ब्रेकिंग
बिलासपुर: जिला पंचायत सभापति अंकित गौरहा को प्रदेश युवा संगठन चुनाव में मिली नई जिम्मेदारी बिलासपुर: मुख्यमंत्री जी! क्लेक्टर सौरभ कुमार को इस सड़क में हुआ भ्रष्टाचार नहीं आ रहा नजर. प्रियंका ... बिलासपुर: टिकरापारा मन्नू चौक निवासी रिशु घोरे को पुलिस ने चाकू के साथ किया गिरफ्तार बिलासपुर: पावर लिफ्टर निसार अहमद एवं अख्तर खान रविंद्र सिंह के हाथों हुए सम्मानित बिलासपुर: भाजपा पार्षद दल ने पुलिस ग्राउण्ड में जिला प्रशासन से रावण दहन की मांगी अनुमति बिलासपुर तहसीलदार अतुल वैष्णव का सक्ति और ऋचा सिंह का रायगढ़ हुआ ट्रांसफर बिलासपुर: आरोपी अमित भारते, जितेंद्र मिश्रा और संदीप मिश्रा को नहीं पकड़ पा रही है SSP पारूल माथुर की... बिलासपुर: कलेक्टर सौरभ कुमार ने सरकार हित में सरकारी जमीन बचाने वाले अधिवक्ता प्रकाश सिंह के साथ किय... बिलासपुर: उस्लापुर के रॉयल पार्क में नजर आएगी गरबा की धूम, थिरकने के लिए तैयार हैं शहरवासी बिलासपुर: कार्य की धीमी गति पर कंपनी के साथ जिम्मेदार अधिकारियों पर भी की जानी चाहिए थी कार्यवाही, स...

सीडी :गला काट नहीं अब नाड़ा काट स्पर्धा

बिलासपुर(शशांक दुबे )/छत्तीसगढ़ राज्य के तीनों राजनीतिक दल सीडी और स्टिंग से परेशान है, राज्य में आम जनता के महत्वपूर्ण मुद्दे छूट रहे हैं और नेता का नाड़ा और कच्छा पर चर्चा ज्यादा हो रही है। जैसे-जैसे चुनाव की तिथि पास आएगी वैसे-वैसे मुरारका और फिरोज की संख्या बढ़ेगी /मूल विषय गौण होंगे।
सीडी सीबीआई के बाद भाजपा के निष्कासित नेता मुरारका ने 9-10 भाजपा नेता की सीडी का दावा करके सनसनी फैलाई उन्होंने यह भी कहा है कि बघेल का सीडी से कोई लेना -देना नहीं। उन्होंने भाजपा के एक नेता को भुट्टा चोर तक कहा, इसके 5 दिन बाद अब फिरोज़-पप्पू की सीडी आई और मुख्य पात्र पुनिया हैं। स्टिंग के अनुसार यह कांग्रेसी नेताओं की आपसी रंजिश का परिणाम है।
प्रतिस्पर्धा गला काट से नीचे आई और नाड़ा काट हो गई। राज्य में इस बीमारी के जनक कौन हैं सब जानते हैं, इस राज्य में हर राजनीतिक दल के नेता नेत्री की सीडी आई जो किसी को पछाड़कर आगे बढ़ा। अभी ऑडियो-पप्पू का है जो बोल रहा है वो नाम का ही फरिश्ता है, दूसरी ओर से हूँ, हां की ही आवाज है। मतलब दूसरा पक्ष फरिश्ता की नियत से वाकिफ है। 
सीडी का बिलासपुर कनेक्शन 
हलकों में चर्चा है कि सीडी निर्माण के पीछे बिलासपुर के एक नेता का ही फाइनेंस है। असल में गर्दन तक उसी के हाथ पहुंचते हैं जिसके हाथ कंधे पर हो। ये वही नेता हैं जिन पर कांग्रेस बिलासपुर में राहुल का कार्यक्रम क्रय करने का आरोप है। पर यह नेता जोकर बन गए सीडी बनवाई थी अपने काम के लिए और लाभ हो गया किसी और का।
अभी कांग्रेस इस खेल से डरने वाली नहीं। सीडी, पेनड्राइव कई हैं, कई के पास हैं, जब जिसकी निकालने की जरूरत हो निकलेगी रुकने का दाम अलग चलाने का दाम अलग  /असल मुद्दे जाए भाड़ में। 
इस मुद्दे पर जब फिरोज से पूछा गया तो वह बोला “मैं किसी को भाड़े का टट्टू नहीं”।
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9977679772