ब्रेकिंग
बिलासपुर: जिला पंचायत सभापति अंकित गौरहा को प्रदेश युवा संगठन चुनाव में मिली नई जिम्मेदारी बिलासपुर: मुख्यमंत्री जी! क्लेक्टर सौरभ कुमार को इस सड़क में हुआ भ्रष्टाचार नहीं आ रहा नजर. प्रियंका ... बिलासपुर: टिकरापारा मन्नू चौक निवासी रिशु घोरे को पुलिस ने चाकू के साथ किया गिरफ्तार बिलासपुर: पावर लिफ्टर निसार अहमद एवं अख्तर खान रविंद्र सिंह के हाथों हुए सम्मानित बिलासपुर: भाजपा पार्षद दल ने पुलिस ग्राउण्ड में जिला प्रशासन से रावण दहन की मांगी अनुमति बिलासपुर तहसीलदार अतुल वैष्णव का सक्ति और ऋचा सिंह का रायगढ़ हुआ ट्रांसफर बिलासपुर: आरोपी अमित भारते, जितेंद्र मिश्रा और संदीप मिश्रा को नहीं पकड़ पा रही है SSP पारूल माथुर की... बिलासपुर: कलेक्टर सौरभ कुमार ने सरकार हित में सरकारी जमीन बचाने वाले अधिवक्ता प्रकाश सिंह के साथ किय... बिलासपुर: उस्लापुर के रॉयल पार्क में नजर आएगी गरबा की धूम, थिरकने के लिए तैयार हैं शहरवासी बिलासपुर: कार्य की धीमी गति पर कंपनी के साथ जिम्मेदार अधिकारियों पर भी की जानी चाहिए थी कार्यवाही, स...

विशेषज्ञों ने “112 डायल” की टीम को दिया प्राथमिक उपचार प्रशिक्षण

बिलासपुर। कम्युनिटी पुलिसिंग को बेहतर करने के लिए व पुलिस एवं नागरिकों के बीच सीधा संबंध बनाए रखने के लिए “डायल 112” की शुरुआत की गई है। इस सुविधा को और बेहतर बनाने के लिए मंगलवार को “डायल 112” योजना के अंतर्गत कर्मचारियों को प्राथमिक उपचार का प्रशिक्षण दिया गया। दो पालियों में प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसमें सुबह 10:00 बजे से 12:00 व शाम 3:00 से 5:00 बजे तक पुलिस लाइन स्थित बिलासागुड़ी में विशेषज्ञों की टीम द्वारा “डायल 112” के कर्मचारियों को विशेष प्रशिक्षण दिया गया।
जिसमें डॉ.बी.आर होथचन्दानी एमडी मेडिसिन,  डॉ आशीष मुंद्रा हड्डी रोग विशेषज्ञ, डॉ अरविंद शुक्ला सिविल सर्जन ने बताया कि आपातकालीन स्थितियों में प्राथमिक उपचार को किस प्रकार करना है, उन्होंने प्राथमिक उपचार क्या है और हमें इसे किस प्रकार करना चाहिए, सामान्य श्वास संबंधी समस्याएं दम घुटना ब्लड शुगर को हम किस प्रकार जान सकते हैं तथा ऐसी परिस्थितियों में हम आहत हो क्या लाभ पहुंचा सकते हैं।जहर खुरानी की घटनाओं में किस मात्रा में जहर व्यक्ति द्वारा लिया गया है, तथा जहर कितना जहरीला है? इसका आंकलन किस प्रकार करना तथा उसका प्राथमिक उपचार किस प्रकार किया जाना है बताया गया। 
आगे सर्पदंश कुत्ते के काटने या किसी अन्य जीव द्वारा काटे जाने पर क्या सावधानियां बरतनी चाहिए, ताकि ऐसी स्थितियों में हम किसी व्यक्ति को मृत होने या किसी गंभीर बीमारी से बचा सकते हैं, के संबंध में जानकारी दी। विशेषज्ञों ने बताया कि ह्रदयघात में किस प्रकार व्यक्ति को सीपीआर देते हुए निकटतम चिकित्सा केंद्र पहुंचाया जा सकता है और जान बचाई जा सकती है विस्फोट से लगी चोट, गोली लगने के संबंध में भी क्या-क्या कार्य किए जाने चाहिए, रोड दुर्घटना होने पर या अन्य कोई दुर्घटना होने पर शरीर में हड्डी टूटने के बाद व्यक्ति को किस प्रकार एक स्थान से दूसरे स्थान पर लाया जाए, जिससे उस व्यक्ति को कम से कम तकलीफ हो जैसे कई अनेक बिंदुओं पर विशेषज्ञों द्वारा “डायल 112” के कर्मचारियों को प्राथमिक चिकित्सा प्रशिक्षण दिया गया। ताकि आपातकालीन स्थितियों में कर्मचारियों द्वारा व्यक्ति के हालत को देखकर उसे सही प्राथमिक उपचार दिया जा सके। 
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772