ब्रेकिंग
बिलासपुर: जिला प्रशासन पर हावी है जमीन एवँ खनिज माफिया, जानिए इस सवाल पर क्या बोले कलेक्टर सौरभ कुमा... बिलासपुर: छत्तीसगढ़ में 37 महिनों में 5153 अनाचार के मामले हुए दर्ज, पूजा विधानी ने जताई चिंता बिलासपुर: नवनियुक्त कलेक्टर सौरभ कुमार ने कार्यभार ग्रहण किया पटवारी ट्रांसफर: इन पटवारियों को किया गया इधर से उधर, मोपका की जिम्मेदारी मिली आलोक कुमार तिवारी को,... बिलासपुर: जिम्मेदारों की नाकामी के कारण अमेरी रोड में भरा पानी, पैरेंट्स होते रहे परेशान, देखिए VIDE... बिलासपुर: झपटमारों के हौसले बुलंद, इस महिला के गले से खींच ले गए चेन, देखिए VIDEO बिलासपुर: भारतीय जनता पार्टी दक्षिण मंडल ने दी मृतक कन्हैया को श्रद्धांजलि बिलासपुर: Zee न्यूज़ के निदेशकों और संपादक रोहित रंजन के विरुद्ध FIR दर्ज करने मोनू अवस्थी के नेतृत्... बिलासपुर: इन प्रश्नों में घिरते नजर आए अमर अग्रवाल, देखिए उसके बाद क्या हुआ बिलासपुर: मस्तूरी के लोकप्रिय नेता संतोष दुबे को मिली अहम जिम्मेदारी, देखिए आदेश

बिलासपुर: धरना स्थल पर अमर अग्रवाल दोपहर 12 बजकर 6 मिनट पर पहुँचे. कलेक्टर सारांश मित्तर की अनुपस्थिति में उनके कक्ष में जिला पंचायत सीईओ हरिस ने लिया ज्ञापन. महापौर रामशरण यादव के केबिन में आयुक्त अजय त्रिपाठी ने लिया अमर से ज्ञापन. अमर अग्रवाल की बातों को गंभीरता से नहीं ले रहे थे भाजपा के कुछ कार्यकर्ता

बिलासपुर: नगर में ठप पड़े विकास कार्यों एवं स्मार्ट सिटी के पैसों की हो रही बंदरबांट एवं दुरूपयोग को लेकर भाजपा के वरिष्ठ नेता अमर अग्रवाल के नेतृत्व में आज 25 मई बुधवार को विकास भवन के सामने धरना प्रदर्शन किया गया.धरना प्रदर्शन सुबह 10 बजे की बजाए एक घंटे बाद लगभग 11 बजे शुरू हुआ और भीड़ भी इसी समय बढ़ते हुए नजर आ रही थी. कार्यक्रम का नेतृत्व कर रहे अमर अग्रवाल खुद घरना स्थल में दोपहर 12 बजकर 6 मिनट में पहुंचे. कार्यक्रम के दौरान कुछ भाजपाई अमर की बातों को  गंभीरता से नहीं ले रहे थे.

 

सुबह 10 बजे से 11:20 बजे तक की तस्वीरें 

आपको बताते चलें कि भाजपा के आज के धरना प्रदर्शन को लेकर न्यूज़ हब इनसाइट की टीम गंभीर थी, इसलिए समय पर सुबह 10 बजे पहुँच गई. टीम ने देखा कि धरना स्थल में भाजपा के एक कार्यकर्ता के साथ मिलकर जिलाध्यक्ष रामदेव कुमावत कुर्सियां लगवा रहे थे और वहाँ की व्यवस्था देख रहे थे. 11:20  बजे तक कुर्सियां लगाते नजर आये टेंट कर्मी, इस समय तक गिनते के भाजपाई पहुँचे थे. कार्यक्रम 11:46 बजे शुरू हुआ और मंच पर उपस्थित वक्ताओं ने बारी बारी से भूपेश सरकार पर जमकर निशाना साधा और प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी और अमर अग्रवाल के कार्यों की प्रशंसा की.

 दोपहर 12 बजकर 6 मिनट में अमरअग्रवाल मंच पर पहुँचे.

 

 

स्मार्ट सिटी के पैसे की हो रही बंदरबांट एवं दुरपयोग को तत्काल रोकना होगा एवं नगर निगम बिलासपुर के अंतर्गत वार्डांे के विकास काम ठप पड़े हैं उसे चालू करना होगा नहीं तो भाजपा इससे बड़ा आंदोलन करंेगी. उक्त बातें पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल कही. 

