ब्रेकिंग
बिलासपुर: पुलिस अधिकारियों के अपराधियों से हैं अच्छे संबंध, जानिए इस सवाल पर क्या बोले नए एसपी संतोष बिलासपुर: एकता और सदभावना का संदेश लेकर चल रही है हाथ से हाथ जोड़ो यात्रा- लक्ष्मीनाथ साहू बिलासपुर में दो दिवसीय अखिल भारतीय नृत्य-संगीत समारोह विरासत 4 फरवरी से 30 जनवरी को दो मिनट के लिए ठहर जाएगा बिलासपुर, जानिए क्यों… बिलासपुर: इस प्रकरण ने SSP पारूल माथुर के सूचना तंत्र की खोली पोल तिफरा ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष लक्ष्मीनाथ साहू के नेतृत्व में निकली हाथ से हाथ जोड़ो यात्रा बिलासपुर के नए एसपी होंगे संतोष कुमार सिंह बिलासपुर: आखिर क्यों चर्चा में है तखतपुर तहसीलदार शशांक शेखर शुक्ला? बिलासपुर: इस बार कोटा SDM हरिओम द्विवेदी सुर्खियों में आए पामगढ़: अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त नृत्यांगना वासंती वैष्णव एवँ सुनील वैष्णव के निर्देशन में 26 जनव...

बैंक यूनियनों ने 15 मार्च की हड़ताल स्थगित की ……

युनाईटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस की बैठक में लिया गया निर्णय

 

बिलासपुर। अखिल भारतीय बैंक का हड़ताल 15 मार्च को तय था, लेकिन युनाईटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस के सभी घटकों ने चेन्नई में आयोजित एक बैठक में इसे स्थगित कर दिया। वहीं 21 मार्च को दिल्ली में धरना देने का निर्णय लिया गया। बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लेते हुए रिफार्म के नाम पर निजीकरण की मुहिम का पुरजोर विरोध किया जाएगा।

ऑल इंडिया बैंक ऑफीसर्स कनफेडेरेशन के सहायक महासचिव ललित अग्रवाल ने बताया कि सरकार व रिजर्व बैंक द्वारा आम जनता के सार्वजनिक बैंकों की छवि धूमिल करने वाली पॉलिसी को बदलने की मांग की जाएगी। इसके लिए 21 मार्च को दिल्ली में धरना दिया जाएगा। चार अधिकारी संगठन आइबोक, एआईबीओए, इनबोक व नोबो ने सीवीसीके कहने पर बैंको द्वारा अप्रेल के पहले मिडटर्म ट्रांसफर कर बैंक अधिकारियों के कैरियर व उनके परीक्षा दे रहे बच्चों के भविष्य से खिलवाड़ करने की भत्र्सना की गई। उन्होंने डीएफएस व रिजर्व बैंक को पत्र लिखकर भारतीय अर्थव्यवस्था के अनुकूल नई एनपीए क्लासिफिकेशन नीति बनाने के लिए संसद का विशेष सत्र आयोजित करवाने की मांग की है। आईबोक के महासचिव डी फ्रेंको ने एसोचैम के अध्यक्ष को सलाह दी है कि वे बैंकों के निजीकरण की मांग के बजाय एनपीए डिफाल्टर सदस्यों को निर्देश दे कि वे बैंको की दीर्घ बकाया ऋण का तत्काल भुगतान करे, ताकि अन्य जरूरतमंद को समय पर पर्याप्त ऋण स्वीकृत करते हुए बैंकांे को प्रॉफिट में लाया जाए। बैठक में सर्वसम्मति से बैंक डिफाल्टरों के नाम सार्वजनिक कर उनके खिलाफ कठोर कार्यवाही करने की मांग की गई है। आम जनता से अपील की गई है कि वे अफवाहों पर ध्यान ना दे। सार्वजनिक बैंकों में जमा राशि पूर्णतया सुरक्षित है।
——-

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772