ब्रेकिंग
तखतपुर क्षेत्र की तीन नाबालिग छात्राओं को दो युवकों ने झांसे में लिया और अरब सागर ले गए, जानिए उसके ... CG: स्वामी आत्मानंद शासकीय इंग्लिश स्कूल की छात्रा रितिका ध्रुव का इसरो में चयन बिलासपुर: नगर निगम कमिश्नर अजय कुमार त्रिपाठी को मिली भिलाई-चरौदा की कमान, SDM तुलाराम भारद्वाज को भ... बिलासपुर: जिला पंचायत सभापति अंकित गौरहा को प्रदेश युवा संगठन चुनाव में मिली नई जिम्मेदारी बिलासपुर: मुख्यमंत्री जी! क्लेक्टर सौरभ कुमार को इस सड़क में हुआ भ्रष्टाचार नहीं आ रहा नजर. प्रियंका ... बिलासपुर: टिकरापारा मन्नू चौक निवासी रिशु घोरे को पुलिस ने चाकू के साथ किया गिरफ्तार बिलासपुर: पावर लिफ्टर निसार अहमद एवं अख्तर खान रविंद्र सिंह के हाथों हुए सम्मानित बिलासपुर: भाजपा पार्षद दल ने पुलिस ग्राउण्ड में जिला प्रशासन से रावण दहन की मांगी अनुमति बिलासपुर तहसीलदार अतुल वैष्णव का सक्ति और ऋचा सिंह का रायगढ़ हुआ ट्रांसफर बिलासपुर: आरोपी अमित भारते, जितेंद्र मिश्रा और संदीप मिश्रा को नहीं पकड़ पा रही है SSP पारूल माथुर की...

कांग्रेस का तीखा कटाक्ष, कहा- विकास का कोई विजन या योजना नहीं भाजपा सरकार के पास….

बिलासपुर। राजनीति के शतरंज में पक्ष और विपक्ष की बिसात लगती है, खेल की तरह बिल्कुल इसमें भी शिकस्त एक पक्ष को मिलती है। बात करें शहर के राजनीतिक फिजाओं की तो यहां माहौल की सरगर्मी का आलम कुछ और ही है। शहर के कद्दावर विधायक व मंत्री विगत तीन-चार चुनाव से गद्दी पर अपनी पकड़ बनाये हुये हैं। वहीं जिला कांग्रेस कमेटी लगातार विजित होने के कयास लगा रही है।
फिलहाल में जिला कांग्रेस कमेटी द्वारा स्थानीय मंत्री व विधायक विधायक अमर अग्रवाल के कार्यकाल को लेकर तीखा कटाक्ष करते हुए एक प्रेस नोट जारी किया गया है। इसमें शहर के विकास को पूर्णतः अवरूद्ध होने की बात कहकर कहा गया है कि मंत्री अमर के कार्यकाल में विकास की चिड़िया उड़ गयी है। उन्होंने प्रश्न पूछा है कि खुद को स्वयंभू कर्मयोगी बताने वाले भाजपा के स्थानीय नेता, बता दें की अरपा को टेम्स बनाने का विगत 15 वर्षों से कोरा सपना दिखाने के अलावा उन्होंने अरपा के विकास और संरक्षण मेें कहीं एक ईंट भी रखने का कार्य किया है ?
जिला कांग्रेस कमेटी के महामंत्री व प्रवक्ता अनिल सिंह चौहान व प्रवक्ता मो. जस्सास ने आरोप लगाया है कि छत्तीसगढ़ पहले नंबर की प्रतिस्पर्धा में शामिल रहने वाला बिलासपुर आज कस्बे में तब्दील हो गया है, जिसे स्थानीय मंत्री ने सीवरेज जैसा दंश देकर प्रयोगशाला बना दिया है। उन्होंने बताया कि 1998 से शहर विधायक और 2003 से भाजपा सरकार में बड़े विभागों के मंत्री रहे स्थानीय मंत्री अमर अग्रवाल पर कांग्रेस का आरोप है कि जब से अमर अग्रवाल ने शहर की कमान संभाली छत्तीसगढ़ के सिरमौर शहर बिलासपुर की छवि धूमिल हुई है और विकास पूरी तरह अवरूद्ध हुआ है।
कांग्रेस का कहना है कि अरपा प्रोजेक्ट के नाम पर शहर व आसपास के 50 हजार परिवारों की जमीन, मकान, संपत्ति को विगत लगभग 10 वर्षों से बंधक बनाने के अलावा अरपा विकास प्राधिकरण के नाम पर एक ईंट भी नहीं रखी जा सकी है। 15-20 वर्षों मे शहर की जीवनदायिनी अरपा का अनवरत दोहन हुआ हैं। नदी की दुर्दशा के कारण शहर व आसपास के क्षेत्रों में जलस्तर रसातल में चला गया है। पिछले विधानसभा चुनावों के पूर्व 15 फरवरी को स्थानीय मंत्री ने 15 मार्च तक फाइनेंसल क्लोजर रिपोर्ट और 1 दिसंबर से टेंडर प्रक्रिया प्रारंभ कर 05 वर्षों में हर हाल में योजना को साकार रूप देने का वादा किया था, पांच वर्ष बीत जाने के बाद भी एक ईंट तक नहीं रखी जा सकी दुखद यह है कि आज तक फाइनेंसल क्लोजर रिपोर्ट ही तैयार नहीं हो पायी। जबकि मंत्री जी ने इस घोषणा में दावा किया था कि वर्ष 2018 तक अरपा व बिलासपुर की तस्वीर बदल दी जायेगी जो सभी प्रमुख समाचार पत्रों में 16 फरवरी 2013 को प्रकाशित हुआ था।

