ब्रेकिंग
बिलासपुर: इस प्रकरण ने SSP पारूल माथुर के सूचना तंत्र की खोली पोल तिफरा ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष लक्ष्मीनाथ साहू के नेतृत्व में निकली हाथ से हाथ जोड़ो यात्रा बिलासपुर के नए एसपी होंगे संतोष कुमार सिंह बिलासपुर: आखिर क्यों चर्चा में है तखतपुर तहसीलदार शशांक शेखर शुक्ला? बिलासपुर: इस बार कोटा SDM हरिओम द्विवेदी सुर्खियों में आए पामगढ़: अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त नृत्यांगना वासंती वैष्णव एवँ सुनील वैष्णव के निर्देशन में 26 जनव... बिलासपुर: जाँच के दौरान कार में मिली 22 किलो 800 ग्राम कच्ची चाँदी, व्यापारी के द्वारा पेश किया गया ... बिलासपुर: सदभाव पत्रकार संघ छत्तीसगढ़ के पदाधिकारियों ने मंत्री जयसिंह अग्रवाल को दिया नववर्ष मिलन सम... बिलासपुर: पत्रकार शाहनवाज की सड़क हादसे में मौत, सदभाव पत्रकार संघ छत्तीसगढ़ ने शोक व्यक्त कर दी श्रद्... बिलासपुर: रतनपुर थाना क्षेत्र में कार में 3 जिंदा जले, पेड़ से टकराने के बाद कार में लगी आग, अंदर ही ...

किसानों ने कलेक्टर से लगाई न्याय की गुहार…

बिलासपुर। विकास खण्ड बिल्हा अंतर्गत आने वाले ग्राम कड़ार के किसानों ने कलेक्ट्रेट जनदर्शन में अपनी कृषि भूमि का मुआवजा मांगा है। किसानों ने बताया कि 4 वर्ष पूर्व शासन द्वारा उनकी भूमि अधिग्रहित की गयी थी, जिसका मुआवजा उन्हें नहीं मिला।
                                                किसानों के आवेदनानुसार, ग्राम कड़ार विकास खंड बिल्हा जिला बिलासपुर अंतर्गत शासन द्वारा किसानों की भूमि को विगत 4 वर्ष पूर्व अधिग्रहित किया था, जिसका कागज़ी अनुबंध 3 फरवरी 2016 को किया गया था, इसमें लगभग 65 किसानों की भूमि अधिग्रहित की गई थी।
                                                      भूमि को बंधुआ तालाब से नहरनाली तक, नहर व नाली के निर्माण के लिए अधिग्रहित किया गया था। भूमि को लगभग 4 वर्ष पूर्व शासन द्वारा मौखिक आधार के तहत किसानों से लिया गया था। इस कारण आज तक किसान अपनी जीविकापार्जन के साधन से कृषि कार्य नहीं कर पा रहें हैं।
                                                    किसानों ने बताया कि जमीन लेते वक़्त उन्हें कहा गया था कि कागज़ात प्रकाशित होने के बाद भूमि का मुआवजा प्रदान किया जाएगा। इसके बावजूद भी आज तक किसी भी किसान को मुआवजे की राशि प्रदान नहीं की गई है। किसानों ने कलेक्टर से निवेदन किया है, की उनके पास रोजी-रोटी का एक साधन कृषि ही है, किंतु कृषि भूमि नहीं होने के कारण उनके सामने रोजी रोटी की विकट समस्या उत्पन्न हो गई है, किसानों की मांग है कि उन्हें जल्द से जल्द अधिग्रहित भूमि का मुआवजा प्रदान किया जाए।
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772