ब्रेकिंग
बिलासपुर: पुलिस अधिकारियों के अपराधियों से हैं अच्छे संबंध, जानिए इस सवाल पर क्या बोले नए एसपी संतोष बिलासपुर: एकता और सदभावना का संदेश लेकर चल रही है हाथ से हाथ जोड़ो यात्रा- लक्ष्मीनाथ साहू बिलासपुर में दो दिवसीय अखिल भारतीय नृत्य-संगीत समारोह विरासत 4 फरवरी से 30 जनवरी को दो मिनट के लिए ठहर जाएगा बिलासपुर, जानिए क्यों… बिलासपुर: इस प्रकरण ने SSP पारूल माथुर के सूचना तंत्र की खोली पोल तिफरा ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष लक्ष्मीनाथ साहू के नेतृत्व में निकली हाथ से हाथ जोड़ो यात्रा बिलासपुर के नए एसपी होंगे संतोष कुमार सिंह बिलासपुर: आखिर क्यों चर्चा में है तखतपुर तहसीलदार शशांक शेखर शुक्ला? बिलासपुर: इस बार कोटा SDM हरिओम द्विवेदी सुर्खियों में आए पामगढ़: अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त नृत्यांगना वासंती वैष्णव एवँ सुनील वैष्णव के निर्देशन में 26 जनव...

बिलासपुर: अनाधिकृत रूप से बेलतरा विधायक रजनीश सिंह का विधायक प्रतिनिधि बनकर विक्रम सिंह ने सामान्य सभा की बैठक में लिया भाग और अनावश्यक रूप से हंगामा कर शासकीय कामकाज में पहुंचाया बाधा- अंकित गौरहा

-अंकित गौरहा ने विक्रम सिंह को बताया फर्जी विधायक प्रतिनिधि

-अंकित गौरहा ने विक्रम सिंह और आनंद पांडे को खड़े किया कटघरे में

 

बिलासपुर :जिला पंचायत सभापति अंकित गौरहा ने विक्रम सिंह को फर्जी विधायक प्रतिनिधि बताकर मुख्य कार्यपालन अधिकारी और पुलिस कप्तान से लिखित शिकायत कर उसके खिलाफ कानूनी कार्यवाही की मांग की है।

शिकायत में अंकित गौरहा ने कहा कि विक्रम सिंह पिछले तीन साल से जिला पंचायत के सामान्य सभा की बैठक में बेलतरा विधायक रजनीश सिंह का झूठा प्रतिनिधि बनकर आता रहा है। जबकि बेलतरा विधायक की तरफ से प्रतिनिधि नियुक्ति किये जाने का जिला पंचायत को कोई पत्र ही नहीं मिला। पिछले दिनों जांच पडताल के दौरान जानकारी मिली कि विक्रम सिंह ने पिछले दरवाजे से नवम्बर 2022 को विधायक का एक लिखित पत्र जरूर दिया। लेकिन पत्र 2 नवम्बर 2022 का है। सवाल उठता है कि आखिर इसके पहले विधायक प्रतिनिधि बिना विधायक की अनुमति से कैसे सामान्य सभा में भाग लेता था। पुलिस कप्तान और सीईओ मामले की जांच करें।

जिला पंचायत सभापति अंकित गौरहा ने पुलिस कप्तान और जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को विक्रम के खिलाफ लिखित शिकायत की है। शिकायत में अंकित ने जांच पड़ताल के साथ ही भाजपा नेता के खिलाफ कानूनी कार्यवाही की मांग की है।

अंकित गौरहा ने बताया कि जिला पंचायत बिलासपुर के सामान्य सभा की बैठक में साल 2019-20, 2020-21 और 2021-22 में अनाधिकृत रूप से बिना किसी लिखित आदेश के बेलतरा विधायक रजनीश सिंह का विधायक प्रतिनिधि बनकर विक्रम सिंह ने जिला पंचायत सामान्य सभा की बैठक में भाग लिया।

अंकित ने कहा कि विक्रम सिंह ने 14 दिसम्बर 2022 के सामान्य सभा बैठक में अनावश्यक रूप से हंगामा कर शासकीय कामकाज में बाधा पहुंचाया है। सामान्य सभा के बाद अध्यक्ष की तरफ से परियोजना सहायक आनंद पाण्डेय से सांसद और विधायक प्रतिनिधियों की जानकारी देने को कहा गया। अधिकारी ने बेलतरा विधायक प्रतिनिधी को सूचना देकर बेक डेट में एक महीने पूर्व का एक पत्र मांग कर पेश किया।

अंकित ने बताया कि जांच पड़ताल के दौरान पता चला कि परियोजना सहायक आनंद पाण्डेय ने 2 नवम्बर 2022 का पत्र मंगवाकर अनाधिकृत रूप से आवक-जावक शाखा में जमा कराने का प्रयास किया। आवक जावक शाखा में पदस्थ कर्मचारी ने बताया कि मामले की जानकारी उसे नहीं है। इसके बाद जिला पंचायत के ही एक कर्मचारी ने 21 दिसम्बर 2022 को लगभग 7 दिन बाद एक पत्र दिखाया। कर्मचारी ने बताया कि पत्र उसे परियोजना सहायक आनन्द पांडेय ने फाइल में रखने को कहा था।

गौरहा ने कहा कि जाहिर सी बात है कि तथाकथित बेलतरा विधायक प्रतिनिधि ने जिला पंचायत अधिकारियों के साथ  मिली भगत कर षड़यंत्र को अंजाम दिया है। बिना अनुमति या प्रतिनिधि बनकर जिला पंचायत जैसी सर्वोच्च संवैधानिक संस्था को गुमराह करते हुए तीन साल से सामान्य सभा की बैठक में अनाधिकृत रूप से शामिल हुआ है।

अंकित ने कहा कि मामले में जांच के साथ ही षड़यंत्र में शामिल दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए।

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772