ब्रेकिंग
बिलासपुर: जूनी लाइन स्थित सुरुचि रेस्टोरेंट के पास रहने वाले कृष्ण कुमार वर्मा के बड़े बेटे श्रीकांत ... बिलासपुर में UP65/ EC- 4488 नँबर की कार से जब्त हुए 5 लाख नकद बिलासपुर: सदभाव पत्रकार संघ छत्तीसगढ़ की बैठक में संगठन की मजबूती पर चर्चा बिलासपुर: शैलेश, अर्जुन, रामशरण और विजय ने कहा- पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल के कार्यकाल में भाजपा के पू... बिलासपुर: मुफ्त वैक्सीन के लिए अब केवल 7 दिन शेष, कलेक्टर ने की अपील, सभी लगवा लें टीका बिलासपुर: मोपका और चिल्हाटी के 845/1/न, 845/1/झ, 1859/1, 224/380, 1053/1 खसरा नँबरों की शासकीय भूमि ... बिलासपुर: क्या अमर अग्रवाल की बातों को गंभीरता से लेंगे कलेक्टर सौरभ कुमार? नेहरू चौक में लगी थी राज... बिलासपुर: इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के द्वारा नर्सिंग और गैर नर्सिंग स्टाफ़ के व्यक्तित्व विकास एवं कम्... बिलासपुर: गौरांग बोबड़े हत्याकांड के आरोपी रहे किशुंक अग्रवाल के पास से जब्त हुए 20 लाख बिलासपुर: बिल्हा क्षेत्र से गायब हुई नाबालिग लड़की तेलंगाना में मिली

यात्री सुविधाओं को लेकर रेलवे बोर्ड गंभीर …..

बिलासपुर। रेल यात्रा दौरान यात्रियों को होने वाली असुविधाओं को दूर करने के लिए रेल मंत्री पीयूष गोयल द्वारा ‘बिल नहीं तो फ्री में खाना’ योजना प्रारंभ की गई। इस योजना का उद्देश्य यात्रा के दौरान वेंडरों या कैटरिंग वालों द्वारा ज्यादा मूल्य पर खाद्य सामग्री बेचने पर प्रतिबंध लगाना है। 

इसी क्रम में बिलासपुर जोन के सभी स्टेशनों में मंडल मुख्यालय द्वारा आदेश जारी किया गया है कि बिना बिल के किसी भी खाद्य सामग्री का लेनदेन ना किया जाए। रेलवे ने यात्रियों से भी अपील की है कि वे खाद्य-सामग्रियों को निर्धारित मूल्यों में ही खरीदें। गाडियों में पेंट्रीकार कर्मचारियों को बख्शीश आदि का प्रलोभन ना दें। खाद्य-सामग्रियों को खरीदने से पहले उपयोग करने की तिथि अवश्य देखें। खरीदे गए सामानों का बिल अवश्य लें।      

खाद्य-सामग्रियों में ओवर चार्जिंग की वजह से मार्च 2018 से इसे लागू किया गया है। इसका मुख्य उद्देश्य रेलवे के खानपान से संबंधित लेनदेन प्रणाली में पारदर्शिता लाना एवं वेंडरों द्वारा खाद्य-सामग्रियों की अधिक कीमत लिए जाने पर पूरी तरह से अंकूश लगाना है। मंडल के यात्रियों को पारदर्शिता के साथ निर्धारित मूल्य में गुणवत्तायुक्त खानपान सुविधा उपलब्ध कराने बिलासपुर मंडल के सभी केटरिंग यूनिट संचालकों क्रियान्वयन के लिए निर्देशित किया गया है।

उल्लेखनीय है कि इसके पूर्व में भी मंडल रेल प्रशासन द्वारा विशेष अभियान चलाकर गाड़ियों के पेंट्रीकार एवं स्टेशनों के केटरिंग संचालकों को सख्त हिदायतें एवं निर्देशित किया गया था। कि वे गुणवत्ता युक्त खाद्य-सामग्रियों को इसके निर्धारित मूल्य में ही विक्रय करें। साथ ही उन्होंने बताया कि सभी सामग्रियों के पैकेट में बनने की तिथि एवं उपयोग करने की तिथि का उल्लेख अवश्य हो, यह सुनिश्चित करें। इस प्रकार की सूचनाएं यात्री उद्बोधन प्रणाली के माध्यम से भी प्रसारित कराई गई थी। निर्धारित मूल्य से अधिक में बेचने की शिकायतें रेल प्रशासन को प्राप्त होने पर विशेष अभियान चलाकर संबंधितों पर जुर्माने की कार्यवाही की जाती है।

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772