ब्रेकिंग
बिलासपुर: जिला पंचायत सभापति अंकित गौरहा को प्रदेश युवा संगठन चुनाव में मिली नई जिम्मेदारी बिलासपुर: मुख्यमंत्री जी! क्लेक्टर सौरभ कुमार को इस सड़क में हुआ भ्रष्टाचार नहीं आ रहा नजर. प्रियंका ... बिलासपुर: टिकरापारा मन्नू चौक निवासी रिशु घोरे को पुलिस ने चाकू के साथ किया गिरफ्तार बिलासपुर: पावर लिफ्टर निसार अहमद एवं अख्तर खान रविंद्र सिंह के हाथों हुए सम्मानित बिलासपुर: भाजपा पार्षद दल ने पुलिस ग्राउण्ड में जिला प्रशासन से रावण दहन की मांगी अनुमति बिलासपुर तहसीलदार अतुल वैष्णव का सक्ति और ऋचा सिंह का रायगढ़ हुआ ट्रांसफर बिलासपुर: आरोपी अमित भारते, जितेंद्र मिश्रा और संदीप मिश्रा को नहीं पकड़ पा रही है SSP पारूल माथुर की... बिलासपुर: कलेक्टर सौरभ कुमार ने सरकार हित में सरकारी जमीन बचाने वाले अधिवक्ता प्रकाश सिंह के साथ किय... बिलासपुर: उस्लापुर के रॉयल पार्क में नजर आएगी गरबा की धूम, थिरकने के लिए तैयार हैं शहरवासी बिलासपुर: कार्य की धीमी गति पर कंपनी के साथ जिम्मेदार अधिकारियों पर भी की जानी चाहिए थी कार्यवाही, स...

पुलिस को मिली बड़ी सफलता, मिट्टी तेल के टैंकर चुराने वाले गिरोह का पर्दाफाश, तीन लाख नगद बरामद……

बिलासपुर। ग्रामीण  क्षेत्रों में लगातार हो रहे मिट्टी तेल टैंकरों की चोरी का पर्दाफाश पुलिस ने कर लिया है। पुलिस ने पांच आरोपी चोरों के साथ एक खरीददार को भी गिरफ्त में ले लिया है। इनके पास से आठ मोबाइल व लगभग तीन लाख रुपए नगदी रकम बरामद हुई है। ग्रामीण थाना क्षेत्रांतर्गत लगातार हो रही इन वारदातों पर लगाम कसने के लिए आईजी बिलासपुर रेंज दीपांशु काबरा, एसपी आरिफ एच शेख ने 11 जुलाई की बैठक में इस घटना को अंजाम देने वाले आरोपियों की पतासाजी कर  कार्यवाही के सख्त निर्देश दिए थे।

एडिशनल एसपी शहर नीरज चंद्राकर, ग्रामीण अर्चना झा, एसडीओपी कोटा विश्वदीपक त्रिपाठी, उप-पुलिस अधीक्षक नवीन चौबे, नगर पुलिस अधीक्षक सिविल लाइन नसर सिद्दीक़ी, उप-पुलिस अधीक्षक क्राइम ब्रांच प्रवीण चंद राय के नेतृत्व एवं निर्देशन में थाना प्रभारी तखतपुर, किरण राजपूत, थाना प्रभारी मस्तूरी, जीडी सोनवानी, के साथ क्राइम ब्रांच एवं साइबर सेल ऐसी प्रतिक्रिया पर लगातार नजर बनाए हुए थे, टैंकर चोरी के स्थलों एवं खाली टैंकर प्राप्त होने के स्थानों के आसपास घटित घटना दिनांक से लेकर टैंकर प्राप्ति दिनांक तक उन क्षेत्रों में सक्रिय पहरेदारी से सभी गतिविधियों पर पुलिस के द्वारा कड़ी पैठ लगाई गई थी।

मोबाइल नम्बर वेरिफिकेशन से पकड़े गए आरोपी

पुलिस द्वारा वारदात की जगह के क्षेत्रों में टावर डंप प्राप्त कर सक्रिय मोबाइल नंबरों का लगातार विश्लेषण किया जा रहा था।इसी कड़ी में विभिन्न मोबाइल कंपनियों के कुल 145 सेल डंप से प्राप्त 14,51037 नम्बरों का विश्लेषण कर घटना के संबंध में महत्वपूर्ण जानकारियां एकत्रित की गई। इसके पश्चात क्राइम ब्रांच एवं थानों के वेरिफिकेशन टीम के सदस्यों के माध्यम से प्राप्त महत्वपूर्ण सूचना आधार पर निशानदेही पर संपूर्ण गैंग के सदस्यों का पता लगाकर धरपकड़ किया गया। अग्रिम पूछताछ में ना-नुकुर करने के बाद आरोपियों ने इन घटनाओं को अंजाम देना स्वीकार किया।

