ब्रेकिंग
बिलासपुर: जूनी लाइन स्थित सुरुचि रेस्टोरेंट के पास रहने वाले कृष्ण कुमार वर्मा के बड़े बेटे श्रीकांत ... बिलासपुर में UP65/ EC- 4488 नँबर की कार से जब्त हुए 5 लाख नकद बिलासपुर: सदभाव पत्रकार संघ छत्तीसगढ़ की बैठक में संगठन की मजबूती पर चर्चा बिलासपुर: शैलेश, अर्जुन, रामशरण और विजय ने कहा- पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल के कार्यकाल में भाजपा के पू... बिलासपुर: मुफ्त वैक्सीन के लिए अब केवल 7 दिन शेष, कलेक्टर ने की अपील, सभी लगवा लें टीका बिलासपुर: मोपका और चिल्हाटी के 845/1/न, 845/1/झ, 1859/1, 224/380, 1053/1 खसरा नँबरों की शासकीय भूमि ... बिलासपुर: क्या अमर अग्रवाल की बातों को गंभीरता से लेंगे कलेक्टर सौरभ कुमार? नेहरू चौक में लगी थी राज... बिलासपुर: इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के द्वारा नर्सिंग और गैर नर्सिंग स्टाफ़ के व्यक्तित्व विकास एवं कम्... बिलासपुर: गौरांग बोबड़े हत्याकांड के आरोपी रहे किशुंक अग्रवाल के पास से जब्त हुए 20 लाख बिलासपुर: बिल्हा क्षेत्र से गायब हुई नाबालिग लड़की तेलंगाना में मिली

पुलिस अमर के इशारे में मुझ पर कर रही है कार्रवाई :छाबरिया

बिलासपुर। नामांकन फॉर्म खरीदने जिला निर्वाचन कार्यालय पहुंचे भाजपा नेता पूरन छाबरिया को पुलिस ने पुराने मामले का हवाला देते हुए गिरफ्तार कर लिया है। पूरन को पुलिस ने ना केवल गिरफ्तार किया अपितु कलेक्ट्रेट परिसर में ही डंडे से पीटकर अपने साथ ले गए। गिरफ्तारी होने के बाद पुलिस द्वारा ले जाते समय मीडिया से बातचीत में पूरन ने गिरफ्तारी को शहर विधायक अमर अग्रवाल के इशारे पर पुलिस द्वारा करने का आरोप लगाया है। यहां सबसे बड़ा सवाल यह उठता है कि पुलिस द्वारा पूरन छाबरिया को अभी ही क्यों गिरफ्तार किया गया ? यह स्पष्ट करता है कि पुलिस समर्थन किसके साथ है। पते की बात यह है कि जब पूरन छाबरिया पर पहले से ही अपराध पंजीबद्ध थे तो गिरफ्तारी अभी क्यों?
बताते चलें कि लंबे समय से बिलासपुर के विधायक रहे भाजपा के कद्दावर नेता अमर अग्रवाल के खिलाफ पूरन छाबरिया ने बिलासपुर विधानसभा से टिकट की मांग की है। इसके साथ ही वे लगातार अमर अग्रवाल के विरोध में बयानबाजी करते रहे हैं। उन्होंने मंत्री अमर अग्रवाल से उन्हें व अपने परिवार को जान- माल का खतरा होने की बात कहकर भी जिला निर्वाचन अधिकारी व पुलिस में शिकायत भी दर्ज करवाई थी। इस दौरान पूरन छाबरिया ने यह भी बताया कि मंत्री के इशारे पर ही उनके छोटे भाई के ढाबे में पुलिस विभाग और आबकारी विभाग द्वारा कार्यवाही की गई थी। जबकि यहां कोई भी आपत्तिजनक सामान बरामद नहीं किया गया। उनका आरोप है कि मंत्री अमर अग्रवाल के खिलाफ टिकट मांगने पर ही उनके साथ ऐसा बर्ताव किया जा रहा है।
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772