने तो कांग्रेस मुख्यालय में ले जाना भी उचित नहीं समझा एवं स्व. इंदिरा जी एवं राजीव जी के समतुल्य कांग्रेस के नेता स्वर्गीय नरसिंह राव जी को सम्मान नहीं दिया। ऐसे ढोंगी कांग्रेस के लोग आज शोक संवेदना पर राजनीतिक तर्क-वितर्क कर राजनीति को गंदा कर रहे हैं।
एल्डरमैन मनीष ने कांग्रेस पर कड़ा प्रहार करते हुए कहा कि कांग्रेस का इतिहास ही अपने से बड़े नेताओं का सम्मान करना नहीं रहा, उन्होंने सदा से ही अपने नेताओं का अपमान किया है। कांग्रेस अपने व्यक्तित्व और अपनी संस्कृति से इसी तरह चलती है। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी अपने पितृ नेताओं का बड़ा सम्मान करती है। इसी क्रम में नगर निगम के टाउन हॉल श्रद्धांजलि सभा का कार्यक्रम रखा गया था। अगर कांग्रेस को इस बात से आपत्ति थी, की श्रद्धांजलि सभा के पश्चात सामान्य सभा की कार्यवाही नहीं की जानी चाहिए। तो उन्हें पहले ही बता देना चाहिए था। कार्यवाही होने के बाद ऐसा करना उनके बेकार सोच को जाहिर करता है।
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772