ब्रेकिंग
बिलासपुर: जूनी लाइन स्थित सुरुचि रेस्टोरेंट के पास रहने वाले कृष्ण कुमार वर्मा के बड़े बेटे श्रीकांत ... बिलासपुर में UP65/ EC- 4488 नँबर की कार से जब्त हुए 5 लाख नकद बिलासपुर: सदभाव पत्रकार संघ छत्तीसगढ़ की बैठक में संगठन की मजबूती पर चर्चा बिलासपुर: शैलेश, अर्जुन, रामशरण और विजय ने कहा- पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल के कार्यकाल में भाजपा के पू... बिलासपुर: मुफ्त वैक्सीन के लिए अब केवल 7 दिन शेष, कलेक्टर ने की अपील, सभी लगवा लें टीका बिलासपुर: मोपका और चिल्हाटी के 845/1/न, 845/1/झ, 1859/1, 224/380, 1053/1 खसरा नँबरों की शासकीय भूमि ... बिलासपुर: क्या अमर अग्रवाल की बातों को गंभीरता से लेंगे कलेक्टर सौरभ कुमार? नेहरू चौक में लगी थी राज... बिलासपुर: इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के द्वारा नर्सिंग और गैर नर्सिंग स्टाफ़ के व्यक्तित्व विकास एवं कम्... बिलासपुर: गौरांग बोबड़े हत्याकांड के आरोपी रहे किशुंक अग्रवाल के पास से जब्त हुए 20 लाख बिलासपुर: बिल्हा क्षेत्र से गायब हुई नाबालिग लड़की तेलंगाना में मिली

भाजपा नेता राय ने महामंत्री कुमावत पर लगाया दुर्व्यवहार का आरोप

बिलासपुर। बिलासपुर जिले की 7 विधानसभा सीटों पर भीतरी सियासत पूरे चरम पर है। भाजपा के नेता मनीष राय रविवार को अपना आवेदन बायोडाटा लेकर पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के सामने बिलासपुर प्रत्याशी बनने का दावा ठोकने जब भाजपा कार्यालय पहुंचे, यहां उन्होंने रमेश बैस को अपना आवेदन सौंपा, बैस ने उनका आवेदन स्वीकार लिया, इसके बाद वे वापस लौटे फिर कुछ देर बाद भीमसेन अग्रवाल से पूछकर मनीष पुनः कार्यालय आ गए। डॉ. मनीष राय के कहे अनुसार इसी समय भाजपा जिला महामंत्री रामदेव कुमावत ने उन्हें बाहर जाने को कहा, मनीष ने उन्हें भाजपा कार्यकर्ता होने की बात कहकर उपस्थिति को अपना फर्ज बताया। 
इस पर महामंत्री कुमावत ने उनसे कहा कि वे उन्हें कार्यालय में नहीं देखना चाहते, इसलिए वह यहां से चले जाएं। मनीष ने बताया की उनके द्वारा कार्यालय से जाने पर मना करने पर दस्तगीर भाभा लाला और कुमावत ने उनसे दुर्व्यवहार किया। हालांकि ये स्पष्ट नहीं है कि यह वाक्य कैसे और क्यूं घटित हुआ। इसके पश्चात डॉ मनीष राय वहां से वापस अपने कार्यालय आ गए और यहां प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस संदर्भ में अपनी बात रखी। मनीष ने बताया कि उन्होंने इस मामले को आरएसएस के वरिष्ठ नेताओं और भारतीय जनता पार्टी के जिम्मेदारों तक पहुंचा दिया है। और उनसे इस मामले में कार्यवाही की मांग की है यहां डॉ. राय ने इस मामले में अभद्र व्यवहार करने वालों के खिलाफ निलंबन की मांग कर दी है। और कहा है कि एक सप्ताह के भीतर कार्रवाई नही होने पर वे आमरण अनशन पर बैठेंगे। 
बता दें, रविवार को प्रदेश भाजपा निर्देशानुसार पर्यवेक्षकों की टीम बिलासपुर जिले की 7 विधानसभा सीटों पर प्रत्याशी चयन की प्रक्रिया एवं दावेदारों की संख्या पता करने आई थी। इनमें 3 सदस्य समिति में प्रमुख सांसद रमेश बैस रायपुर, वरिष्ठ भाजपा नेता भीमसेन अग्रवाल, योगेश्वर साहू, भाजपा कार्यालय बिलासपुर पहुंचे थे। यहां जब बिलासपुर विधानसभा मंडल अध्यक्षों की बैठक समाप्त हुई। इसके बाद बिलासपुर विधानसभा क्रमांक-30 से आरएसएस पदाधिकारी और भाजपा नेता डॉ.मनीष राय ने सांसद रमेश बैस को अपना आवेदन दिया। जिसे बैस ने स्वीकार किया। इसके पश्चात राय बाहर चले गए उसे कुछ देर बाद फिर जब वापस कार्यालय आए तब यह विवाद हुआ।
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772