ब्रेकिंग
बिलासपुर: मुख्यमंत्री जी! क्लेक्टर सौरभ कुमार को इस सड़क में हुआ भ्रष्टाचार नहीं आ रहा नजर. प्रियंका ... बिलासपुर: टिकरापारा मन्नू चौक निवासी रिशु घोरे को पुलिस ने चाकू के साथ किया गिरफ्तार बिलासपुर: पावर लिफ्टर निसार अहमद एवं अख्तर खान रविंद्र सिंह के हाथों हुए सम्मानित बिलासपुर: भाजपा पार्षद दल ने पुलिस ग्राउण्ड में जिला प्रशासन से रावण दहन की मांगी अनुमति बिलासपुर तहसीलदार अतुल वैष्णव का सक्ति और ऋचा सिंह का रायगढ़ हुआ ट्रांसफर बिलासपुर: आरोपी अमित भारते, जितेंद्र मिश्रा और संदीप मिश्रा को नहीं पकड़ पा रही है SSP पारूल माथुर की... बिलासपुर: कलेक्टर सौरभ कुमार ने सरकार हित में सरकारी जमीन बचाने वाले अधिवक्ता प्रकाश सिंह के साथ किय... बिलासपुर: उस्लापुर के रॉयल पार्क में नजर आएगी गरबा की धूम, थिरकने के लिए तैयार हैं शहरवासी बिलासपुर: कार्य की धीमी गति पर कंपनी के साथ जिम्मेदार अधिकारियों पर भी की जानी चाहिए थी कार्यवाही, स... बिलासपुर: महादेव और रेड्डी अन्ना बुक के सटोरियों पर पुलिस की बड़ी कार्यवाही

जोगी बोले- अपनी फोटो लगाकर मोबाइल क्यों बंटवा रहे हैं मुख्यमंत्री

रायपुर। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ सुप्रीमो अजीत जोगी ने मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और उनकी सरकार के द्वारा चुनावी वर्ष में बोनस, तेंदू पत्ता के नाम पर मनाये जा रहे तिहार तथा स्काई योजना के तहत पचास लाख लोगों को 22 अरब रूपये के मोबाइल बाँटने के नाम पर त्योहार मनाने पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए यह कहा है कि मोबाइल और बोनस बाँटने पर उन्हें कोई एतराज नहीं है, यदि धान का बोनस वायदे के अनुसार प्रति वर्ष दिया जाता और मोबाइल भी विगत पांच वर्षो में एक करोड़ लोगों को दिया जाता।

                                    आगे जोगी ने कहा है कि मैंने वर्ष 2003 में सम्पूर्ण प्रदेश की प्रायमरी स्कूल से लेकर हाईस्कूल तक के बच्चो को जो कि वोट दे की पात्रता भी नहीं रखते थे, को स्कूली बस्ते बंटवाए थे जिस पर भाजपा नेताओं ने बस्ते बाँटने पर और बस्ते में छपी मेरी फोटो पर निर्वाचन आयोग में आपत्ति दर्ज करायी थी और बस्तों को जब्त भी करवाया था फिर पब्लिक को बेवकूफ बनाने के लिए उन्हें जो सिर्फ वोटर है रमन सिंह अपनी फोटो लगाकर मोबाइल क्यों बंटवा रहे हैं। उनके इस कथनी और करनी के अंतर को पब्लिक अच्छी तरह समझ रही है।

                                                  जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के सुप्रीमो अजीत जोगी ने आगे बताया है कि प्रदेश में बेरोजगारी चरम सीमा पर है, युवाओं के पास रोजगार नहीं है। शिक्षा संस्थानों और शिक्षकों, स्वास्थ्य केंद्र और डॉक्टरों के साथ-साथ दवाइयों और उपकरणों का भी अभाव है। गरीब मेरे समय में 12 लाख 50 हज़ार थे जो अब बढ़कर 50 लाख हो चुके हैं। सिंचाई छमता में इन 15 वर्षो में मात्र 15 प्रतिशत की बढ़ोतरी हो पायी है जिसके चलते सूखे की चपेट में आकर किसान आत्महत्या करने को मजबूर हैं। शराब विक्रय और टेक्स से आमजन और व्यापारी त्रस्त हैं।

                               उन्होंने आगे कहा कि सही मायने में विकास का अर्थ सार्थक तभी होता जब रमन सरकार इन सभी समस्याओं का निराकरण करने में सफल होती लेकिन सरकार पूर्णतः असफल हो चुकी है। अपनी नाकामी को छिपाने के लिए जनता के पैसो का अपनी विज्ञापन के नाम पर, तिहार मनाकर आम जनता को कर्ज में डालकर प्रदेश को विकास से कोसो दूर ले जा रही है और ऊपर से उपहार नाम दे कर झूठा ऐहसान जता रही है। जिसे प्रदेश की ढाई करोड़ जनता भलीभांति समझ रही है और भाजपा को हराने की मानसिकता आने वाले चुनाव के लिए बना चुकी है।

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772