ब्रेकिंग
बिलासपुर: पुलिस अधिकारियों के अपराधियों से हैं अच्छे संबंध, जानिए इस सवाल पर क्या बोले नए एसपी संतोष बिलासपुर: एकता और सदभावना का संदेश लेकर चल रही है हाथ से हाथ जोड़ो यात्रा- लक्ष्मीनाथ साहू बिलासपुर में दो दिवसीय अखिल भारतीय नृत्य-संगीत समारोह विरासत 4 फरवरी से 30 जनवरी को दो मिनट के लिए ठहर जाएगा बिलासपुर, जानिए क्यों… बिलासपुर: इस प्रकरण ने SSP पारूल माथुर के सूचना तंत्र की खोली पोल तिफरा ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष लक्ष्मीनाथ साहू के नेतृत्व में निकली हाथ से हाथ जोड़ो यात्रा बिलासपुर के नए एसपी होंगे संतोष कुमार सिंह बिलासपुर: आखिर क्यों चर्चा में है तखतपुर तहसीलदार शशांक शेखर शुक्ला? बिलासपुर: इस बार कोटा SDM हरिओम द्विवेदी सुर्खियों में आए पामगढ़: अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त नृत्यांगना वासंती वैष्णव एवँ सुनील वैष्णव के निर्देशन में 26 जनव...

दिल्ली पुलिस ने खाली कराया शाहीन बाग, 3 महीने से चल रहा था प्रदर्शन

  • दिल्ली के शाहीन बाग में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ पिछले 100 दिनों से चल रहे प्रदर्शन पर पुलिस ने कार्रवाई की है। पुलिस ने मंगलवार सुबह प्रदर्शन स्थल को पूरी तरह से खाली करवा लिया है। इसके अलावा वहां प्रदर्शन के दौरान लगाए गए टेंट को भी हटा दिया गया है।
  • संशोधित नागरिकता कानून के ख़िलाफ़ शाहीनबाग में चल रहा आंदोलन आखिरकार प्रदर्शनकारियों से खाली हो गया। सीएए के खिलाफ शाहीनबाग में 100 दिन से चल रहे आंदोलनकारियों के खिलाफ दिल्ली पुलिस ने आज सुबह कार्रवाई की और प्रदर्शनकारियों को हटा कर रास्ता खुलवा दिया। इसके अलावा वहां प्रदर्शन के दौरान लगाए गए टेंट को भी हटा दिया गया है।
  • साउथ-ईस्ट दिल्ली के डीसीपी ने बताया कि शाहीन बाग में चल रहे प्रदर्शन वाली जगह से लोगों को हटा दिया गया है। आने-जाने के लिए रास्ते को खाली कराया जा रहा है। उन्होंने कहा, ‘इस कार्रवाई के लिए बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स बुलाई गई थी। डीसीपी ने ये भी कहा कि कोरोना वायरस की वजह से प्रदर्शनकारियों से अपील की थी कि वे अपना प्रदर्शन खत्म कर दे लेकिन वह नहीं माने लिहाज़ा पुलिसिया कार्रवाई करनी पड़ी और शाहीन बाग से प्रदर्शनकारियों को हटाना पड़ा
  • प्रदर्शन स्थल पर पुलिस की 10 कंपनी लगाई गई हैं। पुलिस चार ट्रक में सामान भरकर ले जा रही है। इससे पहले पुलिस ने कार्रवाई करने के लिए आसपास की गलियों को ब्लॉक कर दिया था। बड़ी संख्या में महिला और पुरुष पुलिस की तैनाती की गई थी, जिससे कोई टकराव की स्थिति ना हो।
  • शाहीन बाग में सीएए के खिलाफ प्रदर्शन का मामला सुप्रीम कोर्ट में भी गया था। इसके बाद सुनवाई करते हुए कोर्ट ने तीन वार्ताकारों को नियुक्त किया था। कोर्ट ने वार्ताकारों से कहा था कि वे प्रदर्शन स्थल पर जाकर प्रदर्शनकारियों से प्रदर्शन खत्म करने के लिए तैयार करें लेकिन वार्ताकार इसमें सफल नहीं हो सके थे।
  • इससे पहले शाहीन बाग में लोगों से 31 मार्च तक प्रदर्शन स्थल से दूरी रहने और घर बैठकर सोशल मीडिया के माध्यम से अपनी मुहिम को जारी रखने की अपील की गई थी। लोगों को सलाह दी गई थी कि वह मंच, प्रदर्शनस्थल के आसपास एकत्रित न हों और कोरोना से बचाव के लिए हर संभव कदम उठाएं।

source-DD NEWS

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772