जोगी के गढ़ में हुआ राहुल गांधी का आगाज़, दिखा कांग्रेस का तेवर…

बिलासपुर। जोगी के गढ़ में घुसकर कांग्रेस ने पूरा दम लगाकर अपनी हुंकार भरी है, कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने आगामी चुनाव का शंखनाद कर दिया है। कांग्रेस का समर्थन बल दिखाने राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी पेण्ड्रा पहुंचे, इस दौरान उन्होंने विपक्ष पर जमकर निशाना साधा। प्रदेश, केंद्र सरकार भाजपा पर कभी व्यंग तो कभी तीखा कटाक्ष करते नज़र आये। इस दौरान कांग्रेस के सभी दिग्गज नेता एक मंच में अपना शक्ति प्रदर्शन करते दिखे, वहीं कोटमी में हो रहे कांग्रेस पार्टी की जनसभा में रेणु जोगी ने सभा स्थल पर पहुंचकर राहुल गांधी का स्वागत किया साथ ही वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं ने भी अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष का स्वागत बेहद गर्मजोशी से किया।
                                  राहुल गांधी ने केंद्र पर निशाना साधते हुए कहा कि देश में आप जो कुछ भी हो रहा है वह केवल 15 अमीरों के लिए हो रहा है यहां की जनता के लिए नहीं सरकार केवल उन्हीं के पक्ष में सोच रही है जिनके लिए वह बनी है। राष्ट्रीय अध्यक्ष ने बैंकिंग फ्रॉड के के आरोपी नीरव मोदी, विजय माल्या, ललित मोदी के संदर्भ में कहा कि सरकार इन्हीं सब के के लिए काम कर रही है, जो देश के बैंकों को चूना लगा कर विदेशों में विलासितापूर्ण जीवन बिता रहे और देश की जनता मजबूर हो रही है। राहुल ने बताया कि 35 हज़ार करोड़ मनरेगा के देश में बजट है, जबकि इतने पैसे नीरव मोदी मोदी सरकार के कार्यकाल में लेकर भागा है। 
                                        किसानों के मुद्दे पर राहुल बोले, सरकार नहीं चाहती कि देश के किसान खुश रहें, भूमि के देवता कहे जाने वाले किसानों की देश में यह दशा चिंतनीय है। सरकार उद्योगपतियों के ढाई लाख करोड रुपए का कर्ज़ माफ़ कर सकती है मगर किसानों का कर्ज माफ करने पर वह कहती है कि ऐसा करने से किसानों की आदत खराब हो जाएगी। इस पर राहुल ने सवाल किया कि अमीर लोगों को कर्ज़ देकर उन्हें माफ़ कर देना उनकी आदतें और खराब करना है या नहीं जबकि किसान के मुद्दे पर सरकार कहती है कि किसानों की आदतें कर्ज़ माफ़ करने से खराब हो जाएगी। जमीन अधिग्रहण बिल पर राहुल ने कहा, सरकार ने जो बिल बनाया था, इसके अनुसार बिना आपकी अनुमति कोई जमीन नहीं ले सकता था अगर ऐसा होता तो, चार गुनी राशि बतौर जुर्माना देनी पड़ती। केंद्र सरकार ने उस वक्त राज्यसभा और लोकसभा में समर्थन किया, लेकिन बैक डोर से राज्यों में भू-अधिग्रहण बिल को बदल दिया गया।
वन-जंगल बेचकर मुनाफ़ा कमाने वाली सरकार :मरकाम
