ब्रेकिंग
बिलासपुर: नियमित योग अभ्यास करने से जीवन में होता है सकारात्मक बदलाव: रविन्द्र सिंह बिलासपुर: पुलिस अधिकारियों के अपराधियों से हैं अच्छे संबंध, जानिए इस सवाल पर क्या बोले नए एसपी संतोष बिलासपुर: एकता और सदभावना का संदेश लेकर चल रही है हाथ से हाथ जोड़ो यात्रा- लक्ष्मीनाथ साहू बिलासपुर में दो दिवसीय अखिल भारतीय नृत्य-संगीत समारोह विरासत 4 फरवरी से 30 जनवरी को दो मिनट के लिए ठहर जाएगा बिलासपुर, जानिए क्यों… बिलासपुर: इस प्रकरण ने SSP पारूल माथुर के सूचना तंत्र की खोली पोल तिफरा ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष लक्ष्मीनाथ साहू के नेतृत्व में निकली हाथ से हाथ जोड़ो यात्रा बिलासपुर के नए एसपी होंगे संतोष कुमार सिंह बिलासपुर: आखिर क्यों चर्चा में है तखतपुर तहसीलदार शशांक शेखर शुक्ला? बिलासपुर: इस बार कोटा SDM हरिओम द्विवेदी सुर्खियों में आए

भूषण के निधन पर जिला काँग्रेस ने व्यक्त किया शोक…..

बिलासपुर। गांधीवादी विचार के समर्थक नेता कयूर भूषण के निधन पर जिला काँग्रेस कमेटी ने शोक व्यक्त किया है. इस दुःखद क्षण पर काँग्रेस के प्रदेशप्रवक्ता अभय नारायण ने कहा कि कयूर भूषण जी के साथ छत्तीसगढ़ से एक युग की समाप्ति हुई है. जिसकी पूर्ति कभी नहीं कि जा सकती.

प्रदेशप्रवक्ता अभय नारायण ने कहा कि रायपुर लोकसभा से काँग्रेस के सांसद रहे छत्तीसगढ़ के स्वतंत्रता संग्राम सेनानी गांधीवादी विचारों के लिए पहचाने जाने वाले पत्रकार व साहित्यकार रहे. जिन्होंने छत्तीसगढ़ी साहित्यकार के रूप में भी अपनी विशेष छाप छोड़ी है. उन्होंने कहा के काँग्रेस के लिए छत्तीसगढ़ के लिए और छत्तीसगढ़ी साहित्य के एक इनका निधन अपूर्णनीय क्षति है.

इस अवसर पर उनके जीवन पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने बताया कि सन् 1928 में दुर्ग जिले के जाता गांव में कयूर भूषण जी का जन्म हुआ था. युवावस्था में ही वे गांधीजी के संपर्क में आए और सन् 1942 के भारत छोड़ो आंदोलन में भाग लिया. इस तरह स्वतंत्रता संग्राम के आंदोलन में भाग लेते हुए उन्होंने अलग-अलग समय में 4 वर्ष जेल में बिताया. राजनीतिक एवं समाज सेवा से उनका लगाव छात्र जीवन से ही था. सन् 1980 से 1999 के बीच कांग्रेस की टिकट पर दो बार रायपुर लोकसभा से निर्वाचित होकर सांसद रहे. सन् 2001 में छत्तीसगढ़ शासन ने पंडित रवि शंकर शुक्ल सद्भावना पुरूस्कार से उन्हें सम्मानित किया था.

इसके पश्चात बिलासपुर जिला शहर काँग्रेस ने उनके निधन पर शोक व्यक्त करते हुए उन्हें श्रद्धांजली व्यक्त की, प्रदेश काँग्रेस महामंत्री अटल श्रीवास्तव, जिला अध्यक्ष विजय केशरवानी, शहर अध्यक्ष नरेन्द्र बोलर, कार्यकारिणी सदस्य शेख गफ्फार, कृष्ण कुमार यादव, प्रदेश सचिव रामशरण यादव, अर्जुन तिवारी, आशीष सिंह, महेश दुबे, विवेक बाजपेयी, प्रदेश प्रवक्ता शैलेश पाण्डेय, अभय नारायण राय, शहर प्रवक्ता ऋषि पाण्डेय, नेता प्रतिपक्ष शेख नजरूद्दीन, ब्लाक अध्यक्ष तैयब हुसैन, विनोद साहू ने शोक व्यक्त किया.

भूषण की रचनाएं

कयूर भूषण की प्रमुख रचनाओं में लहर, मरजात, कहां बिलागे मारे धान के कटोरा, नित्य प्रवाह, कालू भगत, आंसू म फिले अँचरा, मोर मारूक, हीरा के पीरा, डोंगराही रद्दा, लोकलाज, बलिहारी जैसे उपन्यास एवं कहानी संग्रह प्रमुख रहे. इसके अलावा उन्होंने कई अखबारों में पत्रकार एवं संपादक के रूप में भी कार्य किया, रायगढ़ का प्रमुख चक्रधर समारोह एवं गणेश मेला उन्हीं की देन मानी जाती है.

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772