ब्रेकिंग
बिलासपुर: जूनी लाइन स्थित सुरुचि रेस्टोरेंट के पास रहने वाले कृष्ण कुमार वर्मा के बड़े बेटे श्रीकांत ... बिलासपुर में UP65/ EC- 4488 नँबर की कार से जब्त हुए 5 लाख नकद बिलासपुर: सदभाव पत्रकार संघ छत्तीसगढ़ की बैठक में संगठन की मजबूती पर चर्चा बिलासपुर: शैलेश, अर्जुन, रामशरण और विजय ने कहा- पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल के कार्यकाल में भाजपा के पू... बिलासपुर: मुफ्त वैक्सीन के लिए अब केवल 7 दिन शेष, कलेक्टर ने की अपील, सभी लगवा लें टीका बिलासपुर: मोपका और चिल्हाटी के 845/1/न, 845/1/झ, 1859/1, 224/380, 1053/1 खसरा नँबरों की शासकीय भूमि ... बिलासपुर: क्या अमर अग्रवाल की बातों को गंभीरता से लेंगे कलेक्टर सौरभ कुमार? नेहरू चौक में लगी थी राज... बिलासपुर: इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के द्वारा नर्सिंग और गैर नर्सिंग स्टाफ़ के व्यक्तित्व विकास एवं कम्... बिलासपुर: गौरांग बोबड़े हत्याकांड के आरोपी रहे किशुंक अग्रवाल के पास से जब्त हुए 20 लाख बिलासपुर: बिल्हा क्षेत्र से गायब हुई नाबालिग लड़की तेलंगाना में मिली

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष कौशिक का कांग्रेस पर कटाक्ष, कहा-अस्तित्व को बचाने की लड़ाई में जूझ रही है

बिलासपुर। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष धरमलाल कौशिक ने कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा है कि कांग्रेस चौथी बार पराजय की ओर बढ़ रही है। वह अपने अस्तित्व को बचाने की लड़ाई में जूझ रही है। कांग्रेस अंतर्कलह से गुजर रही है, यही कारण है कि अगस्त माह में कांग्रेस प्रत्याशियों की घोषणा करने वाला कांग्रेस नेतृत्व अब तक सूची जारी नहीं कर पाया है। दंतेवाड़ा में स्व. महेन्द्र कर्मा की पत्नी देवती कर्मा और बेटे छबिन्द्र कर्मा, दोनों ही चुनाव लड़ने  पर अड़े हुए हैं। नामांकन पत्र तक खरीदकर प्रदेश कांग्रेस के सामने धर्मसंकट खड़ा कर दिया है। भानुप्रतापपुर में कांग्रेस जिला पंचायत सदस्य वीरेश ठाकुर ने भी बगावत का बिगुल फूंक दिया है।कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल तो दंतेवाड़ा जाकर छबिन्द्र कर्मा को मनाने की नाकाम कोशिश भी कर चुके हैं,जो प्रदेश नेतृत्व की कमजोरी बताता है।
आगे प्रदेशाध्यक्ष कौशिक कहते हैं, सेक्स सीडी और प्रदेश प्रभारी पुनिया के खिलाफ सौदेबाजी के स्टिंग आपरेशन की साजिशों के आरोपों से जूझ रहे पीसीसी चीफ बघेल लाचार नजर आ रहे हैं। कार्यकर्ता खुलेआम अवहेलना पर उतर आए हैं। ऐसे नेतृत्व में कांग्रेस की जीत का ख्वाब देख रहे, पार्टी नेताओं की राजनीतिक हैसियत का अंदाज लगाना आसान है। अभी बस्तर तो कांग्रेस की दुरावस्था का एक ट्रेलर है। जब पूरे प्रदेश में कांग्रेस चुनाव मैदान में उतरेगी, तब जो घमासान और अंतर्कलह मचेगा, समूची कांग्रेस उससे उबर ही नहीं पाएगी। बता दें कि कांग्रेस ने प्रथम चरण के चुनाव के लिए अपने प्रत्याशियों की घोषणा 12 विधानसभा सीटों में कर दी है।
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772