ब्रेकिंग
बिलासपुर: पुलिस अधिकारियों के अपराधियों से हैं अच्छे संबंध, जानिए इस सवाल पर क्या बोले नए एसपी संतोष बिलासपुर: एकता और सदभावना का संदेश लेकर चल रही है हाथ से हाथ जोड़ो यात्रा- लक्ष्मीनाथ साहू बिलासपुर में दो दिवसीय अखिल भारतीय नृत्य-संगीत समारोह विरासत 4 फरवरी से 30 जनवरी को दो मिनट के लिए ठहर जाएगा बिलासपुर, जानिए क्यों… बिलासपुर: इस प्रकरण ने SSP पारूल माथुर के सूचना तंत्र की खोली पोल तिफरा ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष लक्ष्मीनाथ साहू के नेतृत्व में निकली हाथ से हाथ जोड़ो यात्रा बिलासपुर के नए एसपी होंगे संतोष कुमार सिंह बिलासपुर: आखिर क्यों चर्चा में है तखतपुर तहसीलदार शशांक शेखर शुक्ला? बिलासपुर: इस बार कोटा SDM हरिओम द्विवेदी सुर्खियों में आए पामगढ़: अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त नृत्यांगना वासंती वैष्णव एवँ सुनील वैष्णव के निर्देशन में 26 जनव...

बिलासपुर: इन तस्वीरों को देखकर लगता है कि कलेक्टर सौरभ कुमार और एसडीएम तुलाराम भारद्वाज ने इन नेताओं को व्यवस्था बिगाड़ने की दी खुली छूट

बिलासपुर। मिली जानकारी के अनुसार, छत्तीसगढ़ प्रदेश भारतीय जनता युवा मोर्चा के आव्हान पर जिला भारतीय जनता युवा मोर्चा बिलासपुर द्वारा 18 अगस्त गुरूवार को प्रातः 11 बजे नेहरू चौक में बेरोजगारों को रोजगार देने, बेरोजगारी भत्ता देने आदि की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन किया.

यहाँ तक तो ठीक है, विपक्ष में बैठे हैं तो सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर सकते हैं, पर इस तरह के विरोध प्रदर्शन से जनता परेशान हो और सरकारी रूल की अवहेलना हो तो जनता के बीच में आक्रोश पनपना लाज़मी है.

आपको बता दें कि जिले में किसी भी तरह का भी कोई आयोजन करना है तो उसके लिए एक सरकारी प्रक्रिया बनी है. आयोजनकर्ता उसी के तहत शासन के द्वारा बनाए गए एक फ़ॉर्मेट को फुलफिल करके संबंधित क्षेत्र के एसडीएम को देता है. उसके बाद एसडीएम क्षेत्र की व्यवस्था को देखकर शर्तों के साथ अनुमति प्रदान करता है.

 

अब आप लोग सोच रहे होंगे कि जब इस तरह के नियम बने हैं तो फिर राजनीति से जुड़े समझदार नेता केवल सूचना देकर अपना आयोजन संपन्न कर लेते हैं और उन पर किसी तरह की कोई कार्यवाही एसडीएम के द्वारा नहीं की जाती है, तो आपको इन प्रश्नों का ठोस जवाब इन अधिकारियों के पास नहीं मिलेगा; क्योंकि ये अपनी कमजोरियों को छिपाते हुए तथ्यहीन जवाब देते हैं.

आज जिस स्थान पर युवा मोर्चा ने सभा का आयोजन किया था, वहाँ एक बस स्टॉप और फ़ूड शॉप है, जो सभा में लगे टेंट से ढक गया था. इससे उन यात्रियों को भी परेशानी हुई जो इस बस स्टॉप में बैठकर अपनी-अपनी बसों का इंतजार करते हैं और साथ ही अन्य दिनों की अपेक्षा फ़ूड संचालक की बिक्री भी कम रही.

आज के सभा स्थल में बिना अनुमति के लगे टेंट को देखकर ऐसा लग रहा था कि कलेक्टर सौरभ कुमार और एसडीएम तुलाराम भारद्वाज इन लोगों के सामने पावर लेस हो गए हैं, तभी तो इन जैसे नेताओं के हौसले बुलंद रहते हैं. जिसका जीता जागता उदाहरण ये तस्वीरें हैं.

इसके लिए पूर्णरूप से कलेक्टर और एसडीएम जिम्मेदार हैं. इसे भूपेश सरकार को गंभीरता से लेना चाहिए, तभी व्यवस्था सुधरेगी और आम जनता को परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ेगा.

भाजयुमो के द्वारा कलेक्टर कार्यालय घेराव की सूचना शासन के द्वारा बनाए गए फार्मेट में नहीं दी गई है. 

………तुलाराम भारद्वाज (बिलासपुर एसडीएम)

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772