भू-राजस्व संहिता संशोधन विधेयक की वापसी समाज के एकजूटता की बड़ी जीत: जोगी….

रायपुर / राज्य सरकार द्वारा भू-राजस्व संहिता संशोधन विधेयक , मंत्रीपरिषद की बैठक बुलाकर वापस किये जाने पर पूर्व मुख्यमंत्री व जनता कांग्रेस छत्तीसगढ के संस्थापक अध्यक्ष अजीत जोगी ने प्रतिक्रिया व्यक्त करते  हुए कहा कि ये आदिवासी समाज की एकजूटता एवं लगातार किये जा रहे विरोध का परिणाम है । इस संशोधन को डाॅ. रमन सिंह की सरकार विधानसभा में अपने संख्याबल के  आधार पर जबरिया पास करवाना इस बात की ओर इंगित करता है कि डाॅ. रमन सिंह की सरकार प्रदेश से आदिवासियों  को अपदस्थ  करना चाहती है । एक ओर सरकार का कानून बनाकर अपने चहेते उद्योगपतियों  को आदिवासियों  को जमीन देकर उन्हे बेदखल कर छत्तीसगढ़  से बाहर निकालना चाहती  है , वहीं  बस्तर में फर्जी नक्सल मुठभेड़ करवाकर अनेक आदिवासियों को मरवा रही है।

पूर्व मुख्यमंत्री ने  कहा कि कहा कि संशोधन विधेयक को विधानसभा में संख्याबल के आधार पर पास करने के बाद इस पर सबसे पहले आदिवासी समाज के बीच जनता कांग्रेस छत्तीसगढ ने निर्णायक विरोध  कर इसे वापस लेने मजबुर होना पड़ा  । भविष्य में भी डाॅ. रमन सिहं सरकार अपने अपदस्थ होने के अतिंम वर्ष भी समाज के खिलाफ किसी भी प्रकार का कानून लायेगी तब भी उनके नेतृत्व में जनता कांग्रेस छत्तीसगढ इसी तरह  निर्णायक लड़ाई लड़ेगी ।

 

ब्रेकिंग
बिलासपुर: मुख्यमंत्री ने किया संभाग स्तरीय सी-मार्ट का लोकार्पण बिलासपुर: कोतवाली सीएसपी पूजा कुमार को सौंपा गया लाइन अटैच आरक्षकों की जांच का जिम्मा बिलासपुर: छत्तीसगढ़ से दो हजार किसान जाएंगे दिल्ली बिलासपुर: कमीशन वसूल करवाने वाला शख्स विक्रम कौन...? बिलासपुर: प्रदेश का सबसे बड़ा पत्रकार संघ "सदभाव पत्रकार संघ छत्तीसगढ़" के प्रतिनिधि मंडल से दूसरी बार... बिलासपुर: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, प्रभारी मंत्री जय सिंह अग्रवाल, कमिश्नर संजय अलंग, सांसद अरुण साव,... बिलासपुर: ताइक्वांडो नेशनल रैफरी सेमिनार एवँ Award का हुआ समापन बिलासपुर: कौन है यह विक्रम..? -अंकित बिलासपुर: भाजयुमो ने किया बिजली ऑफिस का घेराव बिलासपुर: शहीद की माता को पेंशन दिलाने महिला आयोग मुख्य सचिव और डीजीपी को लिखेगा पत्र
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772