बिल्हा, तखतपुर व मस्तूरी थानांतर्गत घटना को दिया अंजा

बिल्हा में दिनांक 30 अप्रैल एवं 1 मई की दरमियानी रात चोरी किए गए टैंकर क्रमांक सीजी 10- ए-1727 जिसमें 12000 लीटर मिट्टी तेल, कीमत 2 लाख 80 हज़ार, थाना तखतपुर अंतर्गत 23 जून की दरमियानी रात चोरी हुए टैंकर सीजी-ए-5552 जिसमें 7000 लीटर मिट्टी तेल, कीमत 5 लाख 50 हजार, थाना मस्तूरी अंतर्गत 25 जून की दरमियानी रात चोरी हुए टैंकर क्रमांक सीजी-10 जेड-बी-1606 जो 12000 लीटर मिट्टी तेल भरा हुआ था, कीमत 5 लाख रुपए, को लावारिस हालत में जप्त किया गया। आरोपियों ने सभी घटनाओं को अंजाम देना स्वीकारा है।

पकड़े गए आरोपियों में एक 6 माह काट चुका है जेल

पकड़े गए आरोपियों में राहुल सिंह पिता प्रकाश सिंह, निवासी अयोध्या नगर जिला बिलासपुर है, जो प्रॉपर्टी डीलिंग एवं ठेकेदारी का काम करता है, इससे पहले राहुल सिंह 420 के मामले में छह माह जेल काट चुका है। वहीं दूसरा आरोपी दीपक यादव पिता राम यादव, निवासी रायपुर रोड जिला बिलासपुर वर्तमान में ओला कैब ड्राइवर है। जबकि तीसरा आरोपी सातो यादव पिता नरसिंह यादव निवासी श्रीराम पार्क कॉलोनी महाराणा प्रताप नगर बिलासपुर, पिछले 8 वर्षों से टैंकर ड्राइवर है। चौथा आरोपी मोनू उर्फ सत्येंद्र पिता सुरेंद्र वस्त्रकार निवासी अमेरी सकरी का रहनेवाला है। पांचवा आरोपी परमेश्वर साहू पिता रोहन लाल साहू उम्र 29 वर्ष ग्राम सकरी निवासी है यह भी ओला चलाने का काम करता है। वहीं इन सब का खरीददार संजय साव पिता स्व.विष्णु साव उम्र 28 वर्ष चिचोली थाना अंतर्गत आनेवाले नांदघाट जिला बेमेतरा का निवासी है, यह संजय बिहारी ढाबा रायपुर रोड नांदघाट का संचालक है। इन सब के पास से 45-नग खाली ड्रम, दो मिट्टी तेल निकालने वाला पंप, 8-नग मोबाइल फोन, लगभग 3 लाख नगदी रकम और 1-नग ओला कैब कार बरामद किए गए हैं।

कैसे करते थे चोरी ?

सातो यादव टैंकर चालकों के साथ खलासी बनकर मिट्टी तेल से भरे टैंकर के साथ तिफरा डिपो से गंतव्य स्थल तक जाता था। टैंकर खड़ी होने की जगह वह अपने अन्य साथी राहुल एवं मोनू को बताता था। उसमें भरे हुए मिट्टी तेल की जानकारी एवं चाबी रखने का स्थान भी बताता था। इसके बाद राहुल एवं मोनू ओला कैब ड्राइवर के साथ गाड़ी में सवार होकर जाते थे। इसके बाद बताए स्थान से मोनू उर्फ सत्येंद्र, टैंकर की चाबी चुपके से निकालकर टैंकर, भरे हुए मिट्टी तेल सहित चलाकर नांदघाट स्थित संजय साव के बिहारी ढाबा के आसपास खड़ा कर देता था। जिससे ढाबा संचालक संजय, तेल निकालकर बेच देता था इसके पश्चात खाली टैंकर को लावारिस हालत में उसके बरामदगी स्थान तक छोड़ देता था। बिक्री से मिली रकम यह आपस में बांट लेते थे

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772