ब्रेकिंग
बिलासपुर: जूनी लाइन स्थित सुरुचि रेस्टोरेंट के पास रहने वाले कृष्ण कुमार वर्मा के बड़े बेटे श्रीकांत ... बिलासपुर में UP65/ EC- 4488 नँबर की कार से जब्त हुए 5 लाख नकद बिलासपुर: सदभाव पत्रकार संघ छत्तीसगढ़ की बैठक में संगठन की मजबूती पर चर्चा बिलासपुर: शैलेश, अर्जुन, रामशरण और विजय ने कहा- पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल के कार्यकाल में भाजपा के पू... बिलासपुर: मुफ्त वैक्सीन के लिए अब केवल 7 दिन शेष, कलेक्टर ने की अपील, सभी लगवा लें टीका बिलासपुर: मोपका और चिल्हाटी के 845/1/न, 845/1/झ, 1859/1, 224/380, 1053/1 खसरा नँबरों की शासकीय भूमि ... बिलासपुर: क्या अमर अग्रवाल की बातों को गंभीरता से लेंगे कलेक्टर सौरभ कुमार? नेहरू चौक में लगी थी राज... बिलासपुर: इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के द्वारा नर्सिंग और गैर नर्सिंग स्टाफ़ के व्यक्तित्व विकास एवं कम्... बिलासपुर: गौरांग बोबड़े हत्याकांड के आरोपी रहे किशुंक अग्रवाल के पास से जब्त हुए 20 लाख बिलासपुर: बिल्हा क्षेत्र से गायब हुई नाबालिग लड़की तेलंगाना में मिली

तीन राज्यों में कांग्रेस की बन रही है सरकार, फिर भी हो रही है किरकिरी

 हाल ही में 11 दिसंबर को पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव परिणाम आएं है, जिसमें तीन राज्यों में कांग्रेस ने परचम लहराया है, लेकिन अभी तक ​तीनों राज्यों में मुख्यमंत्री पद के नाम का ऐलान नहीं किया गया है। अगर उन राज्यों के सभी मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवारों से पुछा जाएं तो उन सब का कहना हैं कि आलाकमान जो तय करेगा, वहीं सीएम पद का दावेदार होगा। हम बात कर रहे है, राजस्थान,मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ की।

यहां पर अभी तक सीएम पद के नाम का ऐलान नहीं किया गया है। अगर हम बात करें राजस्थान की, तो यहां पर मुख्यमंत्री की कुर्सी को लेकर मथा पच्ची अभी तक जारी है, आलाकमान ने अभी तक सीएम पद के नाम की घोषणा नहीं की है।

चुनाव परिणाम आएं इतनी देर हो चुकी है, लेकिन कांगेसी आलाकमान अभी तक फैसला नहीं कर पाई है कि किसे सीएम बनाया जाएं। बुधवार को सचिन पायलट को विधायकों को समर्थन मिलने के बाद भी अभी तक मुख्यमंत्री पद के नाम की घोषणा नहीं हुई है। वहीं आज सुबह हुई बैठकों का कुछ नतीजा नहीं निकला है, फिर से अशोक गहलोत को दिल्ली बुला लिया गया है।

सचिन पायलट के समर्थकों ने किया हंगामा
राजस्थान के करौली में कथित तौर पर सचिन पायलट के समर्थकों ने हंगामा किया और हाइवे जाम कर दिया। रोडवेज की कुछ बसों में तोड़फोड़ किए जाने की भी ख़बर है। इस बीच सचिन पायलट ने ट्वीट कर अपने समर्थकों से शांति और अनुशासन बनाए रखने की अपील की है। सचिन पायलट ने ट्वीट किया, ‘ सभी कार्यकर्ताओं से शांति एवं अनुशासन बनाए रखने का आग्रह करता हूं। मुझे पार्टी के शीर्ष नेतृत्व पर पूरा विश्वास है। माननीय राहुल गांधी जी एवं श्रीमती सोनिया गांधी जी जो फ़ैसला लेंगे उसका हम स्वागत करेंगे। हम सभी कांग्रेस के समर्पित, पार्टी की गरिमा बनाये रखना हम सभी की ज़िम्मेदारी है। सचिन पायलट ने एक और ट्वीट किया, ‘मीडिया के साथियो से आग्रह है कि कृपया अफवाहों को न प्रदर्शित करें और केवल प्रमाणित खबरों को ही चलाएं। इस समय अफवाहों को रोकने में आप हमारे साथी बने। आलाकमान द्वारा दिए गए फैसले का हम स्वागत करेंगे।

सभी कार्यकर्ताओं से शांति एवं अनुशासन बनाए रखने का आग्रह करता हूँ। मुझे पार्टी के शीर्ष नेतृत्व पर पूरा विश्वास है, माननीय राहुल गाँधी जी एवं श्रीमती सोनिया गाँधी जी जो फ़ैसला लेंगे उसका हम स्वागत करेंगे। वहीं, करौली के पुलिस नियंत्रण कक्ष के मुताबिक नादौती, केमरी, महावीर जी और हिंडौन में कुछ लोग इकट्ठे हुए जिन्हें समझा बुझाकर हटा दिया गया।

भरतपुर रेंज की महानिदेशक मालिनी अग्रवाल ने कहा कि हिंडौन में कुछ लोग इकट्ठा हुए और जाम लगाने की कोशिश की लेकिन हालात सामान्य है। जयपुर में भी इनके समर्थकों ने पार्टी के प्रदेश मुख्यालय पर अपने अपने नेताओं के समर्थन में नारेबाजी की है। आपको बता दें कि राजस्थान के साथ-साथ अब मध्यप्रदेश को लेकर भी पेच फंसा है। कौन बनेगा मुख्यमंत्री इसे लेकर सस्पेंस अभी बना हुआ है।

मध्यप्रदेश का कौन होगा मुख्यमंत्री
कमलनाथ, ज्योतिरादित्य सिंधिया अभी दिल्ली में ही हैं। इस संकट का हल निकालने के लिए बैठकों का दौर अब भी जारी है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अशोक गहलोत और सचिन पायलट के साथ आज बैठक भी की लेकिन अभी कोई हल नहीं निकल सका है। अभी सोनिया गांधी भी राहुल गांधी के घर पहुंची हैं। सचिन पायलट जहां राहुल गांधी की पसंद बताए जा रहे हैं, वहीं सोनिया चाहती हैं गहलोत मुख्यमंत्री बनें।

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772