ब्रेकिंग
बिलासपुर: नियमित योग अभ्यास करने से जीवन में होता है सकारात्मक बदलाव: रविन्द्र सिंह बिलासपुर: पुलिस अधिकारियों के अपराधियों से हैं अच्छे संबंध, जानिए इस सवाल पर क्या बोले नए एसपी संतोष बिलासपुर: एकता और सदभावना का संदेश लेकर चल रही है हाथ से हाथ जोड़ो यात्रा- लक्ष्मीनाथ साहू बिलासपुर में दो दिवसीय अखिल भारतीय नृत्य-संगीत समारोह विरासत 4 फरवरी से 30 जनवरी को दो मिनट के लिए ठहर जाएगा बिलासपुर, जानिए क्यों… बिलासपुर: इस प्रकरण ने SSP पारूल माथुर के सूचना तंत्र की खोली पोल तिफरा ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष लक्ष्मीनाथ साहू के नेतृत्व में निकली हाथ से हाथ जोड़ो यात्रा बिलासपुर के नए एसपी होंगे संतोष कुमार सिंह बिलासपुर: आखिर क्यों चर्चा में है तखतपुर तहसीलदार शशांक शेखर शुक्ला? बिलासपुर: इस बार कोटा SDM हरिओम द्विवेदी सुर्खियों में आए

मगरमच्छ के हमले से युवक घायल….


बिलासपुर। (सत्येंद्र वर्मा )-मगर के हमले से घायल होना रतनपुर के निवासियों के लिए कोई पहली और आख़िरी घटना नहीं है रतनपुर के तालाबों, नहरों और खेतों में देखे और पाए जाने वाले मगर अब हिंसक हो रहे हैं और इनके द्वारा सीधे-सीधे आम आदमी को शिकार बनाया जा रहा है, इन जीवों का हिंसक होना अपने आप में एक बड़ी घटना मानी जा सकती है। समय रहते यदि इस मगरमच्छ पर नियंत्रण पर कोई ठोस उपाय नहीं किए जाते हैं तो वह दिन दूर नहीं जब मगरमच्छ अपने पेट की आग बुझानें मानव जीवन पर हमला करने से भी नहीं चूकेगा। आज सुबह रतनपुर के निकट खूंटाघाट जलाशय में नहाने गए युवक पर मगर नें जानलेवा हमला कर घायल कर दिया। मगर के हमले से घायल युवक किसी तरह जान बचाकर किनारे पहुंचा। जहां से उसे उपचार हेतु रतनपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लाया गया। जहां प्राथमिक उपचार के बाद उसे बिलासपुर सिम्स रिफर कर दिया गया है। इस पूरे घटनाक्रम की जानकारी के बाद भी वन विभाग के अधिकारियों नें घायल युवक की कोई सुध नहीं ली है।

               पूरी घटना कुछ इस प्रकार की है कि मेलनाडीह निवासी दिनेश मरावी रोज की तरह खूंटाघाट जलाशय में नहाने के लिए गया हुआ था तभी तैरते समय एक मगरमच्छ नें उस पर जानलेवा हमला कर दिया। मगर के अचानक हुए हमले से युवक घायल हो गया किन्तु उसने हिम्मत ना हारी और किसी तरह ख़ुद की जान बचाकर किनारे पहुंचा। मगर नें उसके गाल पर गहरा घाव बना दिया था। किसी तरह साथियों नें सबसे पहले युवक को लेकर रतनपुर स्थित वन परिक्षेत्र कार्यालय रतनपुर पहुचें और मगर के द्वारा किए हमले की जानकारी बैठे वन कर्मचारियों को दी, किन्तु वन विभाग के अधिकारी कार्यालय में मौजूद नहीं होने की बात बता कर्मचारियों नें अपना पल्ला झाड़ लिया, उन्होंने मगर के हमले से घायल युवक की किसी तरह की कोई मदद नहीं की। हालांकि वन विभाग के इस रवैये से रतनपुर के लोगों में अच्छा खासा आक्रोश देखा जा रहा है। उसके साथियों नें उसे उपचार के लिए रतनपुर स्वास्थ्य केन्द्र लेकर गए जहां प्राथमिक उपचार के बाद डॉक्टरों नें उसे बिलासपुर के सिम्स रिफर कर दिया गया। फिलहाल मगरमच्छ के हमले से घायल युवक का उपचार जारी है।

                रतनपुर के खूंटाघाट और आसपास के तालाबों, खेतों, नहरों में मगरमच्छ के निकलने की घटना आम है किन्तु जिस तरह से रतनपुर क्षेत्र में मगरमच्छों की तादात बढ़ने की खबर लगातार मिल रही है वह किसी बड़ी घटना के कारित होने का संकेत है। प्रशासन को चाहिए की वह शीघ्र ही कोई ठोस कदम उठाए ताकि इस जलीय और थलीय जीव के हमले से आम आदमी को बचाया जा सके।

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772