ब्रेकिंग
बिलासपुर: पावर लिफ्टर निसार अहमद एवं अख्तर खान रविंद्र सिंह के हाथों हुए सम्मानित बिलासपुर: भाजपा पार्षद दल ने पुलिस ग्राउण्ड में जिला प्रशासन से रावण दहन की मांगी अनुमति बिलासपुर तहसीलदार अतुल वैष्णव का सक्ति और ऋचा सिंह का रायगढ़ हुआ ट्रांसफर बिलासपुर: आरोपी अमित भारते, जितेंद्र मिश्रा और संदीप मिश्रा को नहीं पकड़ पा रही है SSP पारूल माथुर की... बिलासपुर: कलेक्टर सौरभ कुमार ने सरकार हित में सरकारी जमीन बचाने वाले अधिवक्ता प्रकाश सिंह के साथ किय... बिलासपुर: उस्लापुर के रॉयल पार्क में नजर आएगी गरबा की धूम, थिरकने के लिए तैयार हैं शहरवासी बिलासपुर: कार्य की धीमी गति पर कंपनी के साथ जिम्मेदार अधिकारियों पर भी की जानी चाहिए थी कार्यवाही, स... बिलासपुर: महादेव और रेड्डी अन्ना बुक के सटोरियों पर पुलिस की बड़ी कार्यवाही बिलासपुर: जूनी लाइन स्थित सुरुचि रेस्टोरेंट के पास रहने वाले कृष्ण कुमार वर्मा के बड़े बेटे श्रीकांत ... बिलासपुर में UP65/ EC- 4488 नँबर की कार से जब्त हुए 5 लाख नकद

बिलासपुर में गुंडाराज: गुंडे इस तरह निपटा रहे हैं अपना मेटर. SSP पारूल माथुर के कमजोर प्लानिंग के कारण गुंडों के हौसले बुलंद. सिविल लाइन पुलिस के रात्रि गश्त की खुली पोल

बिलासपुर:जिले में खाकी का खौफ अपराधियों के मन से खत्म होता जा रहा है. एक के बाद एक लगातार चाकूबाजी, मारपीट हो रही हैं.ऐसा नहीं है कि इस तरह के मामले में अंकुश लगाने के लिए SSP पारूल माथुर प्रयास नहीं कर रहीं है, कर रहीं हैं पर उनको सफलता नहीं मिल रही है.

आपको बता दें कि सत्ता के नशे में चूर नेता कभी ट्रैफिक पुलिस जवान के साथ अभद्रता करते हैं, तो कभी दुकान खाली कराने के नाम पर गुंडागर्दी करते है, तो कभी थाने के अंदर बैठकर विधायक और बिलासपुर के बारे में अश्लील शब्द बोलते हैं. ऐसे सैकड़ों उदाहरण है, जिसमें गुंडे प्रवृत्ति के लोग दहशत पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं.

सोशल मीडिया में वायरल हो रहा VIDEO इस बात का सबसे बड़ा उदाहरण है.

इस VIDEO में देखा जा सकता है कि दो युवक कानून को अपने हाथ में लेकर एक युवक को बेरहमी से पीट रहे हैं,जो कि गलत है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, घटना मगरपारा क्षेत्र की है. जो मार खा रहा है वह आदतन अपराधी विक्की पांडे है, जो कुछ दिनों पहले जेल से छुटा है. मारने वाले युवकों का नाम हमें नहीं मालूम है. युवकों को कानून को हाथ में नहीं लेना चाहिए; क्योंकि हमारी सुरक्षा के लिए पुलिस है. अगर दोनों युवक इस घटना की जानकारी पुलिस को देते तो शायद उन्हें आ आरोपी नहीं बनना पड़ता.

 

 

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772