ब्रेकिंग
बिलासपुर: पावर लिफ्टर निसार अहमद एवं अख्तर खान रविंद्र सिंह के हाथों हुए सम्मानित बिलासपुर: भाजपा पार्षद दल ने पुलिस ग्राउण्ड में जिला प्रशासन से रावण दहन की मांगी अनुमति बिलासपुर तहसीलदार अतुल वैष्णव का सक्ति और ऋचा सिंह का रायगढ़ हुआ ट्रांसफर बिलासपुर: आरोपी अमित भारते, जितेंद्र मिश्रा और संदीप मिश्रा को नहीं पकड़ पा रही है SSP पारूल माथुर की... बिलासपुर: कलेक्टर सौरभ कुमार ने सरकार हित में सरकारी जमीन बचाने वाले अधिवक्ता प्रकाश सिंह के साथ किय... बिलासपुर: उस्लापुर के रॉयल पार्क में नजर आएगी गरबा की धूम, थिरकने के लिए तैयार हैं शहरवासी बिलासपुर: कार्य की धीमी गति पर कंपनी के साथ जिम्मेदार अधिकारियों पर भी की जानी चाहिए थी कार्यवाही, स... बिलासपुर: महादेव और रेड्डी अन्ना बुक के सटोरियों पर पुलिस की बड़ी कार्यवाही बिलासपुर: जूनी लाइन स्थित सुरुचि रेस्टोरेंट के पास रहने वाले कृष्ण कुमार वर्मा के बड़े बेटे श्रीकांत ... बिलासपुर में UP65/ EC- 4488 नँबर की कार से जब्त हुए 5 लाख नकद

प्रदेश को कल मिलेगी दो बड़ी रेल परियोजनाओं की सौगात

   रायपुर/ मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह द्वारा घोषित अटल दृष्टि पत्र और नवा छत्तीसगढ़ 2025 के संकल्पों को साकार करने के लिए कल छह अक्टूबर को प्रदेशवासियों को दो बड़ी महत्वपूर्ण रेल मार्ग परियोजनाओं की सौगात मिलने जा रही है। दोनों परियोजनाओं से प्रदेश में लगभग 362 किलोमीटर के नये रेल नेटवर्क का विस्तार होगा। इन दोनों परियोजनाओं की अनुमानित लागत छह हजार 234 करोड़ रूपए की है।
    मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और रेल मंत्री पीयूष गोयल जिला मुख्यालय कवर्धा में दोपहर 12 बजे आयोजित समारोह में कटघोरा-मुंगेली-कवर्धा-डोंगरगढ़ के लगभग 295 किलोमीटर रेलमार्ग निर्माण कार्य का भूमिपूजन और शिलान्यास करेंगे। इस परियोजना की कुल लागत लगभग पांच हजार 950 करोड़ 54 लाख रूपए है। इस कार्यक्रम के बाद मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह अपरान्ह तीन बजे धमतरी में केन्द्री-धमतरी और अभनपुर-राजिम कुल 67 किलोमीटर नेरोगेज रेल लाईन को ब्रॉडगेज में परिवर्तित करने के लिए लगभग 544 करोड़ रूपए की रेल परियोजना का भूमिपूजन और शिलान्यास करेंगे।
    

दोनों कार्यक्रमों में केन्द्र और राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं के तहत हितग्राहियों को सामग्री और चेक आदि का भी वितरण किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि कटघोरा से मुंगेली और कवर्धा होते हुए डोंगरगढ़ तक लगभग 295 किलोमीटर की रेल परियोजना का निर्माण लगभग 53 महीने में पूर्ण करने का लक्ष्य है। इस रेलमार्ग पर 25 स्टेशनों का निर्माण किया जाएगा। इस रेलमार्ग पर प्रदेश के पांच जिलों – कोरबा, बिलासपुर, मुंगेली, कवर्धा और राजनांदगांव के लोगों को यात्री ट्रेन सुविधा का लाभ मिलेगा। यात्रियों के लिए इस मार्ग पर 25 रेल्वे स्टेशनों का भी निर्माण किया जाएगा। कटघोरा, रतनपुर, मुंगेली, कवर्धा और खैरागढ़ में भी रेल्वे स्टेशन बनाए जाएंगे।
    

अधिकारियोें ने बताया कि परियोजना के सर्वेक्षण का कार्य पूर्ण हो चुका है। भू-अर्जन का कार्य प्रगति पर है। इस रेल परियोजना में तीन शेयर धारक है, जिसमें छत्तीसगढ़ रेल्वे कार्पोरेशन लिमिटेड सी.आर.सी.एल. की 48 प्रतिशत, महाजेंको की 26 प्रतिशत और ए.सी.बी.आई.एल. की 26 प्रतिशत हिस्सेदारी है। शेयरधारकों द्वारा समझौते पर 24 सितम्बर 2018 को हस्ताक्षर किए गए थे और केन्द्रीय कैबिनेट द्वारा इस परियोजना को 26 सितम्बर 2018 को स्वीकृति प्रदान की गई थी। राज्य में रेल नेटवर्क के विकास और विस्तार के लिए छत्तीसगढ़ सरकार की 51 प्रतिशत और रेल मंत्रालय की 49 प्रतिशत इक्विटी के साथ विगत सात दिसम्बर 2016 को छत्तीसगढ़ रेल्वे कार्पोरेशन लिमिटेड (सी.आर.सी.एल.) नामक  संयुक्त उपक्रम कंपनी का गठन किया गया है।    
    

अधिकारियों ने बताया कि कवर्धा में आयोजित शिलान्यास समारोह में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस, छत्तीसगढ़ सरकार के वाणिज्य और उद्योग तथा नगरीय प्रशासन मंत्री अमर अग्रवाल, खाद्य और नागरिक आपूर्ति मंत्री  पुन्नूलाल मोहले, वन और विधि मंत्री महेश गागड़ा, राजनांदगांव के लोकसभा सांसद  अभिषेक सिंह, कोरबा के लोकसभा सांसद डॉ. बंशीलाल महतो, बिलासपुर के लोकसभा सांसद लखनलाल साहू, संसदीय सचिव और पंडरिया के विधायक मोतीराम चन्द्रवंशी और कवर्धा के विधायक अशोक साहू विशेष अतिथि के रूप में शामिल होंगे।

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772