ब्रेकिंग
बिलासपुर: SECL के गेस्ट हाउस की बिजली गुल, केन्द्रीय राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे पसीना पोंछते हु... कला विकास केंद्र बिलासपुर की छात्रा साई श्री इजारदार कथक में केंद्रीय छात्रवृत्ति के लिए चयनित बिलासपुर: कोटवार, पटवारी और राजस्व अधिकारी के रहते रमतला की सरकारी जमीन आरोपी प्रवीण पाल के नाम से क... बिलासपुर: 5 सरपंच एवं 12 पंच पदों के लिए 27 जून को उप चुनाव बिलासपुर: इस TI ने पुलिस की छवि को किया धूमिल, आम लोग दहशत में बिलासपुर के कराते खिलाड़ियों ने 44 स्वर्ण, 22 रजत एवं 21 कांस्य पदक जीतकर जिले का नाम किया रोशन बिलासपुर: यूपीएससी की प्रारंभिक परीक्षा 28 मई को बिलासपुर में, 36 दिव्यांग सहित 5532 परीक्षार्थी 22 ... बिलासपुर: जिला पंचायत सभापति अंकित गौरहा की माँग पर दो सड़कों के लिए 61 लाख रुपए हुए स्वीकृत बिलासपुर: दिल्ली की तरह छत्तीसगढ़ में भी मिले शहीद जवानों को एक करोड़ मुआवाजा- उज्वला कराड़े बिलासपुर: अरपापार पृथक नगर निगम की माँग को जनता का मिल रहा पूर्ण समर्थन- पिनाल

फिर भिड़े दो कांग्रेसी नेता……

बिलासपुर। कांग्रेस में वर्चस्व की लड़ाई रुकने के नाम नहीं ले रही है बड़े नेताओं के सामने शक्ति प्रदर्शन करते हुए ये उनके सामने भिड़ जाते हैं और यह भूल जाते हैं कि इससे उनकी छवि निखरेगी या बिगड़ेगी। प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया के प्रथम नगरागमन पर भी छत्तीसगढ़ भवन में ऐसा ही नजारा देखने को मिला जब जिला अध्यक्ष राजेंद्र शुक्ला और संभागीय प्रवक्ता अभय नारायण राय स्वागत के जोश में इस कदर भिड़ गए कि नौबत हाथापाई तक आ गई यह देख पुनिया ने पूछा कि ये कौन हैं पता चलने पर कि प्रवक्ता है उन्होंने दोनों को डांट लगाई पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ.चरण दास महंत के समझाने पर मामला शांत हुआ और अभय नारायण नाराज होकर बाहर चले गए। ऐसी हरकतों के कारण ही बड़े नेताओं को गुटबाजी जैसे सवालों का सामना करना पड़ता है जिनमे खुद में एका नहीं है वे बीजेपी को हराने की बात किस आधार पर करते हैं

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772