तखतपुर विधायक, उसके पुत्र सहित आरोपियों पर मेहरबानी, खिलाफ में शिकायत करने पर थाना प्रभारी को कर दिया लाइन अटैच…

बिलासपुर। तखतपुर विधायक तथा उसके पुत्र सहित अन्य लोगों के खिलाफ कार में तोड़फोड़ करने का आरोप लगाते हुए मामले की शिकायत थाना प्रभारी ने एसपी से की है। वहीं थाना प्रभारी के साथ गाली गलौज व जान से मारने की धमकी देने के मामले में कार्रवाई की मांग थाना प्रभारी ने की है। इधर, आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करने के बजाय उल्टा थाना प्रभारी को ही लाइन अटैच कर दिया गया है। इससे जाहिर है विधायक का खौफ पुलिस विभाग में बरकरार है।

सिंघम फिल्म के नेता जयकांत सिखरे और सिंघम अजय देवगन के किरदार आज भी लोगों के जेहन में तरोताजा है। जब जयकांत सिखरे सिंघम पर नेतागिरी की हदें पार करता है, तब पूरा पुलिस महकमा नेता के खिलाफ खड़ा हो जाता है। हालांकि यह फिल्म है। लेकिन असल जिंदगी में एक थाना प्रभारी का साथ देने के बजाय विधायक के ओहदे का ख्याल रखा गया है। यही वजह है कि तखतपुर विधायक मामले में आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करने के बजाय तखतपुर थाना प्रभारी वायएन शर्मा को ही लाइन अटैच कर दिया गया है।

बता दें कि तखतपुर थाना प्रभारी वायएन शर्मा ने एसपी से की शिकायत में कहा है कि तखतपुर थाना में पदस्थापना के बाद से ही विधायक राजू सिंह क्षत्री लगातार छोटे-मोटे मामले में हस्तक्षेप करते हुए आरोपियों को छुड़वाने तथा कार्रवाई न करने का दबाव बना रहे हैं। बीते 1 मार्च को पुराना बस स्टैंड में राजू देवांगन पिता समारू के होटल में 2 लड़के शराब पीने बैठने की जिद कर रहे थे। होटल मालिक द्वारा मना करने पर उसके साथ गाली गलौज करते हुए मारपीट की गई। मामले की सूचना मिलने पर पेट्रोलिंग पार्टी को मौके पर भेजी गई और दोनों लड़कों को थाना लाया गया। पूछताछ में उन्होंने अपना नाम ग्राम पकरिया निवासी विरेन्द्र साहू पिता पंचराम साहू व जरहाभाठा निवासी विशाल पिता राजेश सूर्यवंशी बताया। शिकायत में थाना प्रभारी ने कहा है कि रात 9.30 बजे के आसपास शासकीय मोबाइल पर विधायक पुत्र विक्रम उर्फ सोनू क्षत्री ने अपने मोबाइल से काॅल दोनों लड़कों को खुद का कार्यकर्ता बताते हुए उन्हंे छोड़ने को कहा। थाना प्रभारी ने उनसे आग्रह किया कि होली तक हस्तक्षेप न करें। इसी बात पर नाराज होकर विधायक पुत्र ने गाली गलौज की। इसके कुछ देर बाद विधायक ने काॅल कर गाली गलौज की। यहां तक विधायक ने थाना प्रभारी की कोई बात नहीं सुनी। जब थाना प्रभारी ने कहा कि मैं गांव की ओर हूं, तब वो बोले रूक वहीं, जिन्दा नहीं छोड़ूगा। यहां तक विधायक ने कहा उनके पास लाइसेंसी हथियार है लेकर आ रहा हूं, गोली मारूंगा। बाद में थाना प्रभारी से संपर्क नहीं होने के कारण विधायक राजू सिंह क्षत्री, उनके पुत्र सोनू उर्फ विक्रम सिंह क्षत्री तथा आयुष ठाकुर, मनीष यादव व अमित सिंह ठाकुर ने थाना प्रभारी के शासकीय निवास पर खड़ी कार क्रमांक सीजी 04 एमके 9936 पर तोड़फोड़ की। थाना प्रभारी ने एसपी से कहा है इस घटना से वे भयभीत है और वो तखतपुर थाना में काम करने में असमर्थ है। उन्होंने तबादले के साथ ही आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

ब्रेकिंग
बिलासपुर: ताइक्वांडो नेशनल रैफरी सेमिनार एवँ Award का हुआ समापन बिलासपुर: कौन है यह विक्रम..? -अंकित बिलासपुर: भाजयुमो ने किया बिजली ऑफिस का घेराव बिलासपुर: शहीद की माता को पेंशन दिलाने महिला आयोग मुख्य सचिव और डीजीपी को लिखेगा पत्र बिलासपुर: यदुनंदन नगर में महिला के घर घुसा एक युवक, जानिए उसके बाद क्या हुआ, देखिए VIDEO बिलासपुर: अधिवक्ता प्रकाश सिंह की शिकायत पर एडिशनल कलेक्टर कुरुवंशी ने जाँच के बाद दुष्यंत कोशले और ... बिलासपुर: सारनाथ एक्सप्रेस दिसंबर से फरवरी तक 38 दिन रद्द, यात्रियों की बढ़ेगी मुश्किलें बिलासपुर: भाजपा-कांग्रेस के नेता नूरा-कुश्ती के तहत आदिवासी को ही चाहते हैं निपटाना: नेताम बिलासपुर: खमतराई की खसरा नंबर 561/21 एवँ 561/22 में से सैय्यद अब्बास अली, मो.अखलाख खान, शबीर अहमद, त... बिलासपुर: पति की अनुपस्थिति में दीनदयाल कॉलोनी निवासी लक्की खान ने पत्नी के साथ कर दी अश्लील हरकत, ज...
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772