ब्रेकिंग
बिलासपुर: पावर लिफ्टर निसार अहमद एवं अख्तर खान रविंद्र सिंह के हाथों हुए सम्मानित बिलासपुर: भाजपा पार्षद दल ने पुलिस ग्राउण्ड में जिला प्रशासन से रावण दहन की मांगी अनुमति बिलासपुर तहसीलदार अतुल वैष्णव का सक्ति और ऋचा सिंह का रायगढ़ हुआ ट्रांसफर बिलासपुर: आरोपी अमित भारते, जितेंद्र मिश्रा और संदीप मिश्रा को नहीं पकड़ पा रही है SSP पारूल माथुर की... बिलासपुर: कलेक्टर सौरभ कुमार ने सरकार हित में सरकारी जमीन बचाने वाले अधिवक्ता प्रकाश सिंह के साथ किय... बिलासपुर: उस्लापुर के रॉयल पार्क में नजर आएगी गरबा की धूम, थिरकने के लिए तैयार हैं शहरवासी बिलासपुर: कार्य की धीमी गति पर कंपनी के साथ जिम्मेदार अधिकारियों पर भी की जानी चाहिए थी कार्यवाही, स... बिलासपुर: महादेव और रेड्डी अन्ना बुक के सटोरियों पर पुलिस की बड़ी कार्यवाही बिलासपुर: जूनी लाइन स्थित सुरुचि रेस्टोरेंट के पास रहने वाले कृष्ण कुमार वर्मा के बड़े बेटे श्रीकांत ... बिलासपुर में UP65/ EC- 4488 नँबर की कार से जब्त हुए 5 लाख नकद

केंद्रीय विश्वविद्यालय में कृषि मौसम के आंकड़ों के विश्लेषण पर शोध


बिलासपुर। गुरू घासीदास विश्वविद्यालय की गणितीय एवं संगणकीय अध्ययनशाला के कंप्यूटर साइंस एवं सूचना प्रौद्योगिकी विभाग में ‘‘कृषि मौसम संबंधित आंकड़ों के विश्लेषण में मशीन लर्निंग तकनीक का उपयोग‘‘ विषय पर सीआईटी विभाग के दिवाकर नायडू डॉ. बबीता मांझी, सहायक प्राध्यापक सीएसआईटी विभाग के निर्देशन में शोध कार्य कर रहे हैं। वर्तमान समय में कृषि मौसम संबंधित आंकड़ों जैसे वाष्पीकरण, वाष्पोत्सर्जन का अनुमान तापमान तथा वर्षा के आंकड़ों का पूर्वानुमान सांख्यिकीय या गणितीय विधियों द्वारा किया जाता है। 

इस अध्ययन के माध्यम से कार्य के लिए मशीन लर्निंग तकनीकी जैसे आर्टिफिशियल न्यूरल नेटवर्क, इवेल्यूशनरी टेशनल तकनीकी एवं अन्य कंप्यूटर इंटेलीजेंस तकनीकी आदि के प्रयोग से अधिक प्रभावी मॉडल विकसित किए जाएंगे। जिसके द्वारा कृषि मौसम संबंधित आंकड़ों का सटीक पूर्वानुमान किया जाना संभव हो सकेगा। इसके लिए छत्तीसगढ़ राज्य के तीन प्रमुख   कृषि जलवायु क्षेत्रों के तापमान, वायुगति, आद्रता एवं सूर्य की रौशनी की तीव्रता आदि का प्रयोग किया जाएगा।

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772