ब्रेकिंग
बिलासपुर: कार्य की धीमी गति पर कंपनी के साथ जिम्मेदार अधिकारियों पर भी की जानी चाहिए थी कार्यवाही, स... बिलासपुर: महादेव और रेड्डी अन्ना बुक के सटोरियों पर पुलिस की बड़ी कार्यवाही बिलासपुर: जूनी लाइन स्थित सुरुचि रेस्टोरेंट के पास रहने वाले कृष्ण कुमार वर्मा के बड़े बेटे श्रीकांत ... बिलासपुर में UP65/ EC- 4488 नँबर की कार से जब्त हुए 5 लाख नकद बिलासपुर: सदभाव पत्रकार संघ छत्तीसगढ़ की बैठक में संगठन की मजबूती पर चर्चा बिलासपुर: शैलेश, अर्जुन, रामशरण और विजय ने कहा- पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल के कार्यकाल में भाजपा के पू... बिलासपुर: मुफ्त वैक्सीन के लिए अब केवल 7 दिन शेष, कलेक्टर ने की अपील, सभी लगवा लें टीका बिलासपुर: मोपका और चिल्हाटी के 845/1/न, 845/1/झ, 1859/1, 224/380, 1053/1 खसरा नँबरों की शासकीय भूमि ... बिलासपुर: क्या अमर अग्रवाल की बातों को गंभीरता से लेंगे कलेक्टर सौरभ कुमार? नेहरू चौक में लगी थी राज... बिलासपुर: इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के द्वारा नर्सिंग और गैर नर्सिंग स्टाफ़ के व्यक्तित्व विकास एवं कम्...

कृषि वैज्ञानिक केंद्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक दुष्यंत पर मानसिक एवं शारीरिक प्रताड़ना का आरोप


बिलासपुर। कृषि विज्ञान केंद्र में वस्तु विशेषज्ञ के पद पर पदस्थ शिल्पा कौशिक पति स्व. हरीश कौशिक ने केंद्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ.दुष्यंत कुमार कौशिक पर मानसिक एवं शारीरिक प्रताड़ना का आरोप लगाते हुए कलेक्टर को ज्ञापन देकर प्रभारी वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ.दुष्यंत के विरुद्ध अपराध कायम करने की मांग की है। पीड़िता ने बताया कि डॉ. दुष्यंत से मेरा पुराना परिचय है दोनों की सामान्य बातचीत थी। लेकिन मेरे पति के स्वर्गीय होने के बाद से व्यवहार बदल गया वह मुझसे बदसुलूकी कर उल-जुलूल बातें करने लगे। मुझे मानसिक व शारिरिक प्रताड़ित करने लगे। विरोध करने पर अपने पद की रौबदारी दिखाई मुझसे बड़े पद पर होने के कारण मुझपर दंडात्मक कार्रवाई करने की भी धमकी दी।

पीड़िता शिल्पा की नियुक्ति सन 2012 में विषय वस्तु विशेषज्ञ के पद पर हुई थी। 2014 में सेवा नियमित हुई थी इसके पश्चात से लेकर अब तक वह कृषि विज्ञान केंद्र बिलासपुर में वस्तु विशेषज्ञ के पद पर पदस्थ है। शिल्पा कौशिक ने आरोप लगाते हुए कहा है कि डॉ. दुष्यंत कुमार कौशिक उनके साथ अनर्गल व्यवहार करता है। जानबूझकर केबिन में आ जाना, किसी न किसी बहाने से छूने का प्रयत्न करना, अनैतिक मांग लगातार करना। मानसिक रूप से विचलित करना, आपराधिक प्रकरण के आधार पर नौकरी से हटाने की धमकी लगातार देने से वह तंग हो चुकी है।
पीड़िता ने बताया कि इस संबंध में कार्य क्षेत्र में होने वाले लैंगिक अपराधों के निराकरण के लिए गठित ‘विशाखा कमेटी’ के समक्ष भी 14 नवंबर 2018 को शिकायत की। लेकिन अब तक कोई भी कार्यवाही नहीं हुई। इससे डॉ.दुष्यंत के हौसले और बुलंद हो गए और वह लगातार अनैतिक कृत्य के लिए दबाव बनाने लगा। पीड़िता ने डॉ. दुष्यंत कुमार कौशिक के विरुद्ध 354, 354a, 509 के अंतर्गत अपराध दर्ज कर कार्रवाई करने की मांग की है।

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772