ब्रेकिंग
बिलासपुर: पावर लिफ्टर निसार अहमद एवं अख्तर खान रविंद्र सिंह के हाथों हुए सम्मानित बिलासपुर: भाजपा पार्षद दल ने पुलिस ग्राउण्ड में जिला प्रशासन से रावण दहन की मांगी अनुमति बिलासपुर तहसीलदार अतुल वैष्णव का सक्ति और ऋचा सिंह का रायगढ़ हुआ ट्रांसफर बिलासपुर: आरोपी अमित भारते, जितेंद्र मिश्रा और संदीप मिश्रा को नहीं पकड़ पा रही है SSP पारूल माथुर की... बिलासपुर: कलेक्टर सौरभ कुमार ने सरकार हित में सरकारी जमीन बचाने वाले अधिवक्ता प्रकाश सिंह के साथ किय... बिलासपुर: उस्लापुर के रॉयल पार्क में नजर आएगी गरबा की धूम, थिरकने के लिए तैयार हैं शहरवासी बिलासपुर: कार्य की धीमी गति पर कंपनी के साथ जिम्मेदार अधिकारियों पर भी की जानी चाहिए थी कार्यवाही, स... बिलासपुर: महादेव और रेड्डी अन्ना बुक के सटोरियों पर पुलिस की बड़ी कार्यवाही बिलासपुर: जूनी लाइन स्थित सुरुचि रेस्टोरेंट के पास रहने वाले कृष्ण कुमार वर्मा के बड़े बेटे श्रीकांत ... बिलासपुर में UP65/ EC- 4488 नँबर की कार से जब्त हुए 5 लाख नकद

केजरीवाल तुगलकी तानाशाह, जल्दी ही इतिहास बन जाएगी आप:मनोज

भारतीय जनता पार्टी के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा है कि अरविंद केजरीवाल एक तुगलकी तानाशाह हैं जो किसी भी भिन्न विचार को सहन नहीं कर पाते। उनके इसी स्वभाव का यह परिणाम हुआ है कि उनकी पार्टी से एक-एक कर लोगों ने किनारा कर लिया। कुछ ही दिन पहले आशुतोष ने पार्टी छोड़ी है और आज आशीष खेतान ने पार्टी को अलविदा कह दिया। तिवारी ने कहा कि अगले चुनाव तक केजरीवाल के रहे-सहे साथी भी उनका साथ छोड़ जाएंगे और आम आदमी पार्टी एक इतिहास बनकर रह जाएगी। 

उत्तर-पूर्वी दिल्ली सीट से सांसद मनोज तिवारी ने आम आदमी पार्टी को एक राजनीतिक दल की बजाय एक ‘अखाड़ा’ बताते हुए कहा कि आप एक ‘वन टाइम वंडर’ है। इसके मुखिया अरविंद केजरीवाल की असलियत उसके साथी पहचानते जा रहे हैं और उनका साथ छोड़ते जा रहे हैं। यही कारण है कि अब इस अखाड़े का तंबू उखड़ता दिख रहा है।

तिवारी ने कहा कि केजरीवाल की इस नीयत के बारे में उनकी पार्टी के नेताओं को ही नहीं, जनता को भी सच्चाई दिखने लगी है। इसको देखकर तो यही लगता है कि 2020 में दिल्ली का विधानसभा चुनाव आते-आते केजरीवाल की पार्टी पूरी तरह राजनीतिक क्षितिज से विलुप्त हो जाएगी। 

भाजपा नेता मनोज तिवारी की यह प्रतिक्रिया आम आदमी पार्टी के नेता आशीष खेतान के पार्टी छोड़ने संबंधी खबरें मीडिया में सामने आने के बाद आई हैं। हालांकि, खुद खेतान ने इस पर कोई सीधी टिप्पणी नहीं की है। उन्होंने बुधवार सुबह एक ट्वीट के माध्यम से कहा है कि वे अब अपने वकालत के पेशे और अपने परिवार की ओर ध्यान देना चाहते हैं।

उन्होंने कहा कि इस समय वे राजनीति में सक्रिय नहीं हैं। खेतान से पहले पत्रकारिता का पेशा छोड़ राजनीति में आए आशुतोष ने केजरीवाल का साथ छोड़ दिया था। हालांकि आशुतोष ने जब पीएसी से अपने इस्तीफे को स्वीकार करने की बात कही थी तो केजरीवाल ने इसे अस्वीकार कर दिया था। लेकिन खेतान के पार्टी छोड़ने की खबरों पर अभी आप ने अभी तक कोई आधिकारिक टिप्पणी नहीं की है। 

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772