ब्रेकिंग
बिलासपुर: जिला पंचायत सभापति अंकित गौरहा को प्रदेश युवा संगठन चुनाव में मिली नई जिम्मेदारी बिलासपुर: मुख्यमंत्री जी! क्लेक्टर सौरभ कुमार को इस सड़क में हुआ भ्रष्टाचार नहीं आ रहा नजर. प्रियंका ... बिलासपुर: टिकरापारा मन्नू चौक निवासी रिशु घोरे को पुलिस ने चाकू के साथ किया गिरफ्तार बिलासपुर: पावर लिफ्टर निसार अहमद एवं अख्तर खान रविंद्र सिंह के हाथों हुए सम्मानित बिलासपुर: भाजपा पार्षद दल ने पुलिस ग्राउण्ड में जिला प्रशासन से रावण दहन की मांगी अनुमति बिलासपुर तहसीलदार अतुल वैष्णव का सक्ति और ऋचा सिंह का रायगढ़ हुआ ट्रांसफर बिलासपुर: आरोपी अमित भारते, जितेंद्र मिश्रा और संदीप मिश्रा को नहीं पकड़ पा रही है SSP पारूल माथुर की... बिलासपुर: कलेक्टर सौरभ कुमार ने सरकार हित में सरकारी जमीन बचाने वाले अधिवक्ता प्रकाश सिंह के साथ किय... बिलासपुर: उस्लापुर के रॉयल पार्क में नजर आएगी गरबा की धूम, थिरकने के लिए तैयार हैं शहरवासी बिलासपुर: कार्य की धीमी गति पर कंपनी के साथ जिम्मेदार अधिकारियों पर भी की जानी चाहिए थी कार्यवाही, स...

भूपेश के नेतृत्व में कांग्रेस कल करेगी तहसीलों का घेराव….

बिलासपुर। पीसीसी प्रदेशाध्यक्ष के नेतृत्व में 12 जुलाई को जिला कांग्रेस किसानों के समर्थन में तखतपुर तहसील का घेराव करेगी। घेराव विरोध प्रदर्शन कर कांग्रेस सरकार से किसानों को बीमा राहत मुआवजा राशि देने की मांग करेगी। कांग्रेस का आरोप है कि बिलासपुर जिले के पूरी तरह अकालग्रस्त होने के बावजूद भी सूखा राहत व फसल बीमा के नाम पर सरकार किसानों के साथ छल कर रही है। राज्य सरकार द्वारा अपनाए गए दोहरे मापदंड के कारण किसानों की हालत बद से बदतर होती जा रही है।
कांग्रेस ने बताया कि सरकार के दोहरे मापदंड की वजह से राजनांदगांव को 465 करोड़ से अधिक राहत राशि किसानों को दी गई है।बिलासपुर जिले के किसानों को लगभग 80 करोड़ की अपर्याप्त राशि ही बीमा फसल के नाम पर भुगतान की गई है। भाजपा सरकार के इस छल के विरोध में जिला कांग्रेस द्वारा जिले की सभी तहसीलों में विरोध प्रदर्शन किया जाएगा, इसका आगाज तखतपुर तहसील से किया जा रहा है।उन्होंने बताया कि जिले में विगत कई वर्षों से भीषण अकाल की स्थिति के बाद भी किसानों को फसल बीमा व सूखा राहत के नाम पर कोई बड़ी राहत नहीं मिल पा रही है।
कांग्रेस का कहना है कि विगत वर्ष 2017 की खरीफ फसल बुरी तरह से सूखे की चपेट में आ गई और राज्य सरकार ने जिले की सभी तहसीलों को सूखाग्रस्त घोषित भी कर दिया। लेकिन राहत के नाम पर कोई ठोस कदम नहीं उठाए गए। जिले के किसानों की हालत और बदतर होती गई। फसल बीमा के नाम पर जिले के 62,525 पंजीकृत किसानों से भारी भरकम प्रीमियम तो वसूला गया किंतु अकाल के पश्चात उन्हें बीमा राहत राशि का भुगतान नहीं किया गया। तकनीकी वजह बताकर जिला प्रशासन व राज्य शासन ने अधिकतर राशि को राज्य शासन के खाते में वापस जमा करा दिया।
जिलाध्यक्ष विजय केशरवानी ने कहा कि वर्षों से अकाल की मार झेल रहे किसानों से अमानवीय व्यवहार किया गया। सरकार जैसी कोई चीज जिले के किसानों के लिए है ही नहीं, जिससे किसानों की हालत कर्ज में डूबने से निरंतर खराब होती जा रही है। कांग्रेसजनों के साथ क्षेत्र के किसान बड़ी संख्या में भाग लेगें, इस दौरान तहसील के घेराव, प्रदर्शन व ज्ञापन स्थानीय किसानों के समर्थन में राज्य की भाजपा सरकार के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन किया जाएगा।
इसकी विस्तृत जानकारी देते हुए जिला कांग्रेस महामंत्री व प्रवक्ता अनिल सिंह चौहान ने बताया कि तखतपुर तहसील के घेराव कार्यक्रम में प्रदेश अध्यक्ष, जिलाध्यक्ष के नेतृत्व में किसान के साथ कांग्रेसजन बड़ी संख्या में भाग लेकर राज्य की भाजपा सरकार के खिलाफ कड़ा विरोध प्रदर्शन करेंगे। इस दौरान कांग्रेस, भाजपा सरकार की किसान विरोधी नीतियों के खिलाफ पुरजोर प्रदर्शन का ऐलान किया गया है। किसानों को समुचित फसल बीमा सूखा राहत कोष की राशि जल्द से जल्द देने की मांग राज्य शासन के समक्ष रखी जाएगी।
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772