ब्रेकिंग
तखतपुर क्षेत्र की तीन नाबालिग छात्राओं को दो युवकों ने झांसे में लिया और अरब सागर ले गए, जानिए उसके ... CG: स्वामी आत्मानंद शासकीय इंग्लिश स्कूल की छात्रा रितिका ध्रुव का इसरो में चयन बिलासपुर: नगर निगम कमिश्नर अजय कुमार त्रिपाठी को मिली भिलाई-चरौदा की कमान, SDM तुलाराम भारद्वाज को भ... बिलासपुर: जिला पंचायत सभापति अंकित गौरहा को प्रदेश युवा संगठन चुनाव में मिली नई जिम्मेदारी बिलासपुर: मुख्यमंत्री जी! क्लेक्टर सौरभ कुमार को इस सड़क में हुआ भ्रष्टाचार नहीं आ रहा नजर. प्रियंका ... बिलासपुर: टिकरापारा मन्नू चौक निवासी रिशु घोरे को पुलिस ने चाकू के साथ किया गिरफ्तार बिलासपुर: पावर लिफ्टर निसार अहमद एवं अख्तर खान रविंद्र सिंह के हाथों हुए सम्मानित बिलासपुर: भाजपा पार्षद दल ने पुलिस ग्राउण्ड में जिला प्रशासन से रावण दहन की मांगी अनुमति बिलासपुर तहसीलदार अतुल वैष्णव का सक्ति और ऋचा सिंह का रायगढ़ हुआ ट्रांसफर बिलासपुर: आरोपी अमित भारते, जितेंद्र मिश्रा और संदीप मिश्रा को नहीं पकड़ पा रही है SSP पारूल माथुर की...

तहसील घेराव कार्यक्रम में विलंब से पहुंचे सिंहदेव, देरी के लिए भाजपा सरकार को ठहराया जिम्मेदार……

 

बिलासपुर। आज प्रदेश में किसानों की जो दुर्दशा है उसका एकमात्र जिम्मेदार भारतीय जनता पार्टी की सरकार है, 15 साल सत्तासीन रहने के बावजूद भी भाजपा सरकार के प्रदेश नेतृत्व कर्ता मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने केवल किसानों की दुर्दशा को और दयनीय बनाया है। यह सरकार पूंजीपतियों की सरकार है जो किसानों की जमीन छीन कर बड़े-बड़े पूंजीपतियों को देना चाहती है। भाजपा की रमन सरकार ने कोटा के किसान ही नहीं बिलासपुर जिले के किसान ही नहीं अपितु पूरे प्रदेश के किसानों के साथ खुला छल व धोखा किया गया है। राज्य निर्माण के बाद किसानों की दशा सुधारने प्रदेश में बहुत सी संभावनाएं थी। किंतु 15 वर्षों से शासन कर रही भाजपा सरकार की किसानों के प्रति संवेदना नहीं थी।

आज कोटा तहसील घेराव के पूर्व किसान सभा कार्यक्रम में कांग्रेस ने वरिष्ठ नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव ने अपने उद्बोधन में भाजपा सरकार पर जमकर निशाना साधा, सिंहदेव ने कहा कि जल, जंगल, जमीन की सौदेबाजी व कमीशन का खेल चल रहा है, सेवा भावना की प्रतीक नर्सों को अमानवीय ढंग से जेलों में ठूसा जाता है, मितानिनों पर लाठियां बरसायी जा रही है, शिक्षक विद्यालय छोड़कर आंदोलनरत हैं कोई सुनने वाला नहीं संविदा- कर्मियों के साथ खुली धोखाधड़ी की जा रही है। किसान अपनी स्थिति को रो रहे हैं, जबकि सरकार उनका लाभ ले रही है किसान कर्ज लेकर मरने को मजबूर हो रहे हैं। यह हाल भाजपा के राज में है, कोई भी नीति या योजना किसानों के हित में नहीं बनी केवल और केवल पूंजीपतियों को लाभ पहुंचाने के लिए भाजपा की सरकार हर कार्य कर रही है।

सिंहदेव ने जिला कांग्रेस कमेटी के कोटा तहसील कार्यक्रम के लिए आयोजित किसान सभा के दौरान भाजपा सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि देर से आया हूं, रायपुर से बिलासपुर आने में 4-5 घंटे लग गए, यह रमन सिंह का विकास है। सिंहदेव ने कहा कि युवावस्था में पढ़ाई के बाद कृषि कार्यों में मैंने रूचि ली और पूरी तन्मयता से जूझ कर देखा किंतु 4-5 वर्षों में हतोत्साहित हो गया। मुझे किसानों की हताशा और परेशानियां अच्छी तरह से विदित है। किसानों के उत्साह को जगाना होगा उसका सबसे अच्छा तरीका है कि उन्हें उनकी उपज की पूरी कीमत मिल सके किंतु भाजपा की केंद्र, राज्य सरकार ने इस दिशा में सार्थक कार्य नहीं किया, अपने वादों से ही भाजपा शासन मुकर जाती है।

