ब्रेकिंग
बिलासपुर: कार्य की धीमी गति पर कंपनी के साथ जिम्मेदार अधिकारियों पर भी की जानी चाहिए थी कार्यवाही, स... बिलासपुर: महादेव और रेड्डी अन्ना बुक के सटोरियों पर पुलिस की बड़ी कार्यवाही बिलासपुर: जूनी लाइन स्थित सुरुचि रेस्टोरेंट के पास रहने वाले कृष्ण कुमार वर्मा के बड़े बेटे श्रीकांत ... बिलासपुर में UP65/ EC- 4488 नँबर की कार से जब्त हुए 5 लाख नकद बिलासपुर: सदभाव पत्रकार संघ छत्तीसगढ़ की बैठक में संगठन की मजबूती पर चर्चा बिलासपुर: शैलेश, अर्जुन, रामशरण और विजय ने कहा- पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल के कार्यकाल में भाजपा के पू... बिलासपुर: मुफ्त वैक्सीन के लिए अब केवल 7 दिन शेष, कलेक्टर ने की अपील, सभी लगवा लें टीका बिलासपुर: मोपका और चिल्हाटी के 845/1/न, 845/1/झ, 1859/1, 224/380, 1053/1 खसरा नँबरों की शासकीय भूमि ... बिलासपुर: क्या अमर अग्रवाल की बातों को गंभीरता से लेंगे कलेक्टर सौरभ कुमार? नेहरू चौक में लगी थी राज... बिलासपुर: इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के द्वारा नर्सिंग और गैर नर्सिंग स्टाफ़ के व्यक्तित्व विकास एवं कम्...

स्वास्थ्य मंत्री ने 6 जिला अस्पतालों में किया निःशुल्क डायलिसिस सुविधा का शुभारंभ,विडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए लोकार्पण

कांकेर, महासमुंद, बिलासपुर, दुर्ग, कोरबा और जशपुर
में भी अब डायलिसिस सुविधा

रायपुर/स्वास्थ्य मंत्री टी.एस. सिंहदेव ने आज यहां अपने निवास कार्यालय में वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए छह जिला चिकित्सालयों में निःशुल्क डायलिसिस सुविधा का शुभारंभ किया। ‘जीवन धारा’ नाम से शुरु हुई इस नई सुविधा के लिए राष्ट्रीय फ्री डायलिसिस कार्यक्रम के तहत जिला अस्पतालों में डायलिसिस मशीनें स्थापित की गई हैं। कांकेर, महासमुंद, दुर्ग, बिलासपुर, कोरबा और जशपुर में डायलिसिस की सुविधा शुरू होने से किडनी रोगों से पीड़ितों को इसके लिए अब दूर नहीं जाना पड़ेगा।
    

स्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना वायरस के प्रकोप और इस संबंध में जारी एडवाइजरी के मद्देनजर सभी छह जिलों में इस सुविधा का शुभारंभ अपने निवास कार्यालय से चुनिंदा विभागीय अधिकारियों की मौजूदगी में विडियो  कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से किया। उद्घाटन के दौरान सभी  जिला अस्पतालों में भी काफी सीमित लोग मौजूद थे। ‘जीवन धारा’ कार्यक्रम के तहत दुर्ग, कांकेर, कोरबा और जशपुर जिला चिकित्सालयों में पांच-पांच यूनिट, बिलासपुर में चार एवं महासमुंद में तीन डायलिसिस यूनिट की स्थापना की गई है। कार्यक्रम के अंतर्गत फेयरफैक्स इंडिया चैरिटेबल फाउंडेशन (ट्रस्ट), मुंबई द्वारा छत्तीसगढ़ में कुल 30 डायलिसिस मशीन निःशुल्क उपलब्ध कराई गई है।
    

डायलिसिस सुविधा का लोकार्पण करते हुए स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि किडनी रोगों से ग्रस्त मरीजों को लंबे समय तक बार-बार डायलिसिस कराना पड़ता है। इससे उन पर बड़ा आर्थिक बोझ पड़ता है। डायलिसिस की सुविधा राज्य में कुछ ही शहरों में है। लोगों की समस्याओं को ध्यान में रखते हुए राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत छह जिला चिकित्सालयों में यह निःशुल्क सुविधा शुरू की जा रही है। इससे उन्हें अपने क्षेत्र में ही त्वरित इलाज मिलेगा। आने वाले समय में सभी जिला अस्पतालों में डायलिसिस की सुविधा शुरू की जाएगी।

सिंहदेव ने विडियो  कॉन्फ्रेसिंग के जरिए चार जिला अस्पतालों में डायलिसिस मशीनों एवं अन्य व्यवस्थाओं का भी अवलोकन किया। ‘जीवन धारा’ कार्यक्रम के अंतर्गत डायलिसिस मशीनों के संचालन के लिए केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के निर्देशानुसार निविदा के माध्यम से एसकैग (ESKAG) संजीवनी प्राइवेट लिमिटेड, कोलकाता का चयन किया गया है।

विडियो  कॉन्फ्रेसिंग में स्वास्थ्य विभाग की सचिव श्रीमती निहारिका बारिक सिंह, विशेष सचिव डॉ. सी.आर. प्रसन्ना, संचालक स्वास्थ्य सेवाएं नीरज बंसोड़ और राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की संचालक डॉ. प्रियंका शुक्ला भी मौजूद थीं।

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772