गोंडवाना पार्टी के सुप्रीमो   हीरा सिंह मरकाम ने कहा, छत्तीसगढ़ भाजपा की सरकार गरीबों किसानों ठगती आई है। वनवासियों भाइयों-बहनों से उनकी जमीन छीन कर अपना मुनाफा देखने वाली सरकार भाजपा की सरकार है। आज जैसी दशा किसान भाइयों की कभी नहीं हुई। अन्न देवता को आज जहर खाना पड़ खुद ही जहर खाना पड़ रहा है, इससे बड़ी दुर्भाग्य की बात नहीं हो सकती। हम क्रांतिकारी परिवर्तन लाना चाहते हैं ताकि प्रदेश में आदिवासी भाई-बहनों की माता वन जंगल वन जंगल जंगल सलामत रहे और स्वतंत्रतापूर्वक हमारे वनवासी भाई-बहन जंगल में रह सके भाई-बहन जंगल में रह सके भाई-बहन जंगल में रह सके हमारे वनवासी भाई-बहन जंगल में रह सके भाई-बहन जंगल में रह सके जंगल में रह सके। भाजपा की सरकार वन जंगल को बेचकर लाभ कमाना चाहती है यही उनका उद्देश्य है, हमारे आदिवासी भाइयों बहनों का आवास जंगल-वन है, उन्हें हथियाने की साजिश में सरकार कर रही है जिसे हम कभी सफल होने नहीं देंगे।
                 मरकाम ने आगे कहा, कि रोटी बचाओ, खेत बचाओ, गांव बचाओ हमारा नारा है। आजादी की लड़ाई किसानों के लिए, गरीबों के लिए, आजादी हर क्षेत्र में आर्थिक, सामाजिक, राजनीतिक आजादी हमारा एकमात्र उद्देश्य है।जो विदेशों में घूम रहे हैं उन्हें जनता से कोई सरोकार नहीं है।अब वक्त आ गया है बदलाव का, जो कमी है उस पर अध्ययन किया जाए। लाल बहादुर शास्त्री जी ने कहा था की अंतिम व्यक्ति को सबसे ज्यादा प्राथमिकता देनी चाहिए, ताकि समाज बढ़ सके। हमारा उद्देश्य स्मार्ट किसान, स्मार्ट नदी, स्मार्ट पहाड़, स्मार्ट मजदूर, बनाना है ताकि हमारे गांव स्मार्ट हो सके, हमारे शहर स्मार्ट हो सके और हमारा प्रदेश स्मार्ट हो सके। जिससे  सांप्रदायिकता फैलाने वाली सरकार का अंत हो जायेगा। 
            इस दौरान वरिष्ठ कांग्रेसी नेताओं ने भी विपक्ष पर जमकर निशाना साधा, इस दौरान कहा गया की छत्तीसगढ़ सबसे प्यारा प्रदेश है जहां जल-जंगल-जमीन सभी प्रचुर मात्रा में हैं। प्राकृतिक वरदान छत्तीसगढ़ को पूरे देश में सबसे ज्यादा मिला है और उनके मालिक हैं वनवासी और उनकी वनमाता जो उनकी मां है, जबकि उन्हें सरकार द्वारा हटाया जा रहा है इसलिए यह अति आवश्यक है, कि अब अलग-अलग लड़ाई नहीं एकजुट होकर लड़ाई लड़ी जाए और दुशासन का अंत कर सुशासन की सरकार लाई जाए साथ ही सांप्रदायिक दंगों से अपने अस्तित्व रखने वाली सरकार को प्रदेश के हित में हटाना प्रदेश की बहाली के लिए जरूरी है। 
ब्रेकिंग
बिलासपुर: सदर बाजार, गोल बाजार और शनिचरी मार्केट में अतिक्रमण के खिलाफ की गई कार्रवाई CG: 16 साल बाद भी पिथौरा दंगा पीड़ितों को नहीं मिला मुआवजा : रिजवी रायपुर: छत्तीसगढ़ प्रदेश आर्चरी एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष कैलाश मुरारका ने खेल एवं युवा कल्याण विभाग... बिलासपुर: पत्रकारों को मौत के घाट उतारने की साजिश रची थी इस महिला ने, जानिए किसने कहा, देखिए VIDEO बिलासपुर: चकरभाठा थाना के सामने खड़ी कोयला से भरे ट्रक में लगी आग, पुलिस ने पाया काबू, देखिए VIDEO बिलासपुर: मुख्यमंत्री ने किया संभाग स्तरीय सी-मार्ट का लोकार्पण बिलासपुर: कोतवाली सीएसपी पूजा कुमार को सौंपा गया लाइन अटैच आरक्षकों की जांच का जिम्मा बिलासपुर: छत्तीसगढ़ से दो हजार किसान जाएंगे दिल्ली बिलासपुर: कमीशन वसूल करवाने वाला शख्स विक्रम कौन...? बिलासपुर: प्रदेश का सबसे बड़ा पत्रकार संघ "सदभाव पत्रकार संघ छत्तीसगढ़" के प्रतिनिधि मंडल से दूसरी बार...
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772