ब्रेकिंग
बिलासपुर: महादेव और रेड्डी अन्ना बुक के सटोरियों पर पुलिस की बड़ी कार्यवाही बिलासपुर: जूनी लाइन स्थित सुरुचि रेस्टोरेंट के पास रहने वाले कृष्ण कुमार वर्मा के बड़े बेटे श्रीकांत ... बिलासपुर में UP65/ EC- 4488 नँबर की कार से जब्त हुए 5 लाख नकद बिलासपुर: सदभाव पत्रकार संघ छत्तीसगढ़ की बैठक में संगठन की मजबूती पर चर्चा बिलासपुर: शैलेश, अर्जुन, रामशरण और विजय ने कहा- पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल के कार्यकाल में भाजपा के पू... बिलासपुर: मुफ्त वैक्सीन के लिए अब केवल 7 दिन शेष, कलेक्टर ने की अपील, सभी लगवा लें टीका बिलासपुर: मोपका और चिल्हाटी के 845/1/न, 845/1/झ, 1859/1, 224/380, 1053/1 खसरा नँबरों की शासकीय भूमि ... बिलासपुर: क्या अमर अग्रवाल की बातों को गंभीरता से लेंगे कलेक्टर सौरभ कुमार? नेहरू चौक में लगी थी राज... बिलासपुर: इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के द्वारा नर्सिंग और गैर नर्सिंग स्टाफ़ के व्यक्तित्व विकास एवं कम्... बिलासपुर: गौरांग बोबड़े हत्याकांड के आरोपी रहे किशुंक अग्रवाल के पास से जब्त हुए 20 लाख

अपने ही दोस्त का ख़ून करने वाले क़ातिल पकड़े गये, सिंधी कॉलोनी हत्याकांड मामला सुलझा

 “कहते हैं दोस्ती दुनिया का सबसे पाक रिश्ता होता है, पर इसमें अगर मतभेद या द्वेषभाव को स्थान मिल जाए तो हालात कैसे होंगे इसका उदाहरण हम आपको बताने जा रहा हैं”
बिलासपुर। घटना सिविल लाइन थाना अंतर्गत की है। विगत दिनों सिंधी कॉलोनी में अमित नंदवानी नामक युवक की हत्या हुई थी। घटना के बाद से ही छह नामजद आरोपी वहां से फरार थे। पुलिस लगातार इसकी पतासाजी में जुटी हुई थी। तफ्तीश को और आगे बढ़ाने के लिए बिलासपुर पुलिस द्वारा साइबर सेल की भी मदद ली जा रही थी। इसी बीच सूचना मिली कि आरोपी नागपुर से राजनांदगांव की ओर आ रहे हैं। इसके बाद सिविल लाइन बिलासपुर की टीम ने वहां पहुंचकर चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।
अमित नंदवानी की हत्या में पकड़े गए चार आरोपियों में सुनील तलवेजा, सूरज करतारी, सन्नी ठारवानी, लखन ढिल्ला को राजनांदगांव से बिलासपुर पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पूछताछ के दौरान आरोपियों ने बताया कि अमित नंदवानी उनका पुराना दोस्त था। इसी बीच उनकी दोस्ती में निजी मसले की वजह से मतभेद व विवाद होने लगा। स्थिति लगातार बिगड़ने लगी। इस बीच जब अमित नंदवानी धारा 306 की सजा काट कर जेल से वापस रिहा हुआ, तब उसने जेल से बाहर आने के पश्चात सुनील तलवेजा को फोन किया और कहा कि मैं सभी से मिलना चाहता हूं।
इसके पश्चात सभी दोस्तों ने मिलने का स्थान सिंधी कॉलोनी को तय किया, यहां अमित नंदवानी अपनी कार से पहुंचा जबकि उसके चारों दोस्त यहां पहले से मौजूद थे। यहां अमित की बहस दोस्तों से हुई। बात बढ़ने पर चारों आग बबूला हो आये विवाद बढ़ने लगा इसी दौरान सन्नी ठारवानी ने धारदार तलवार से अमित नंदवानी पर वार कर दिया। इसके बाद सुनील ने अपने एयर पिस्टल से अमित पर गोली चला दी। सूरज ने तलवार से व उसके एक और दोस्त लखन ने धारदार हथियार से अमित नंदवानी पर हमला किया, जिससे मौके पर ही उसकी मौत हो गई।
इस मामले की विस्तृत जानकारी देते हुए एडिशनल एसपी शहर नीरज चंद्राकर ने बताया कि घटना में प्रयुक्त सभी हथियार आरोपियों की निशानदेही पर बरामद किए जा चुके हैं। उन्होंने आगे कहा कि वारदात को अंजाम देने के बाद सभी आरोपी शहर से रतनपुर की ओर गए, इस दौरान अपराध में प्रयुक्त एयर पिस्टल को उन्होंने रतनपुर के पास कुएं में पर फेंक दिया था। जिसे पुलिस ने कुएं से जप्त किया है। उन्होंने आगे बताया कि घटना होने के पश्चात आरोपियों की तलाश में पुलिस लगातार बनी हुई थी। उनके पास के एक नंबर से भी उन्हें ट्रेस किया जा किया जा रहा था। वहीं घटना का कारण पूछने पर उन्होंने बताया कि लंबी दोस्ती में मतभेद व किसी अन्य कारण से लगातार संवादहीनता की स्थिति आ रही थी, एक दूसरे पर अपशब्दों का प्रयोग दोस्तों में होने लगा था। इस तरह स्थिति लगातार बिगड़ने लगी और आखिर में उसका अंजाम यह हुआ।
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772