ब्रेकिंग
बिलासपुर: कार्य की धीमी गति पर कंपनी के साथ जिम्मेदार अधिकारियों पर भी की जानी चाहिए थी कार्यवाही, स... बिलासपुर: महादेव और रेड्डी अन्ना बुक के सटोरियों पर पुलिस की बड़ी कार्यवाही बिलासपुर: जूनी लाइन स्थित सुरुचि रेस्टोरेंट के पास रहने वाले कृष्ण कुमार वर्मा के बड़े बेटे श्रीकांत ... बिलासपुर में UP65/ EC- 4488 नँबर की कार से जब्त हुए 5 लाख नकद बिलासपुर: सदभाव पत्रकार संघ छत्तीसगढ़ की बैठक में संगठन की मजबूती पर चर्चा बिलासपुर: शैलेश, अर्जुन, रामशरण और विजय ने कहा- पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल के कार्यकाल में भाजपा के पू... बिलासपुर: मुफ्त वैक्सीन के लिए अब केवल 7 दिन शेष, कलेक्टर ने की अपील, सभी लगवा लें टीका बिलासपुर: मोपका और चिल्हाटी के 845/1/न, 845/1/झ, 1859/1, 224/380, 1053/1 खसरा नँबरों की शासकीय भूमि ... बिलासपुर: क्या अमर अग्रवाल की बातों को गंभीरता से लेंगे कलेक्टर सौरभ कुमार? नेहरू चौक में लगी थी राज... बिलासपुर: इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के द्वारा नर्सिंग और गैर नर्सिंग स्टाफ़ के व्यक्तित्व विकास एवं कम्...

जिले के 53 हज़ार दो सौ किसानों को मिलेगा ऋणमाफ़ी का लाभ, किसानों ने मुख्यमंत्री का जताया आभार


बिलासपुर। धान खरीदी मूल्य में वृद्धि एवं कर्जमाफ़ी के निर्णय से प्रदेश भर के किसान अपनी खुशी जाहिर कर रहे हैं। इसके तहत जिले के 53 हजार किसान के 200 करोड़ रूपये का ऋण माफ होगा। सरकारी केंद्र में धान बेच में पहुंच रहे किसानों से बात करने पर उन्होंने इस निर्णय को स्वागत योग्य बताया और कहा कि इस निर्णय से प्रदेश भर के किसानों की चेहरे पर मुस्कान आई है। पहले किसान कर्ज को लेकर बह चिंतित रहते थे। आर्थिक स्थिति ठीक न होने के कारण भी बड़ी परेशानियों का सामना करना पड़ता था। मगर सरकार के निर्णय ने उनके जीवन में खुशियां भर दी है आइए जानते हैं कि किसानों का क्या कहना है।

असमंजय घोष ने बताया कि परिवार के भरण-पोषण और खेती के लिए उन्होंने 20 हजार रूपये का कर्ज़ लिया है। इसे चुका पाने की क्षमता मुझमें नहीं थी। मेरे घर की आर्थिक स्थिति लगातार बिगड़ती जा रही थी। इसी बीच सरकार के ऋण माफी के फैसले ने मेरी सारी चिंताएं दूर कर दी है। अब मैं नए साल में धूमधाम से बेटी की शादी की तैयारी कर रहा हूं। बोदरी के श्री घोष ने बताया कि उनके पास 5 एकड़ 64 डिसमिल खेत है जिसमें वे धान उगाते हैं। 6 बेटे और 1 बेटी की पढ़ाई का खर्चा भी रहता है। बेटी अंजनी बीएससी कर चुकी है। पैसे की तंगी के कारण बेटी की शादी नहीं कर पा रहा था। ऋणमाफी और समर्थन मूल्य में वृद्धि के फैसले ने किसानों के चेहरे पर मुस्कान लाई है।

बोदरी के किसान रामेश्वर पर जौंधरा में 50 हजार रूपये का कर्जा है। कर्ज चुकाने में खेती के अलावा कोई और साधन नहीं। लेकिन सरकार के कर्ज माफी के निर्णय से बहुत राहत मिली है। रामेश्वर ने बताया इस साल लगभग 40 क्विंटल धान बेचा है। समर्थन मूल्य 25 सौ रुपये प्रति क्विंटल हो जाने से आर्थिक स्थिति पहले से बेहतर हुई है। और अब वह भविष्य के लिए भी कुछ पैसे बचा सकेगा।

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772