सीवरेज के नाम पर शहर को मुंगेरी लाल का सपना दिखाया

कांग्रेस प्रवक्ताओं ने साझा बयान जारी कर कहा है कि अरपा और सीवरेज के नाम पर शहर को मुंगेरी लाल के सपने दिखाने वाले स्थानीय मंत्री ने विकास के लिए किसी प्रकार के मद की कमी न होने का दावा किया था जबकि शहर के विकास की गति अत्यंत मंथर हो गयी हैं। सीवरेज ने दर्जनों की जान की ले ली है सैकड़ों को विकलांग कर दिया है, हजारों लोगों को अस्थमा, त्वचा, फेफड़ों, हृदय विकारों का रोगी बना दिया है। निगम से लेकर अन्य क्षेत्रों में राजनीतिक द्वेष व भू माफियाओं को लाभ पहुंचाने के लिए लोगों के घर उजाड़ने का कार्य किया गया हैं। उन्होंने आगे कहा कि मंत्री अरपा से लेकर शहर की दुर्दशा पर खुलकर सामने आने के बजाय अपने प्रबंधन का हिस्सा रहे, आर्थिक लाभ लेने वाले लोगों से बेतरतीब बयान दिलवाते हैं जो निंदनीय है।

विकास को साकार रूप देने कोई विजन या योजना नहीं है

कांग्रेस प्रवक्ताओं ने आगे बताया कि लोकतंत्र में विपक्ष द्वारा ही नहीं शहर के किसी भी आम जनमानस के विकास संबंधी सवालों का जवाब देने में शर्म नहीं करनी चाहिए यह सभी का लोकतांत्रिक अधिकार है। लगभग 15 वर्षों के कार्यकाल के बाद, नगरीय प्रशासन मंत्री होने के बाद, नगर निगम में भाजपा के महापौर के बाद भी शहर के मास्टर प्लान में वर्षों की देरी, अरपा प्रोजेक्ट का समानांतर प्लान, दोनों प्लान में सामंजस्य का न होना, यह बताता है कि स्थानीय विधायक शहर के प्रति पूरी तरह संवेदनहीन हैं, केवल अपना राजनीतिक उल्लू सीधा करने की राजनीति कर रहे हैं। उनके पास कोई विजन या योजना नहीं है जबकि इतने वर्षों तक इतने महत्वपूर्ण शहर का जनप्रतिनिधि विकास को लेकर एक निश्चित कार्य योजना पर कार्य करके उसे साकार रूप दे चुका होता।

नकारात्मक प्रबंधन के दम पर चुनाव जीतने का आरोप

जिला कांग्रेस प्रवक्ताओं ने अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए आरोप लगाया है कि तीन बार के अपने कार्यकाल में धनबल व नकारात्मक प्रबंधन के दम पर चुनाव जीतने वाले स्थानीय विधायक जी उन्मादी व अहंकारी हो गए हैं। वो शहर के आम लोगों व विपक्ष का दमन कानूनी हथकंडों व सत्ता का दुरूपयोग कर करने का प्रयास कर रहे हैं। जनता उनके 15-20 वर्षों से शहर में दूषित व दमन की राजनीति समझ चुकी है, खिसकते जनाधार को देखते हुए बौखलाहट में खुद सामने न आकर अपने व्यापारिक सहयोगियों से बयानबाजी करवा कर अपनी करतूतों पर परदा डालने का प्रयास कर रहे है।

कांग्रेस की सरकार बनने के बाद शहर को महानगर की तर्ज पर करेंगे विकसित

जिला कांग्रेस के प्रवक्ताओं ने बताया कि कांग्रेस के शासनकाल में सदैव बिलासपुर का विकास हुआ है। उन्होंने कहा, आगामी चुनाव में शहर से कांग्रेस का विधायक और प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनेगी पुनः बिलासपुर एक महानगर के रूप में विकसित होने की राह पर अग्रसर होगा। अरपा तट पर पुनः वृहद पौधारोपण की मांग दोहराते हुए जिला कांग्रेस ने अरपा के संरक्षण व विकास को प्राथमिक प्रतिबद्धता व संकल्प बताया है।

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772