अग्रवाल ने राज्य सरकार के साथ-साथ नगर सत्ता में बैठी कांग्रेस सरकार को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि कांग्रेस सरकार को प्रदेश में साढ़े तीन वर्ष और नगर निगम में लगभग ढ़ाई वर्ष हो चुके हैं. सारे विकास कार्य ठप पड़े हैं. वार्डों में पानी की किल्लत से लोग परेशान हैं, बूंद-बूंद पानी के लिए वार्ड के नागरिक तरस रहे हैं. तालापारा, तारबहार, हेमुनगर आदि शहर के अनेक वार्डों में पानी की किल्लत है, उसे तत्काल दूर किया जाना चाहिए. इसी तरह वार्डों में बजबजाती नालियां बढ़ते मच्छरों का प्रकोप तथा साफ सफाई जैसी मूलभूत समस्या से लोग जूझ रहे हैं, कम से कम यही काम करवा देते. वह भी नहीं हो पा रहा है, शहर की तो बात ही अलग, शहर के बड़े नाले नालियों की सफाई न होना, सामने बरसात है, जल निकासी की समस्या भी सामने हैं।

अमर अग्रवाल ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत हजारों मकान जो बनकर तैयार हैं, उसका आवंटन  जानबूझकर नहीं किया गया है. लोग शिकायत करने हमारे पास  आते हैं कि निगर कर्मचारी पैसा मांगते हैं, हम गरीब कहां से पैसा दे मकान खण्डहर हो रहे हैं। अग्रवाल ने कहा कि इनकी नियत में खोट है तत्काल प्रधानमंत्री आवास आबंटन किया जाए, जल अमृत मिशन का लगभग चार सौ करोड़ रूपये हमने आबंटन कराया था साढ़े चार वर्ष पूर्व की खुटांघाट से पानी लाकर फिल्टर प्लांट के माध्यम से फिल्टर कर पानी घर घर पहुंचाने की योजना भी पूरी नहीं करवा सके. आज तक सारा काम हो जाना था, इसमें भी लापरवाही है. उसी तरह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी  ने देश के 100 शहरों में से बिलासपुर को स्मार्ट सिटी के रूप में चुना. सफाई सिटी के फंड में एक हजार करोड़ रूपये आए विकास कार्य के लिए उन कामों को भी नहीं कर पा रहे हैं. कोतवाली थाने में आधुनिक पार्किंग की व्यवस्था, पशु औषधालय को गोकुल नगर में शिफ्ट करना, शहर का सौंदर्यीकरण आदि कामों के लिए पैसों की कोई कमी नहीं है, लेकिन इच्छा शक्ति का अभाव है,

अमर ने आरोप लगाते हुए कहा स्मार्ट सिटी के पैसों की बंदरबांट हो रही है. समयावधि खत्म हो रही है. आनन-फानन में करोड़ों रूपये के टेंडर कर दिये गए हैं. रंग रोगन के लिए पैसों की बंदरबांट सिर्फ कमीशन खोरी के चक्कर में कांग्रेसी लगे हैं. 100 करोड़ रूपये से ज्यादा लागत पर बने बहतराई खेल स्टेडियम का रख रखाव नहीं होने के कारण खंडहर में तब्दील हो चुका है. स्टेडियम प्रदेश का यहां चौथा एस्ट्रो टर्फ हांकी मैदान बना है  आज अपनी दुर्दशा को लेकर तरस रहा है।

कुछ कार्यकर्ता अमर की बातों को इग्नोर करते नजर आए

संबोधन एवं धरना प्रदर्शन के पश्चात् अमर ने स्पष्ट कर दिया था कि महापौर और आयुक्त को ज्ञापन देने के लिए मेरे साथ केवल पाँच लोग ही जाएंगे. उसके बाद भी 50 से ज्यादा भाजपाई अमर के साथ विकास भवन पहुंच गए और पुलिस के रोकने के बाद भी महापौर के कक्ष में घुसकर नारेबाजी करने लगे. इस तरह का माहौल कलेक्टर के चेंबर में भी दिखा. इससे ये समझ में आता है कि ऐसे कार्यकर्ता अमर की बातों को कितने गंभीरता से ले रहे थे. 

 

 

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772