ब्रेकिंग
तखतपुर क्षेत्र की तीन नाबालिग छात्राओं को दो युवकों ने झांसे में लिया और अरब सागर ले गए, जानिए उसके ... CG: स्वामी आत्मानंद शासकीय इंग्लिश स्कूल की छात्रा रितिका ध्रुव का इसरो में चयन बिलासपुर: नगर निगम कमिश्नर अजय कुमार त्रिपाठी को मिली भिलाई-चरौदा की कमान, SDM तुलाराम भारद्वाज को भ... बिलासपुर: जिला पंचायत सभापति अंकित गौरहा को प्रदेश युवा संगठन चुनाव में मिली नई जिम्मेदारी बिलासपुर: मुख्यमंत्री जी! क्लेक्टर सौरभ कुमार को इस सड़क में हुआ भ्रष्टाचार नहीं आ रहा नजर. प्रियंका ... बिलासपुर: टिकरापारा मन्नू चौक निवासी रिशु घोरे को पुलिस ने चाकू के साथ किया गिरफ्तार बिलासपुर: पावर लिफ्टर निसार अहमद एवं अख्तर खान रविंद्र सिंह के हाथों हुए सम्मानित बिलासपुर: भाजपा पार्षद दल ने पुलिस ग्राउण्ड में जिला प्रशासन से रावण दहन की मांगी अनुमति बिलासपुर तहसीलदार अतुल वैष्णव का सक्ति और ऋचा सिंह का रायगढ़ हुआ ट्रांसफर बिलासपुर: आरोपी अमित भारते, जितेंद्र मिश्रा और संदीप मिश्रा को नहीं पकड़ पा रही है SSP पारूल माथुर की...

जोगी कांग्रेस के एक कार्यकर्ता ने पत्रकार को दी नस काटने की धमकी

बिलासपुर। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ और बहुजन समाज पार्टी की कल की आमसभा पूरे शहर में चर्चा का विषय  बनी हुई है। VIP गेट के बाउंड्री वाल का कुछ हिस्सा ढहाने का वीडियो एक पत्रकार द्वारा अपने वेब पोर्टल में लगाया, तो जोगी पार्टी के एक समर्थक ने पत्रकार को फोन पर अपनी नस काट देने की बात कही। उसने पत्रकार से कहा “मेरा नस काटने का लाइव वीडियो बनाकर दूंगा उसे वायरल करना” इसके बाद पत्रकार ने वीडियो डिलीट कर दिया। इससे यह समझ मे आता है कि अब पत्रकारों पर इमोशनल ब्लैकमेलिंग का  इस तरह का पैतरा भी शुरू कर दिया गया है।
जकाँछ और बसपा की आमसभा का आयोजन खेल परिसर में कल होना है। सुरक्षा का हवाला देकर परिसर की वर्षों पुरानी दीवार पर बुलडोजर चलवा दिया गया , इसी वक़्त का वीडियो एक पत्रकार ने अपने कैमरा में रिकॉर्ड कर अपने न्यूज़ पोर्टल में लगा दिया । यह देखकर जोगी पार्टी के एक जुझारू कार्यकर्ता  ने पत्रकार को फोन संपर्क किया और कहा कि  वह अपने हाथ की नस काट लेगा जिसका लाइव वीडियो उसे भेज देगा। इमोशनल ब्लैकमेलिंग से कदम पीछे हटा कर पत्रकार ने वीडियो डिलीट कर दिया। यहां यह विचार योग्य है कि इस तरह का पैतरा भी शुरू हो गया है।
 यह बात समझ से परे है कि छत्तीसगढ़ में जितने भी राजनैतिक आयोजन हो रहे है सब खेल मैदान में ही होते हैं,मैदानों को चारागाह बना दिया गया है,खिलाड़ियों के जीवन के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है,यह प्रशासन की बहुत ही शर्मनाक स्थिति है/प्रशासन में उच्च पदों में बैठे हुए अधिकारी जनता के पैसे का दुरूपयोग कर रहे हैं.इस सब मामले में खेल की भी भूमिका संदिग्घ जान पड़ती है /
 
 चुनावी आचार संहिता की धज्जियां उड़ाई जा रही है,यह मामला निर्वाचन आयोग के संज्ञान में भी है/न्यूज़ हब इनसाइट ने जब कुछ खेल महासंघ के लोगों से बात की ,उन्होंने कहा कि यह एक गंभीर मामला है और इस मामले को निर्वाचन आयोग को भेज दिया जाएगा एवं अधिकारियों के खिलाफ भी शिकायत की जाएगी/इस घटना से बिलासपुर के खिलाड़ियों में भी काफी गुस्सा देखने को मिल रहा है/
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772