ब्रेकिंग
बिलासपुर: इस प्रकरण ने SSP पारूल माथुर के सूचना तंत्र की खोली पोल तिफरा ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष लक्ष्मीनाथ साहू के नेतृत्व में निकली हाथ से हाथ जोड़ो यात्रा बिलासपुर के नए एसपी होंगे संतोष कुमार सिंह बिलासपुर: आखिर क्यों चर्चा में है तखतपुर तहसीलदार शशांक शेखर शुक्ला? बिलासपुर: इस बार कोटा SDM हरिओम द्विवेदी सुर्खियों में आए पामगढ़: अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त नृत्यांगना वासंती वैष्णव एवँ सुनील वैष्णव के निर्देशन में 26 जनव... बिलासपुर: जाँच के दौरान कार में मिली 22 किलो 800 ग्राम कच्ची चाँदी, व्यापारी के द्वारा पेश किया गया ... बिलासपुर: सदभाव पत्रकार संघ छत्तीसगढ़ के पदाधिकारियों ने मंत्री जयसिंह अग्रवाल को दिया नववर्ष मिलन सम... बिलासपुर: पत्रकार शाहनवाज की सड़क हादसे में मौत, सदभाव पत्रकार संघ छत्तीसगढ़ ने शोक व्यक्त कर दी श्रद्... बिलासपुर: रतनपुर थाना क्षेत्र में कार में 3 जिंदा जले, पेड़ से टकराने के बाद कार में लगी आग, अंदर ही ...

अमर के स्वास्थ्य शिविर पर शैलेष ने साधा निशाना, कहा- बीमारी बांटकर सेवा करने का अच्छा फार्मूला….

बिलासपुर। नगरीय प्रशासन मंत्री अमर अग्रवाल के नेतृत्व में आयोजित स्वास्थ्य शिविर पर कांग्रेस ने निशाना साधा है। कांग्रेस नेता शैलेष पाण्डेय ने कहा कि दस सालों से बीमारी परोसने वाले मंत्री का लोगों की सेवा का ढोंग करने का अच्छा फार्मूला है। पहले तो मंत्री शहरवासियों को दस सालों तक भरपूर बीमारी परोसते रहे, फिर अब जब लोग कई तरह के बीमारी से ग्रसित हो चुके हैं तो चुनावी साल में शिविर लगाकर उनका ईलाज कराने किया जा रहा है, लेकिन बिलासपुर की जनता सब समझ चुकी है। वो इस बार मंत्री का फार्मूला नहीं चलने देगी।

शैलेश ने कहा कि हरा-भरा, स्वच्छ और स्वस्थ बिलासपुर एक सीवरेज प्रोजेक्ट के चलते प्रदूषण से भरा बिलासपुर बन गया है। विकास के नाम पर हजारों पेड़ों की बलि चढ़ा दी गई। विकास तो लोगों को दिखा नहीं, बल्कि विनाश जरूर देखने को मिला। एक सीवरेज प्रोजक्ट के चलते पिछले दस सालों से बिलासपुर में हर रोज लोग घर, सड़क या आफिस में चैबीसों घंटे बीमारी की खुराक गुटक रहे हैं। शहरवासियों के लिए यह परियोजना जानलेवा बन चुकी है। लोग बीमार पड़ पड़कर दिन-रात डाक्टरों के चक्कर काट रहे हैं। उन्होंने कहा कि लोगों को दमा, खांसी, टीबी, कैंसर जैसे ना जाने कई तरह के बीमारी का सामना करना पड़ रहा है। 10 साल से गढ्ढों से भरे सड़कों पर चल-चलकर लोगों को बैकपैन, चेस्ट पैन जैसे कई तरह के दर्दों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि इस परियोजना ने शहरवासियों का जीना मुहाल कर रखा है। इन दस सालों में एयर कंडीशनर कार में घूमने वाले मंत्री को शहरवासियों का दुख दर्द का अहसास नहीं हुआ। अब जब चुनावी साल में शहरवासियों की वोट देने की बारी आई, तो खुद को शहरवासियों का शुभचिंतक बताने की कोशिश कर रहे हैं। हर वार्ड में स्वास्थय शिविर का ढकोसला कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मंत्री जी को एक बात याद रखनी चाहिए कि जनता चुनावी साल का फार्मूला समझ चुकी है। जनता जानती है कि हर चुनाव से पहले किस तरह इस चुनाव के पहले भी सड़कों की खुदाई बंद कराई जा रही है। चुनाव के बाद सीवरेज के लिए फिर से सड़कों की खुदाई होगी। पहले सीवरेज परियोजना के लिए होती रही है, अब अमृत मिशन के लिए सड़क खोदी जाएगी। चुनाव के बाद फिर चुनावी चकाचक सड़कें गढ्ढें में तब्दील हो जाएगी। उन्होंने कहा अब स्वास्थ्य शिविर लगाओ या सड़क को चकाचक बनवाने का ढोंग करो, जनता तो बदलाव के मूड में हैं। बिलासपुर के लोगों को धूलभरी जिंदगी से आजादी चाहिए, जो इस बार अपने वोट के माध्यम से आजादी की लड़ाई जीतेंगे।

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772