नई दिल्ली/अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए राजनीतिक दलों के साथ-साथ चुनाव आयोग भी पूरी तरह से तैयार है। विपक्षी दलों ने चुनाव आयोग की कार्यप्रणाली पर कई बार सवाल उठाए हैंं। विपक्ष ईवीएम के साथ छेड़छाड़ की कई बार चुनाव आयोग से शिकायत कर चुका है। लेकिन इस बार चुनाव आयोग ने दावा किया है कि अब ईवीएम से छेड़छाड़ करना संभव नहीं होगा। अगर ईवीएम से छेड़छाड़ करने की कोशिश की गई तो वह बंद हो जाएगी। इसके बाद दोबारा चलाने पर टेंपर डिटेक्ट का मैसेज दिखेगा।

बता दें कि 2019 लोकसभा चुनाव के लिए चुनाव आयोग ने एम3 कैटेगरी की नई ईवीएम तैयार की है। इन मशीनों में एक नया फीचर डाला गया है। इसे टेंपरिंग डिटेक्शन का फीचर कहते हैं। अगर मशीनों से जरा सी भी छेड़छाड़ की गई तो वह बंद हो जाएगी। चुनाव आयोग ने 2400 नई ईवीएम मशीनें टेस्टिंग के लिए जालंधर भेजा गया है। जहां स्टेट पटवार स्कूल में इनकी फर्स्ट लेवल चेकिंग चल रही है।

नई ईवीएम में गड़बड़ी की सूचना तुरंत स्क्रीन पर आएगी। और गड़बड़ी पर कंट्रोल यूनिट पर मैसेज आएगा। इनमें रियाल टाइम क्लॉक की सुविधा भी है। इन मशीनों में टाइमर मैनुअली सेट नहीं होगा।

एक बार ईवीएम में पोलिंग क्लोज कर दी गई तो दोबारा मतदान नहीं हो सकता। बैटरी परसेंटेज और इसे बदलने की जरूरत का मैसेज भी दिखेगा। बैटरी बचाने के लिए पावर सेविंग मोड भी है।