त्योहार मनाकर किसानों की दुर्दशा का मजाक उड़ा है भाजपा : विजय

भाजपा सरकार व बीमा कंपनियों पर आरोप लगाते हुए जिलाध्यक्ष विजय केशरवानी ने कहा कि किसान भाजपा के कुशासन में आत्महत्या जैसा जघन्य कदम उठा रहा है और सरकार त्योहार मनाकर किसानों की र्दुदशा का मजाक उड़ा रही है। किसानों को आसानी से खाद, बीज, कीटनाशक, पर्याप्त व सस्ती बिजली, सस्ता ईंधन, सिंचाई के संसाधन, धान का एक एक दाना 2400 रुपये, प्रति क्विंटल में खरीदने के भाजपा सरकार के संकल्प पत्र के वादे का कोई जबाब देने वाला नहीं है। प्रदेश में सरकार जैसी कोई चीज दिखाई ही नहीं देती, बस्तर का आदिवासी सरकार के तानाशाही रवैये के कारण भटक कर नक्सलवाद की राह चुन रहा है तो बिलासपुर और कोटा का नौजवान भाजपा के हर हाथ को रोजगार के वायदे को जुमला कहे जाने से ठगा महसूस कर रहा है।

भाजपा शोषण की राजनीति कर रही है : शैलेश

पीसीसी प्रवक्ता शैलेष पांडेय ने कहा कि भाजपा राज्य सरकार भय व शोषण की राजनीति कर रही है। सरकार के खिलाफ आवाज उठाने वाले राजनीतिक दलों, किसान संगठनों, युवा संगठनों और अन्य सामाजिक संस्थानों को कानून का भय दिखाकर डराने का प्रयास किया जा रहा है। किसान विरोधी भाजपा सरकार ने कोटा क्षेत्र को अकालग्रस्त घोषित करने में भी दोहरी नीति अपनाई थी। बाद में विरोध के कारण सूखा क्षेत्र घोषित करना पड़ा, मुआवजे और राहत के नाम पर भी रमन सरकार ने कोटा ही नहीं जिले के किसानों के साथ अत्यंत सौतेला व्यवहार किया है। वहीं प्रदेश प्रतिनिधि अरूण सिंह चौहान, नीरज जायसवाल, वादिर खान ने कहा कि कोटा में कांग्रेस की परंपरा है, इसे बरकरार रखना है।

रैली निकालकर तहसीलदार को सौंपा ज्ञापन

इस दौरान कांग्रेस ने भाजपा सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी, प्रदर्शन करते हुए रैली निकालकर कोटा तहसील कार्यालय तक गांधी भवन से, बैलगाड़ी में नेता प्रतिपक्ष के नेतृत्व में तहसील कार्यालय का घेराव कर तहसीलदार को राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपकर किसानों की समस्या को जल्द से जल्द निराकृत करने की मांग की गई। इस दौरान जिलाध्यक्ष विजय केशरवानी सहित कांग्रेस के प्रतिनिधि मंडल ने किसानों द्वारा भरा गया क्लेम फॉर्म को सौंपते हुए भी यथाशीघ्र समुचित पहल करने की मांग की।

जल्द किया जाएगा मस्तूरी तहसील घेराव : अनिल

जिला कांग्रेस कमेटी के महामंत्री व प्रवक्ता अनिल सिंह चौहान ने जानकारी दी है कि जिले के मस्तूरी तहसील को छोड़कर सभी तहसील कार्यालयों का घेराव कार्यक्रम आयोजित किया जा चुका है, जिसमें किसानों के लिए सूखा राहत व फसल बीमा की मांग की गयी हैं साथ ही किसानों की अन्य समस्याओं पर यथाशीघ्र समुचित पहल की मांग संबंधित अधिकारियों एवं राज्यपाल से की गयी है। मस्तूरी तहसील के घेराव कार्यक्रम प्रदेश व राष्ट्रीय पदाधिकारियों की उपस्थिति में जल्द आयोजित किया जाएगा।

इस दौरान बिलासपुर शहर अध्यक्ष नरेन्द्र बोलर, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष रामफल बिंझवार, प्रदेश कांग्रेस सचिव महेश दुबे, पंकज सिंह, अरूण त्रिवेदी, नेता प्रतिपक्ष शेख नजरूद्दीन, वरिष्ठ कांग्रेसी आनंद जायसवाल, अजय सिंह, जिला प्रवक्ता अनिल सिंह चौहान, शिवा पांडेय, आशीष शर्मा, बिट्टू वाजपेयी, प्रमोद नायक, आदित्य दीक्षित, संतोष गुप्ता, कुलवंत सिंह, माया मिश्रा, सुभाष ठाकुर, सत्यनारायण तिवारी, सुरेश चौहान, अजहर खान, रिंकू दीक्षित, नीरज सिंह, लक्ष्मण दुबे, संतोष मिश्रा, प्रकाश जायसवाल आदि उपस्थित रहे।

 

 

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772