ब्रेकिंग
बिलासपुर: महादेव और रेड्डी अन्ना बुक के सटोरियों पर पुलिस की बड़ी कार्यवाही बिलासपुर: जूनी लाइन स्थित सुरुचि रेस्टोरेंट के पास रहने वाले कृष्ण कुमार वर्मा के बड़े बेटे श्रीकांत ... बिलासपुर में UP65/ EC- 4488 नँबर की कार से जब्त हुए 5 लाख नकद बिलासपुर: सदभाव पत्रकार संघ छत्तीसगढ़ की बैठक में संगठन की मजबूती पर चर्चा बिलासपुर: शैलेश, अर्जुन, रामशरण और विजय ने कहा- पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल के कार्यकाल में भाजपा के पू... बिलासपुर: मुफ्त वैक्सीन के लिए अब केवल 7 दिन शेष, कलेक्टर ने की अपील, सभी लगवा लें टीका बिलासपुर: मोपका और चिल्हाटी के 845/1/न, 845/1/झ, 1859/1, 224/380, 1053/1 खसरा नँबरों की शासकीय भूमि ... बिलासपुर: क्या अमर अग्रवाल की बातों को गंभीरता से लेंगे कलेक्टर सौरभ कुमार? नेहरू चौक में लगी थी राज... बिलासपुर: इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के द्वारा नर्सिंग और गैर नर्सिंग स्टाफ़ के व्यक्तित्व विकास एवं कम्... बिलासपुर: गौरांग बोबड़े हत्याकांड के आरोपी रहे किशुंक अग्रवाल के पास से जब्त हुए 20 लाख

आप नेता जसबीर की सजगता से घटिया निर्माण कर रहे ठेकेदार पर निगम इंजीनियरों ने की कार्रवाई

बिलासपुर। निगम के गैर-जिम्मेदार ठेकेदारों और अधिकारियों की उदासीनता का खामियाजा जनता को भुगतना पड़ रहा है। इसके बाद भी अब तक कोई सुधार नहीं। नगरीय निकाय मंत्री व शहर विधायक अमर अग्रवाल अपने भाषण में अक्सर विकास की बात करते हैं। लेकिन उन्ही के विभाग के जिम्मेदार अधिकारी इस बात से सरोकार नहीं रखते। यह फिर से जाहिर हुआ जब आम आदमी पार्टी के नेता जसबीर सिंह ने ठेकेदार द्वारा नर्मदा नगर स्थित सड़क निर्माण में घटिया सामग्री का उपयोग करने पर विरोध जताया। इसके बाद निगम के अधिकारी मौके पर पहुंचे और सड़क निर्माण में उपयोगी सामग्रियों की जांच की और गुणवत्ता में कमी पाई। फिर ठेकेदार को तत्काल घटिया मटेरियल निकालकर उच्च क्वालिटी का मटेरियल उपयोग करने के निर्देश दिए। जबकि ठेकेदार ने इसे भूल-चूक बताकर रफा-दफा करने की कोशिश की।
नर्मदानगर कालोनी में तीन सौ मीटर की लम्बी सड़क बनाने का ठेका 36 लाख रुपये में निगम ने ठेकेदार सौरभ मिश्रा को दिया है। ठेकेदार इस निर्माण में गुणवत्ताहीन मटेरियल का उपयोग कर रहा, जब आप नेता जसबीर को मालूम हुआ तो उन्होंने फौरन इसकी शिकायत निगम से की और निर्माण का विरोध किया। इसके बाद मौके पर निगम के इंजीनियर पहुंचे और उन्होंने निर्माण में प्रयोग होने वाले मटेरियल की जांच की। यहां आप नेता की शिकायत सही निकली। इसके बाद निगम के इंजीनियरों ने ठेकेदार सौरभ मिश्रा को कड़ी फटकार लगाई और घटिया मटेरियल निकालकर उच्च क्वालिटी का मटेरियल उपयोग में लाने की बात कड़ाई से कही। ऐसा ना करने पर ठेका निरस्त करने की धमकी भी दी। 
आप नेता जसबीर की सजगता से ठेकेदार का काला कारनामा उजागर हो गया। 36 लाख के ठेके में घटिया मटेरियल का इस्तेमाल किया जा रहा था। 1 फीट गहरे गड्ढे में घटिया सामग्री के उपयोग से सड़क बनाई जा रही थी। आप नेता जसबीर की दखलअंदाजी के बाद ठेकेदार की मनमानी सामने आई। अब सबसे बड़ा सवाल यह उठता है कि शहर में आए दिन सड़क धंसने की घटनाएं होती रहती है। इसका एकमात्र कारण निर्माण कार्यों में घटिया सामग्री का प्रयोग है। यदि आज आप नेता जसबीर सिंह को यह बात पता नहीं चलती, तो शायद यहां भी सड़क ऐसे ही बना दी जाती और फिर कल को कोई ना कोई सड़क धंसने का शिकार हो जाता। जबकि ठेकेदार सौरभ शर्मा का मानना है कि मटेरियल घटिया नहीं है। लेकिन इंजीनियरों की शिकायत पर फिर से कार्य किया जाएगा। 2 दिनों के भीतर गुणवत्तापूर्ण सामग्री के प्रयोग से सड़क निर्माण फिर से किया जाएगा।
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772