ब्रेकिंग
बिलासपुर: जिला पंचायत सभापति अंकित गौरहा को प्रदेश युवा संगठन चुनाव में मिली नई जिम्मेदारी बिलासपुर: मुख्यमंत्री जी! क्लेक्टर सौरभ कुमार को इस सड़क में हुआ भ्रष्टाचार नहीं आ रहा नजर. प्रियंका ... बिलासपुर: टिकरापारा मन्नू चौक निवासी रिशु घोरे को पुलिस ने चाकू के साथ किया गिरफ्तार बिलासपुर: पावर लिफ्टर निसार अहमद एवं अख्तर खान रविंद्र सिंह के हाथों हुए सम्मानित बिलासपुर: भाजपा पार्षद दल ने पुलिस ग्राउण्ड में जिला प्रशासन से रावण दहन की मांगी अनुमति बिलासपुर तहसीलदार अतुल वैष्णव का सक्ति और ऋचा सिंह का रायगढ़ हुआ ट्रांसफर बिलासपुर: आरोपी अमित भारते, जितेंद्र मिश्रा और संदीप मिश्रा को नहीं पकड़ पा रही है SSP पारूल माथुर की... बिलासपुर: कलेक्टर सौरभ कुमार ने सरकार हित में सरकारी जमीन बचाने वाले अधिवक्ता प्रकाश सिंह के साथ किय... बिलासपुर: उस्लापुर के रॉयल पार्क में नजर आएगी गरबा की धूम, थिरकने के लिए तैयार हैं शहरवासी बिलासपुर: कार्य की धीमी गति पर कंपनी के साथ जिम्मेदार अधिकारियों पर भी की जानी चाहिए थी कार्यवाही, स...

आंगनबाड़ी सहायिका पर जानलेवा हमले की घटना में पुलिस ने सभी आरोपियों को किया गिरफ्तार



बिलासपुर /पिछले महीने 15 तारीख को आंगनबाड़ी सहायिका आहिता पर हुए जानलेवा हमले की घटना में पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। मामला थाना तखतपुर क्षेत्र के गांव मोतिमपुर का है जहां पारिवारिक रंजिशों की वजह से इस घटना को अंजाम दिया गया था। 

क्या है पूरा मामला

दरअसल आहिता की शादी साल 1987 में हुआ था। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आहिता के पति का चक्कर किसी और महिला के साथ था और उसने अपने प्रेमिका के साथ दूसरी शादी कर ली। आहिता से यह देखा नहीं गया और वो अपने पति से अलग रहने लगी। आहिता ने अपने पति के खिलाफ दहेज प्रकरण और घरेलू हिंसा का केस ठोक दिया। इससे आहिता की सौतन उर्मिला भास्कर बौखला गई और कई बार उसे समझाने की कोशिश भी की लेकिन लाख कोशिशों के बाद आहिता नहीं मानी तो उसे मौत के घाट उतार देने का प्लान बनाया। उर्मिला ने यशवंत नाम के एक शख्स को आहिता को जान से मारने के लिए डेढ़ लाख की सुपारी दी। यशवंत ने अपने दोस्त के साथ मिलकर आहिता को मारने का पूरा प्लान बनाया और प्लान के मुताबिक 15 जनवरी की दोपहर कट्टे से उस पर हमला किया और फरार हो गए। हालांकि गनीमत रही कि हमले में आहिता की जान बच गयी।

पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश में जुट गई और जल्द ही सफलता हाथ लगी। पुलिस ने पहले आहिता की सौतन उर्मिला को गिरफ्तार किया और फिर घटना में शामिल बाकी आरोपियों की सिनाख्त कर धर दबोचा। 

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772