ब्रेकिंग
तखतपुर क्षेत्र की तीन नाबालिग छात्राओं को दो युवकों ने झांसे में लिया और अरब सागर ले गए, जानिए उसके ... CG: स्वामी आत्मानंद शासकीय इंग्लिश स्कूल की छात्रा रितिका ध्रुव का इसरो में चयन बिलासपुर: नगर निगम कमिश्नर अजय कुमार त्रिपाठी को मिली भिलाई-चरौदा की कमान, SDM तुलाराम भारद्वाज को भ... बिलासपुर: जिला पंचायत सभापति अंकित गौरहा को प्रदेश युवा संगठन चुनाव में मिली नई जिम्मेदारी बिलासपुर: मुख्यमंत्री जी! क्लेक्टर सौरभ कुमार को इस सड़क में हुआ भ्रष्टाचार नहीं आ रहा नजर. प्रियंका ... बिलासपुर: टिकरापारा मन्नू चौक निवासी रिशु घोरे को पुलिस ने चाकू के साथ किया गिरफ्तार बिलासपुर: पावर लिफ्टर निसार अहमद एवं अख्तर खान रविंद्र सिंह के हाथों हुए सम्मानित बिलासपुर: भाजपा पार्षद दल ने पुलिस ग्राउण्ड में जिला प्रशासन से रावण दहन की मांगी अनुमति बिलासपुर तहसीलदार अतुल वैष्णव का सक्ति और ऋचा सिंह का रायगढ़ हुआ ट्रांसफर बिलासपुर: आरोपी अमित भारते, जितेंद्र मिश्रा और संदीप मिश्रा को नहीं पकड़ पा रही है SSP पारूल माथुर की...

डिजिटल टीचिंग डिवाइस की निविदा निरस्त, नितिन ने कहा-पांच साल की खरीदी का भी भौतिक सत्यापन हो…..

http://nitinbhansali.in/wp-content/uploads/2017/01/nitin-bhansali.jpg
 रायपुर। कुछ दिन पूर्व जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के प्रदेश प्रवक्ता नितिन भंसाली द्वारा निविदा में गड़बड़ी किए जाने की शिकायत की गई थी। इस शिकायत पर जिम्मेदार अधिकारियों ने कार्यवाही करते हुए बिलासपुर शिक्षा विभाग द्वारा डिजिटल टीचिंग डिवाइस की निविदा निरस्त कर दी है। नितिन ने जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय बिलासपुर द्वारा 5 वर्षों में खरीदी की गई, समस्त सामग्रियों की खरीदी प्रक्रिया और भौतिक सत्यापन की मांग भी की है।
उल्लेखनीय है कि प्रवक्ता नितिन भंसाली ने डिजिटल टीचिंग डिवाइस खरीदी के फर्जीवाड़े की शिकायत प्रधानमंत्री, उच्च शिक्षा मंत्री, मुख्यमंत्री और केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री समेत प्रदेश के आला अधिकारियों से की थी। जिसमें कहा गया था कि जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय बिलासपुर द्वारा जिले में 50 स्मार्ट क्लास बनाने आवश्यक उपकरण ‘डिजिटल टीचिंग डिवाइस’ की लगभग 2 करोड़ रूपये की राशि निविदा में विभाग द्वारा व्यक्ति विशेष कम्पनी को लाभ पहुंचाने की नियत से की गई है। 
जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़-जे के प्रवक्ता नितिन भंसाली ने दस्तावेजो सहित 13 जुलाई इसकी शिकायत की थी। इसके बाद शासन ने घोटाले की शिकायत को वैध मानते हुए निविदा तत्काल निरस्त कर दी। नितिन भंसाली ने निविदा निरस्त करने पर शासन को धन्यवाद ज्ञापित किया है। उन्होंने कहा कि इस घोटाले को अंजाम देने वाले अधिकारियों के खिलाफ सख्त रवैया अपनाते हुए उन पर कड़ी कार्रवाई करने व विगत पांच साल की सामग्री जो स्कूलों के लिए खरीदी गई, के भौतिक सत्यापन की मांग भी की है। 
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772