ब्रेकिंग
बिलासपुर: पुलिस अधिकारियों के अपराधियों से हैं अच्छे संबंध, जानिए इस सवाल पर क्या बोले नए एसपी संतोष बिलासपुर: एकता और सदभावना का संदेश लेकर चल रही है हाथ से हाथ जोड़ो यात्रा- लक्ष्मीनाथ साहू बिलासपुर में दो दिवसीय अखिल भारतीय नृत्य-संगीत समारोह विरासत 4 फरवरी से 30 जनवरी को दो मिनट के लिए ठहर जाएगा बिलासपुर, जानिए क्यों… बिलासपुर: इस प्रकरण ने SSP पारूल माथुर के सूचना तंत्र की खोली पोल तिफरा ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष लक्ष्मीनाथ साहू के नेतृत्व में निकली हाथ से हाथ जोड़ो यात्रा बिलासपुर के नए एसपी होंगे संतोष कुमार सिंह बिलासपुर: आखिर क्यों चर्चा में है तखतपुर तहसीलदार शशांक शेखर शुक्ला? बिलासपुर: इस बार कोटा SDM हरिओम द्विवेदी सुर्खियों में आए पामगढ़: अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त नृत्यांगना वासंती वैष्णव एवँ सुनील वैष्णव के निर्देशन में 26 जनव...

चुनाव पास आते ही मस्तूरी विधायक को याद आई अपने क्षेत्र की समस्‍याएं……

बिलासपुर। मस्तूरी के कांग्रेस विधायक दिलीप लहरिया ने एक प्रेस नोट जारी कर मस्तूरी की अव्यवस्थाओं का बखान किया है जिसमें मुख्यता जल संकट का विवरण देते हुए उन्होंने कहा है कि मस्तूरी क्षेत्र में दर्जनों पानी टंकी निर्माण होने के बावजूद बंद हैं चारों ओर तालाब सूख गए हैं, जहां फसल बीमा योजना की राशि ना मिलने से किसान भी नाराज है।
                         बहरहाल यह कहां तक सही है, इस बात का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि एक विधायक की जिम्मेदारी उसके संपूर्ण क्षेत्र में सभी विकास कार्यों को कराने उन्हें संचालित करने की होती है, पर यहां आलम ठीक इसके विपरीत है शायद मस्तूरी विधायक दिलीप लहरिया अपनी कमियों का ठीकरा  विपक्ष के सिर फोड़ने की तैयारी में हैं। यही कारण है कि मस्तूरी में मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह की विकास यात्रा से 1 दिन पूर्व उन्होंने एक प्रेस नोट जारी किया है जिसमें समस्त बातों का उल्लेख करते हुए उन्होंने भाजपा का आरोप लगाया है। 
                 भारतीय जनता पार्टी की विकास यात्रा को निरर्थक बताते हुए मस्तूरी विधायक दिलीप लहरिया ने कहा, एक ओर भाजपा यात्रा विकास यात्रा कर रही है वहीं दूसरी ओर मस्तूरी में पानी के लिए हाहाकार मचा हुआ है, दर्जनों पानी टंकी निर्माण होने के बावजूद जल संकट गहराया है, गांव के सभी तालाब सुख गए हैं फसल बीमा योजना क्षतिपूर्ति के नाम पर किसानों को 100, 92 या 4 रुपया दिया जा रहा है। विधायक लहरिया का कहना है कि मस्तूरी क्षेत्र में अवैध रूप से बिजली कटौती की जा रही है, दर्जनों रोड जर्जर है, नहर मार्ग में टूट-फूट व पानी की कमी, शिक्षा के क्षेत्र में कॉलेज की कमी उप स्वास्थ्य केंद्र की कमी, स्टाफ की कमी आदि अनेक समस्याएं हैं इसके बावजूद सरकार विकास यात्रा निकाल रही है, यह दुर्भाग्यपूर्ण है। 
                 कांग्रेस विधायक दिलीप लहरिया का आरोप है कि शासन एक और शिक्षित बेरोजगारों को रोजगार मुहैया नहीं करा सकी और दूसरी ओर मोबाइल वितरण कर लॉलीपॉप दे रही है बेरोजगार युवकों को रोजगार की आवश्यकता है ना कि मोबाइल कि वर्तमान सरकार दलितों के हित में कुछ नहीं कर रही है। वह महिला सुरक्षा तक नहीं कर पा रही है, इन सबके बावजूद इन सबको दरकिनार करके सरकार की विकास यात्रा चल रही है जनता जागरुक हो चुकी है इसका हिसाब अगले चुनाव में जनता स्वयं करेगी। 
                    इन सभी आरोपों को परे रखकर अगर सोचे तो पता चलता है कि अपने क्षेत्र में इतनी खामियां पता होने के बावजूद भी विधायक दिलीप लहरिया अब तक चुप रहे हैं और अब जब डॉ रमन सिंह अपनी विकास यात्रा लेकर मस्तूरी पहुंच रहे हैं, तो उन्हें इन समस्याओं की याद आ गई। उल्लेखनीय है कि विधायक की जिम्मेदारी उसके पूरे क्षेत्र तक सीमित होती है वहां का विकास, वहां की समस्याएं, जनता की शिकायतें सबको पूर्ण करने की जिम्मेदारी एक विधायक की होती है पर मस्तूरी विधायक दिलीप लहरिया द्वारा एक प्रेस नोट जारी कर इन सब मुद्दों को फिलहाल में उठाना कहां तक सही है इसका निर्णय हम पाठकों पर छोड़ते हैं?
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772