ब्रेकिंग
बिलासपुर: पुलिस अधिकारियों के अपराधियों से हैं अच्छे संबंध, जानिए इस सवाल पर क्या बोले नए एसपी संतोष बिलासपुर: एकता और सदभावना का संदेश लेकर चल रही है हाथ से हाथ जोड़ो यात्रा- लक्ष्मीनाथ साहू बिलासपुर में दो दिवसीय अखिल भारतीय नृत्य-संगीत समारोह विरासत 4 फरवरी से 30 जनवरी को दो मिनट के लिए ठहर जाएगा बिलासपुर, जानिए क्यों… बिलासपुर: इस प्रकरण ने SSP पारूल माथुर के सूचना तंत्र की खोली पोल तिफरा ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष लक्ष्मीनाथ साहू के नेतृत्व में निकली हाथ से हाथ जोड़ो यात्रा बिलासपुर के नए एसपी होंगे संतोष कुमार सिंह बिलासपुर: आखिर क्यों चर्चा में है तखतपुर तहसीलदार शशांक शेखर शुक्ला? बिलासपुर: इस बार कोटा SDM हरिओम द्विवेदी सुर्खियों में आए पामगढ़: अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त नृत्यांगना वासंती वैष्णव एवँ सुनील वैष्णव के निर्देशन में 26 जनव...

बिना वर्ष बंधन के संविलियन कारगर : गोपी…

राजनांदगांव। जिला सचिव मनीष पसीने ने कहा है संविलियन होने पर सभी शिक्षाकर्मियों को बधाई दी साथ ही मोर्चा के अन्य सदस्यों शैलेन्द्र यदु, बाबूलाल लाडे, ललिता कन्नौज़े प्रांतीय पदाधिकारियों ने सभी को बधाई दी है। उन्होंने कहा है कि शिक्षाकर्मियों ने इस दिन और इस महीने को यादगार बनाने के लिए पौधारोपण अभियान चलाने का निर्णय लिया है, जिसकी शुरुआत आज हो गई है। 30 जुलाई तक सभी शिक्षाकर्मी स्कूल परिसर के अंदर या आसपास संविलियन वृक्ष लगाकर पर्यावरण को हरा-भरा रखने में मदद करेंगे।
                      जिले के संघ अध्यक्ष गोपी वर्मा ने कहा है कि प्रदेश शिक्षाकर्मियों को राज्य शासन ने संविलियन की सौगात दी है। हालांकि एक बड़ा तबका लाभ के दायरे में आने से छूट गया है। इसे लेकर उनमें कुछ नाराजगी है, क्योंकि मध्यप्रदेश की तर्ज पर सभी शिक्षाकर्मियों के संविलियन के बजाए वर्ष बंधन लागू करते हुए केवल 8 वर्ष से ऊपर की सेवा देने वाले शिक्षाकर्मियों का ही संविलियन किया गया है। 
                           गोपी वर्मा ने कहा कि 8 वर्ष से कम सेवा अवधि वाले शिक्षकों के लिए प्रदेश के शिक्षाकर्मी लड़ाई भी लड़ रहे हैं, आने वाले समय में इसका असर भी देखने को मिलेगा, उन्होंने बताया कि सीधे तौर पर लाभ पाने वाले शिक्षाकर्मियों की संख्या 1 लाख से भी अधिक है इसलिए संविलियन दिवस को बहुत बड़ा अभियान माना जा रहा है। जिसका सीधा फायदा पर्यावरण और समाज को भी होगा। 
               शिक्षाकर्मी नेता शैलेन्द्र यदु, बाबूलाल लाडे, मनीष पसीने, दिनेश कुरेटी ने कहा कि संविलियन की सौगात पाने के बाद प्रदेश संगठन निर्णय अनुसार जिला संगठन ने इस दिन को और पूरे जुलाई माह को संविलियन माह के रूप में घोषित किया है, हमारी अपील है कि मध्यप्रदेश की तर्ज पर यहां भी सभी शिक्षाकर्मियों का संविलियन किया जाए क्योंकि इसके बगैर शिक्षाकर्मियों के साथ न्याय अधूरा है।
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772