ब्रेकिंग
बिलासपुर: पावर लिफ्टर निसार अहमद एवं अख्तर खान रविंद्र सिंह के हाथों हुए सम्मानित बिलासपुर: भाजपा पार्षद दल ने पुलिस ग्राउण्ड में जिला प्रशासन से रावण दहन की मांगी अनुमति बिलासपुर तहसीलदार अतुल वैष्णव का सक्ति और ऋचा सिंह का रायगढ़ हुआ ट्रांसफर बिलासपुर: आरोपी अमित भारते, जितेंद्र मिश्रा और संदीप मिश्रा को नहीं पकड़ पा रही है SSP पारूल माथुर की... बिलासपुर: कलेक्टर सौरभ कुमार ने सरकार हित में सरकारी जमीन बचाने वाले अधिवक्ता प्रकाश सिंह के साथ किय... बिलासपुर: उस्लापुर के रॉयल पार्क में नजर आएगी गरबा की धूम, थिरकने के लिए तैयार हैं शहरवासी बिलासपुर: कार्य की धीमी गति पर कंपनी के साथ जिम्मेदार अधिकारियों पर भी की जानी चाहिए थी कार्यवाही, स... बिलासपुर: महादेव और रेड्डी अन्ना बुक के सटोरियों पर पुलिस की बड़ी कार्यवाही बिलासपुर: जूनी लाइन स्थित सुरुचि रेस्टोरेंट के पास रहने वाले कृष्ण कुमार वर्मा के बड़े बेटे श्रीकांत ... बिलासपुर में UP65/ EC- 4488 नँबर की कार से जब्त हुए 5 लाख नकद

29 से आमरण अनशन पर बैठेंगे संविदा कर्मचारी

बिलासपुर। प्रगतिशील कर्मचारी-अधिकारी महासंघ के बैनर तले संविदाकर्मियों की हड़ताल 16 जुलाई से शुरू हुई आज इस हड़ताल को 12 दिन हो गए हैं, इसके बावजूद अभी तक सरकार के द्वारा मांगों के संबंध में किसी भी प्रकार की प्रतिक्रिया नहीं आई है। इससे संविदाकर्मियों में  नाराजगी है। राजधानी रायपुर के ईदगाहभाटा मैदान में 54 विभागों के संविदाकर्मी विगत बारह दिनों से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर हैं, 26 जुलाई से संविदाकर्मी क्रमिक भूख हड़ताल पर हैं तथा 29 जुलाई से आमरण अनशन करने की तैयारी में हैं। 
                   उल्लेखनीय है कि इससे पूर्व में संविदाकर्मियों के प्रति सरकार ने सख्त रवैया अपनाते हुए मांग पूरा किए बिना ही काम पर लौटने की बात कही थी। हड़ताल तोड़ने के लिए कुछ विभागों के संविदाकर्मियों को बर्खास्तगी के नोटिस भी जारी किए जा चुके हैं। छत्तीसगढ़ संयुक्त प्रगतिशील कर्मचारी महासंघ के बिलासपुर जिलाध्यक्ष सौरभ शर्मा ने बताया कि शासन के समस्त विभागों में योजनाएं, हितग्राही मूलक कार्य, कार्यालयीन कार्य पूरी तरह ठप्प हो चुके हैं। लेकिन सरकार के द्वारा अभी तक हमारी मांगों पर विचार नहीं किया जा रहा है। 
                   उन्होंने आगे बताया कि जिला पंचायत, मनरेगा प्रधानमंत्री आवास योजना, स्वच्छ भारत मिशन, शिक्षा विभाग, स्वास्थ्य विभाग, ITI, महिला एवं बाल विकास आदि सभी विभागों के कार्य संभाग में पूर्ण रूप से बंद हो चुके हैं। संभाग में प्रतिदिन एक हजार प्रधानमंत्री आवास पूर्ण होता है। मनरेगा एवं प्रधानमंत्री आवास के सभी कर्मचारी अनियमित है और हड़ताल पर है ऐसे में हितग्राहियों को ना आवास मिल पा रहा है ना ही मनरेगा मजदूरी का भुगतान। 
                      जिलाध्यक्ष सौरभ शर्मा ने आगे कहा है कि जिला, जनपद पंचायतों में भारी अव्यवस्था है। स्वास्थ्य विभाग के कई स्वास्थ्य केंद्रों में मरीजों को इलाज के लिए भटकना पड़ रहा है। जननी सुरक्षा कार्यक्रम के हितग्राहियों को राशि का भुगतान नहीं हो रहा है। महामारी की रोकथाम के लिए रिपोर्टिंग बंद है, जिससे महामारी फैलने के पूर्व उसकी रोकथाम करने में कठिनाई हो सकती है। मस्तूरी में डायरिया फैल चुका है,अन्य सभी प्रकार की ऑनलाइन रिपोर्टिंग एवं एंट्री बंद है। जो प्रतिदिन की आवश्यक होती थी, इस से राज्य में स्वास्थ्य सुविधा की जानकारी मिलती थी वह भी पूरी तरह से नष्ट होती जा रही है।
                          उन्होंने आगे बताते हुए कहा कि कृषि विभाग में खाद्य बीज का वितरण नहीं हो रहा है, मंडी में धान खरीदी प्रभावित हो रही है सभी कार्य एवं योजना ठप्प पड़े हुए हैं राजीव गांधी शिक्षा मिशन का कार्य पूरी तरह ठप्प है। सौरभ शर्मा ने कहा कि छत्तीसगढ़ संयुक्त प्रगतिशील कर्मचारी महासंघ का यह अनिश्चितकालीन हड़ताल तब तक जारी रहेगा, जब तक सरकार हमारी मांगों को पूरा नहीं करती। उन्होंने बताया कि उनकी सभी मांगे जायज है जिन्हें पूरा करना जरूरी भी है। सरकार को इस मामले में सही फैसला करना चाहिए यह सौरभ शर्मा ने कहते हुए आगे कहा कि संविदाकर्मियों की हड़ताल से लगातार अवस्थाएं बढ़ती जा रही है।
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772