‘शब्दों से परे’ का विमोचन 29 को, 30 को ‘आज के समय में कविता’ पर परिचर्चा…..

बिलासपुर। कविता भावनाओं को व्यक्त करने का सबसे सशक्त माध्यम है यही कारण है कि एक ओर जहां आधुनिकीकरण व मोबाईल इंटरनेट का बढ़ता दौर है दूसरी ओर साहित्य के प्रति भी लोगों के रुझानों में खासी बढ़ोतरी देखने को मिलती है यही कारण है कि साहित्य प्रेम लोगों में है।
इसी कड़ी में वरिष्ठ साहित्यकार कवि त्रिलोक महावर की कविता संग्रह ‘शब्दों से परे’ का विमोचन 29 अप्रैल रविवार को शहर के जल संसाधन परिसर में स्थित प्रार्थना भवन में किया जाएगा, इस अवसर पर देश एवं प्रदेश के जाने-माने साहित्यकार शिरकत करेंगे।
लोकार्पण के उपरांत आमंत्रित कवियों द्वारा कविता पाठ किया जाएगा, विमोचन के दूसरे दिवस 30 अप्रैल को ‘‘आज के समय में कविता’’ विषय पर परिचर्चा भी आयोजित की जाएगी। लोकार्पण समारोह की अध्यक्षता भोपाल के वरिष्ठ साहित्यकार शशांक करेंगे तथा मुख्य अतिथि रायपुर के प्रसिद्ध साहित्यकार तेजिन्दर करेंगे, विशेष रूप से आमंत्रित खरगौन के भालचंद जोशी व बिलासपुर के रामकुमार तिवारी एवं नई दिल्ली के वरिष्ठ साहित्यकार व लेखक सुधीर सक्सेना आलेख पढ़ेंगे।
कई सम्मान मिल चुके हैं कवि महावर को
इसके पूर्व वरिष्ठ साहित्यकार कवि त्रिलोक महावर की 4 कविता संग्रह प्रकाशित हो चुकी है जिनमें ‘विस्मत न होना’, ‘नदी के लिए सोचो’, ‘इतना ही नमक’ एवं ‘हिज्जे सुधारता है चाँद’ शामिल है इन संग्रहों के लिए कवि महावर को पं. मदन मोहन मालवीय स्मृति, ‘आराधक श्री’ सम्मान, नई दिल्ली, अम्बिका प्रसाद दिव्य स्मृति व पंजाब कला साहित्य अकादमी सम्मान से नवाजा जा चुका है। 
त्रिलोक महावर कुछ समय महाविद्यालय में अध्यापन भी कर चुके हैं, वर्तमान में वे भारतीय प्रशासनिक सेवा में बिलासपुर में संभाग आयुक्त हैं, उन्होंने ड्यूक यूनिवर्सिटी अमेरिका एवं सांस पो, पेरिस (फ्रांस) में प्रशासनिक प्रशिक्षण प्राप्त किया है, वे धमतरी, जांजगीर-चांपा व मुंगेली जिले के कलेक्टर भी रह चुके हैं। 
इसके अलावा महावर ने लम्बे समय तक मध्यप्रदेश व छत्तीसगढ़ के विभिन्न आकाशवाणी व दूरदर्शन केन्द्रों में अपनी रचनाओं के माध्यम से सेवाएं दी हैं, बहुमुखी प्रतिभा के धनी महावर पर्यावरण, जनजातीय, बाल साहित्य, कहानी, कविता एवं लघुकथा का चित्रात्मक पोस्टर जैसे विधाओं में विशेष रूचि रखते हैं साथ ही वे क्रिकेट, टेबल टेनिस, बेडमिंटन के भी अच्छे खिलाड़ी हैं।
महावर के कविता संग्रह ‘शब्दों से परे’ के लोकार्पण पर आयोजित दो दिवसीय समारोह के इस आयोजन में देश भर से ख्यातिलब्ध साहित्यकारों में दिल्ली से हरिनारायण, भोपाल से महेन्द्र गगन, सरगुजा से विजय गुप्त, खंडवा से कैलाश मंडलेकर के अलावा रायपुर से श्री संजीव बख्शी, नथमल शर्मा, विश्वेश ठाकरे, रफीक खान, शाकिर अली, जांजगीर से सतीश सिंह, विजय राठौर, कोरबा से भास्कर चैधरी, सरगुजा से विजय गुप्ता जैसे जाने-माने साहित्यकार जुट रहे हैं। यह आयोजन पहले पहल प्रकाशन भोपाल एवं कथादेश दिल्ली की ओर से आयोजित किया जा रहा है।
ब्रेकिंग
बिलासपुर: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, प्रभारी मंत्री जय सिंह अग्रवाल, कमिश्नर संजय अलंग, सांसद अरुण साव,... बिलासपुर: ताइक्वांडो नेशनल रैफरी सेमिनार एवँ Award का हुआ समापन बिलासपुर: कौन है यह विक्रम..? -अंकित बिलासपुर: भाजयुमो ने किया बिजली ऑफिस का घेराव बिलासपुर: शहीद की माता को पेंशन दिलाने महिला आयोग मुख्य सचिव और डीजीपी को लिखेगा पत्र बिलासपुर: यदुनंदन नगर में महिला के घर घुसा एक युवक, जानिए उसके बाद क्या हुआ, देखिए VIDEO बिलासपुर: अधिवक्ता प्रकाश सिंह की शिकायत पर एडिशनल कलेक्टर कुरुवंशी ने जाँच के बाद दुष्यंत कोशले और ... बिलासपुर: सारनाथ एक्सप्रेस दिसंबर से फरवरी तक 38 दिन रद्द, यात्रियों की बढ़ेगी मुश्किलें बिलासपुर: भाजपा-कांग्रेस के नेता नूरा-कुश्ती के तहत आदिवासी को ही चाहते हैं निपटाना: नेताम बिलासपुर: खमतराई की खसरा नंबर 561/21 एवँ 561/22 में से सैय्यद अब्बास अली, मो.अखलाख खान, शबीर अहमद, त...
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772