ब्रेकिंग
बिलासपुर: इस प्रकरण ने SSP पारूल माथुर के सूचना तंत्र की खोली पोल तिफरा ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष लक्ष्मीनाथ साहू के नेतृत्व में निकली हाथ से हाथ जोड़ो यात्रा बिलासपुर के नए एसपी होंगे संतोष कुमार सिंह बिलासपुर: आखिर क्यों चर्चा में है तखतपुर तहसीलदार शशांक शेखर शुक्ला? बिलासपुर: इस बार कोटा SDM हरिओम द्विवेदी सुर्खियों में आए पामगढ़: अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त नृत्यांगना वासंती वैष्णव एवँ सुनील वैष्णव के निर्देशन में 26 जनव... बिलासपुर: जाँच के दौरान कार में मिली 22 किलो 800 ग्राम कच्ची चाँदी, व्यापारी के द्वारा पेश किया गया ... बिलासपुर: सदभाव पत्रकार संघ छत्तीसगढ़ के पदाधिकारियों ने मंत्री जयसिंह अग्रवाल को दिया नववर्ष मिलन सम... बिलासपुर: पत्रकार शाहनवाज की सड़क हादसे में मौत, सदभाव पत्रकार संघ छत्तीसगढ़ ने शोक व्यक्त कर दी श्रद्... बिलासपुर: रतनपुर थाना क्षेत्र में कार में 3 जिंदा जले, पेड़ से टकराने के बाद कार में लगी आग, अंदर ही ...

टेस्ट क्रिकेट में नए युग की शुरुआत, ये होंगे विशेष नियम……….

दक्षिण अफ्रीका और जिम्बाब्वे के बीच आज से जब एकमात्र दिन रात्रि टेस्ट मैच शुरू होगा तो टेस्ट क्रिकेट में एक नए युग की शुरुआत होगी। दर्शकों को पहली बार चार दिन का टेस्ट मैच देखने को मिलेगा। जिसे आईसीसी ने अनुमति दी है। टेस्ट खेलने के लिए जो मानक नियम हैं उनसे यह काफी भिन्न होगा। 1972-73 से टेस्ट मैच पांच दिन के करवाए जा रहे हैं।

मैच चार दिन का होगा जिसमें प्रत्येक दिन साढ़े छह घंटे का खेल होगा जबकि पांच दिन मैचों में खेल छह घंटे का होता है। इसमें 90 के बजाय प्रतिदिन 98 ओवर किए जाएंगे। पांच दिनी मैचों की तरह इसमें भी ओवर पूरे करने के लिए आधा घंटा जोड़ा जा सकता है।

खेल के पहले दोनों सत्र दो घंटे के बजाय दो घंटे 15 मिनट के होंगे। पहले सत्र के बाद लंच ब्रेक के बजाय 20 मिनट का चाय काल होगा। दूसरे सत्र के बाद 40 मिनट का डिनर ब्रेक होगा। इसमें किसी दिन समय बर्बाद होने के कारण अगले दिन जल्दी मैच करवाने या इस वजह से अधिक ओवर करने का प्रावधान नहीं है।

पांच दिनी मैचों में फॉलोआन 200 रन की बढ़त पर दिया जाता है, लेकिन इसमें 150 रन की बढ़त पर फॉलोआन दिया जा सकता है। प्रत्येक दिन खेल स्थानीय समयानुसार दोपहर बाद एक बजकर 30 मिनट पर शुरू होगा।

यह 1972-73 के बाद पहला टेस्ट मैच होगा जिसके लिए चार दिन का कार्यक्रम तय किया गया है। उससे पहले तक टेस्ट मैच तीन से छह दिनों तक खेले जाते थे। कुछ टेस्ट मैच में तो समय की कोई पाबंदी नहीं होती थी और उन्हें टाइमलेस टेस्ट कहा जाता था।

आखिरी टाइमलेस टेस्ट दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड के बीच डरबन में 1938-39 में खेला गया था। दिलचस्प बात यह है कि यह मैच दस दिन (इनमें से एक दिन बारिश के कारण खेल नहीं हो पाया था) तक चला और फिर भी ड्रॉ रहा क्योंकि इंग्लैंड की टीम को स्वदेश लौटने के लिए जहाज पकडऩा था।

सभी टेस्ट मैच 1972-73 से पांच दिन के करवाए जाने लगे। ऑस्ट्रेलिया और विश्व एकादश के बीच 2005-06 में खेला गया टेस्ट मैच हालांकि छह दिन का था। यह मैच चार दिन में समाप्त हो गया था। दक्षिण अफ्रीका-जिम्बाब्वे मैच आठवां दिन रात्रि टेस्ट मैच होगा। यह दक्षिण अफ्रीका में खेला जाने वाला इस तरह का पहला मैच होगा। पिछले सात दिन रात्रि टेस्ट मैचों में से चार ऑस्ट्रेलिया में खेले गए हैं।

इस मुकाबले में दक्षिण अफ्रीका के कप्तान फाफ डु प्लेसिस का खेलना संदिग्ध माना जा रहा है। डु प्लेसिस को वायरल बुखार है और जिसके कारण वह दक्षिण अफ्रीका में पहली बार हो रहे डे-नाइट टेस्ट मैच से बाहर रह सकते हैं। डु प्लेसिस ने कहा कि पिछले सप्ताह मेरी खेलने की उम्मीदें 80-20 थीं और अब शायद 60-40 हो गई हैं। पिछले दो सप्ताह में मैंने अच्छा सुधार किया है, लेकिन पिछले सप्ताह मुझे वायरल ने पकड़ लिया जिसने मुझे सुस्त कर दिया है। मैं अभी भी अभ्यास करने की कोशिश कर रहा हूं। लेकिन देखता हूं कि आगे क्या होता है।….source-s.j.

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772