ब्रेकिंग
तखतपुर क्षेत्र की तीन नाबालिग छात्राओं को दो युवकों ने झांसे में लिया और अरब सागर ले गए, जानिए उसके ... CG: स्वामी आत्मानंद शासकीय इंग्लिश स्कूल की छात्रा रितिका ध्रुव का इसरो में चयन बिलासपुर: नगर निगम कमिश्नर अजय कुमार त्रिपाठी को मिली भिलाई-चरौदा की कमान, SDM तुलाराम भारद्वाज को भ... बिलासपुर: जिला पंचायत सभापति अंकित गौरहा को प्रदेश युवा संगठन चुनाव में मिली नई जिम्मेदारी बिलासपुर: मुख्यमंत्री जी! क्लेक्टर सौरभ कुमार को इस सड़क में हुआ भ्रष्टाचार नहीं आ रहा नजर. प्रियंका ... बिलासपुर: टिकरापारा मन्नू चौक निवासी रिशु घोरे को पुलिस ने चाकू के साथ किया गिरफ्तार बिलासपुर: पावर लिफ्टर निसार अहमद एवं अख्तर खान रविंद्र सिंह के हाथों हुए सम्मानित बिलासपुर: भाजपा पार्षद दल ने पुलिस ग्राउण्ड में जिला प्रशासन से रावण दहन की मांगी अनुमति बिलासपुर तहसीलदार अतुल वैष्णव का सक्ति और ऋचा सिंह का रायगढ़ हुआ ट्रांसफर बिलासपुर: आरोपी अमित भारते, जितेंद्र मिश्रा और संदीप मिश्रा को नहीं पकड़ पा रही है SSP पारूल माथुर की...

सरकार के पहले बजट पर अमित जोगी ने कसा तंज, गिनवाएं 7 वादाखिलाफी


छत्तीसगढ़ बजट: बघेल सरकार ने शुक्रवार को विधानसभा में अपना पहला बजट पेश किया। बजट पर अलग-अलग राजनीतिक पार्टियों की ओर से कई तरह की प्रतिक्रियाएं आ रही है। आपको बता दें कि जनता जोगी कांग्रेस के अध्यक्ष अमित जोगी ने सरकार के इस बजट को निराशाजनक बताते हुए सरकार पर हमला किया। उन्होंने कहा कि भूपेश के पहले ही बजट में 7 वादाखिलाफ़ी हैं। 
अमित जोगी ने गिनवाएं ये 7 वादाखिलाफी

  • किसानों की क़र्ज़ माफ़ी को लेकर सरकार का “एक नवजात शिशु की तरह क़दम उठाना” बेहद निराशाजनक
  • जनघोषणा पत्र के अनुरूप शराबबंदी और बेरोज़गारी भत्ता के लिए बजट में कोई प्रावधान न करना, सरकार की दूसरी वादाखिलाफ़ी है। 
  • पुलिसकर्मियों को जीवन बीमा और साप्ताहिक छुट्टी न देना पंचायत सचिव, कोटवार, रोज़गार सहायक, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, मितानिन, ग्राम पटेल और रसोईया के नियमितिकरण का बजट में कोई प्रावधान नहीं रखना, सरकार की तीसरी वादाखिलाफ़ी।
  • प्रदेश के 85 प्रतिशत उपभोक्ता 400 यूनिट बिजली प्रतिमाह से अधिक की खपत करते हैं, उनको बिजली बिल हाफ़ का कोई फ़ायदा नहीं।
  • स्टेट जी॰एस॰टी॰, पेट्रोल और डीज़ल पर वैट और बिजली शुल्क की वसूली में कटौती न करना, सरकार की पाँचवी वादाखिलाफ़ी। 
  • रमन सरकार ने भूमि-अधिग्रहण की दर आधा (मार्केट दर से चार से दो गुना करने का निर्णय) कर दी थी। इसे यथावत न रखना सरकार की छटवी वादाखिलाफ़ी।
  • सरकार द्वारा आउट्सॉर्सिंग नीति पर स्पष्ट रूप से रोक न लगाना, स्वास्थ और शिक्षा सेवाओं में 23, 456 रिक्त पदों में भर्तियाँ न करना- सरकार की सातवी वादाखिलाफ़ी।
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772